How sweet ! अंदाजा लगाइए रानी मुखर्जी की बेटी का पहला शब्द!

lead image

फिलहाल अदिरा सिर्फ अपनी मां से क्यूट एक्सेप्रेशन से बात कर लेती हैं और थोड़े बहुत शब्द भी बोल लेती है। अदिरा का पहला शब्द भी अपनी मम्मी के लिए था।

किसी भी मां के लिए उसके बच्चे के मुंह से पहला शब्द सुनना अनमोल होता है। एक ऐसा क्षण जिसका आप लंबे समय से इंतजार करते हैं कि वो अपने छोटे से मुंह से कुछ बोले और फिर आपकी खुशी की कोई सीमा नहीं रहती।

नई मॉम रानी मुखर्जी के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ जब उनकी बेटी ने बातें करना शुरू की। फिलहाल अदिरा सिर्फ अपनी मां से क्यूट एक्सेप्रेशन से बात कर लेती हैं और थोड़े बहुत शब्द भी बोल लेती है। अदिरा का पहला शब्द भी अपनी मम्मी के लिए था।
src=https://www.theindusparent.com/wp content/uploads/2017/03/adira chopra feature.jpg How sweet ! अंदाजा लगाइए रानी मुखर्जी की बेटी का पहला शब्द!

अदिरा का पहला शब्द था मामा

रानी मुखर्जी ने एक लीडिंग अखबार से बातचीत के दौरान कहा कि वो सारी बातें अपनी एक्सप्रेशन से कर लेती है और कुछ कुछ शब्द भी बोल लेती है। उसका पहला शब्दा मामा था। वो पापा, नाना tortoise, turtle भी बोल लेती है।

जब रानी मुखर्जी से पूछा गया कि क्या वो अदिरा को लेकर हिचकी के सेट पर आएंगी इसपर उनका जवाब था कि  अदिरा को उसकी कंफर्ट जोन से नहीं निकालना चाहती और वो सबसे ज्यादा अपने घर में खुश रहती है।

उन्होंने साथ ही ये भी कहा कि अगर आप बच्चे को ऐसी जगह ले जाते हो जहां वो सहज नहीं है तो वो चिड़चिड़े हो जाते हैं। खासकर जब बच्चे शब्दों में कुछ बयां नहीं कर पाते हैं। जब वो बोलने लगेगी तो मुझे चीजें समझा पाएगी।

रानी मुखर्जी की अदिरा को लेकर बातें ये दिखाती हैं कि वो अपनी बेटी को लेकर ओवरप्रोटेक्टिव हैं जो शुरूआत में कोई भी मां होती है। पहल भी वो बोल चुकी हैं कि उन्हें अदिरा की तस्वीरें शेयर करना पसंद नहीं है।

उन्होंने कहा था कि मैं सोशल मीडिया पर नहीं हूं। मैं अपनी बेटी की तस्वीर सोशल मीडिया पर नहीं शेयर करती क्योंकि मेरे पति काफी प्राइवेसी चाहने वाले शख्स हैं और मैं उनके इस बात की इज्जत करती हूं। मुझे भी अपने फैन्स को ना कहना पसंद नहीं है खासकर अगर वो तस्वीरें शेयर करने बोलेंगे। साथ ही रानी ने ये भी कहा था कि आदित्य चोपड़ा फिलहाल पिता बनना सीख रहे हैं।


उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा था कि सुबह में वो अदिरा के साथ समय बिताते हैं। उसके साथ सुबह का नाश्ता करते हैं,उसे लेकर घुमने जाते हैं। मैं चाहती हूं कि वो ये सब करें ताकि बॉन्डिंग अच्छी हो। वो अक्सर मुझे चिढ़ाते भी रहते हैं कि अदिरा बड़ी होगी तो वो मेरी बेबी और मेरी गर्ल होगी।अभी तुम इंज्वॉय करो।

अपने बेबी को बोलना सिखाइये

ये किसी भी माता-पिता के लिए एक्साइटिंग होता है कि वो अपने बेबी को आखिरकार टूटे फूटे शब्दों की जगह पूरे पूरे शब्दों को बोलते देखें। हो सकता है आपका बच्चा साफ साफ बोलने में समय ले इसलिए इन बातों पर ध्यान दीजिए।

  1. उनसे बात करें : उन्हें हर रोज कुछ नई चीजें दिखाकर नए नए शब्द सिखाने की कोशिश कीजिए। अपने बच्चों से भी वैसे ही कीजिए जैसे आप बड़ो से करते हैं ताकि उसे पता हो कि क्या सही है और क्या गलत।
  2. सिंपल तरीके से करें बात : अगर संभव हो तो बिल्कुल सिंपल शब्दों का इस्तेमाल करें ताकि वो आसानी से समझे की हम क्या बोल रहे हैं।
  3. अभ्यास और दोहराव कराएं : कई बार बच्चे बनाना (Banana) को नाना बोल देते हैं और पानी को आनी। इस तरह के केस में वो जब बोलें तो उन्हें सही करें और उन्हें बोलने भी बोलें। ताकि वो सीख पाएं।

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें | 

Source: theindusparent