मध्यप्रदेश में अनचाहे बच्चों को बेचे जाने वाले "सीक्रेट बेबी फार्म" का पता चला

lead image

ये शायद अब तक का सबसे shocking न्यूज़ है आप अभी पढ़ रहे हैं । मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले में पुलिस ने एक ऐसे सीक्रेट बेबी फार्म का पता लगाया है जो एक निजी अस्पताल के मदद से चल रहा था । इस फार्म का मुख्य उद्देश्य अनचाहे बच्चों को 1-1 लाख रूपये में बेचना था।

यहाँ मौजूद बच्चे ज्यादातर अवैध रिश्तों के वजह से, रेप के कारण या बिन ब्याही माँ के होते हैं । पलश नाम का ये अस्पताल ग्वालियर के मुरार क्षेत्र में है जहाँ पुलिस के छापे के दौरान 2 बच्चों को बचाया गया। टाइम्स ऑफ़ इंडिया को बताते हुए क्राइम ब्रांच के एसपी प्रतर्क कुमार ने बताया "3 और बच्चों को उत्तरप्रदेश और छत्तीसगढ़ के उन कपल्स को बेच दिया गया है जिनके कोई बच्चे नहीं थे "
अभी तक 5 लोगों पर कार्यवाही की जा रही है जिनमें हॉस्पिटल के डायरेक्टर टी.के. गुप्ता, मेनेजर और वो पेरेंट्स हैं जिन्होंने सेक्शन 370, 371 और 373 के तहत बच्चों को खरीदा।पुलिस ने मेनेजर अरुण भदोरिया को भी गिरफ्तार किया है "पूछताछ के दौरान वो 2 बच्चों का पता नहीं दे पाये जिन्हें यहाँ से ले जाया गया है।" -एसपी"यहाँ लड़कियों की डिलीवरी करवाने के लिए पूरा का पूरा एक सेट अप बना हुआ था । इनके पास एजेंट थे जो चम्बल से से उन लड़कियों को उठाते थे जो अनचाहे गर्भ से होती थीं । " -एसपी
"जब किसी के पेरेंट्स प्रेगनेंसी को टर्मिनेट करने के लिए कहते तो डॉक्टर उन्हें सुरक्षित और सीक्रेट डिलीवरी का आश्वासन देते थे। जब बच्चे की डिलीवरी हो जाती थी और उसकी माँ को डिस्चार्ज लार दिया जाता था तब हॉस्पिटल प्रशासन ऐसे कपल की तलाश करना शुरू कर देता था जिनकी कोई संतान नहीं है ।" - एक जांच अधिकारी
इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें  

Hindi.indusparent.com द्वारा ऐसी ही और जानकारी और अपडेट्स के लिए  हमें  Facebook पर  Like करें