SHOCKING... इंजीनियरिंग के छात्र ने की मुंबई के आलीशान होटल में आत्महत्या...फेसबुक पर की लाइव स्ट्रीमिंग

lead image

बैंगलोर के 24 साल के अरूण भारद्वाज ने ताज लैंड एन्ड होटल के 19वें मंजिल पर पर आत्महत्या की घटना को अंजाम दिया

हम लोग सोशल मीडिया के दौर में रह रहे हैं जहां सोशल मीडिया ही सबकुछ बन गया है और ये लोगों की जिंदगी बरबाद कर रहा है। कई लोग दूर से सेल्फी लेने की कोशिश करते हैं तो किसी इवेंट की लाइव स्ट्रीमिंग करते हैं।

कई साइट है जहां लोग ट्यूटोरियल देते हैं कि किसी नई चीज को उन्होंने कैसे किया। लेकिन आप सोच भी नहीं सकते कि आप एक दिन सुसाइड कैसे करें का भी ट्यूटोरियल देखेंगे।

जी हां ये बिल्कुल सच है। हाल में एक शॉकिंग न्यूज आई जिसने सबको झकझोर कर रख दिया। एक इंजीनियरिंग के छात्र ने मुंबई के आलीशान होटल के 19वें फ्लोर पर आत्महत्या कर ली और इसका लाइव स्ट्रीमिंग भी फेसबुक पर किया।

क्या हुआ?

बैंगलोर के 24 साल के अरूण भारद्वाज ने ताज लैंड एन्ड होटल के 19वें मंजिल पर पर आत्महत्या की घटना को अंजाम दिया। होटल प्रबंधन का कहना है कि अरूण भारद्वाज सुबह तीन बजे होटल में आया और उसकी बॉडी 11वें फ्लोर पर सुबह 6:30 पर मिली।

फेसबुक पर पोस्ट किए वीडियो (जिसे क्यों हटा दिया गया आप समझ सकते हैं) में बॉथरोब पहने एक हाथ में वाइन की बोतल के और दूसरी हाथ में सिगरेट लिए नजर आ रहा है।

इस वीडियो में अरूण ट्यूटोरियल के एक एक स्टेप को फॉलो कर रहा है कि कैसे इस घटना को अंजाम दिया जाए। अपने करीब के लोगों के लिए नोट छोड़ने से लेकर अपने खाने को इंज्वॉय करने तक एक हर पल को लाइव स्ट्रीमिंग में कवर किया है और लिखा है कि आप लोगों से दूसरे छोर पर मिलता हूं।

आखिरी स्टेप लेने से पहले एक तस्वीर भी उसने फेसबुक पर डाली और कैप्शन लिखा “View to Die For”.

बांद्रा पुलिस का कहना है कि अरूण भारद्वाज के पिता काफी अपने बेटे को लेकर काफी चिंतित थे। उन्होने पिछले सप्ताह उससे बात भी की और वो उससे मिलने मुंबई भी आए कि आखिर बात क्या है।

सीनियर PI पंडित ठाकरे ने कहा कि “उसके पिता का कहना है कि वो पिछले कुछ दिनों से काफी डिस्टर्ब था और इसलिए वो मुंबई आए थे। वो तीन दिन से चेंबूर में अपने रिश्तेदार के यहां थे।“ अरूण को भाभा अस्पताल ले जाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

पुलिस ने साथ ही ये भी कहा कि अरूण को मौत से लगाव था। जी हां उसने पहले भी कई साइट देखी थी जो कहीं ना कहीं मृत्यु से और मौत को सेलिब्रेट करने से जुड़ा था। वो सुसाइड करने पूरी तैयारी के साथ आया था।

पुलिस ने यूथ को एक मैसेज भी दिया कि इस तरह के कदम को उठाने से पहले उनसे कॉन्टेक्ट करें।

घर से दूर रहना..

अरूण भारद्वाज के जैसे हमारे देश में कई बच्चे हैं जो बड़ी शहरों में अच्छे अवसर के लिए जाते हैं। इस समय पैरेंट्स को हमेशा अपने बच्चों पर खास ध्यान रखना चाहिए कि वो ठीक हैं कि नहीं। पैरेंट्स जिनके बच्चे घर से दूर रह रहे हैं उन्हें इन बातों का ख्याल रखना चाहिए।

  1. बच्चों को लगातार कॉल करते रहें : बच्चों को कई बार ये आदत अच्छी नहीं लगती लेकिन पैरेंट्ट को बच्चों को रोज कॉल करना चाहिए और उनसे दोस्ताना व्यवहार में बात करें ताकि वो कुछ भी ना छिपाएं।
  2. उनसे मिलते रहें : हर कुछ दिनों के अंतराल पर अपने बच्चों से मिलते रहें ताकि उन्हें स्पेशल फील हो। उन्हें नए जगह में रहने में और एडजस्ट करने में मदद करें। उनके आस पड़ोस को देखें और दोस्तों से बात करें कि वो ठीक से रह रहे हैं या नहीं।
  3. किसी विश्वासपात्र दोस्त या रिश्तेदार को नजर रखने कहें : कोई विश्वासपात्र दोस्त या रिश्तेदार को कहें कि वो उन्हें देखते रहें और टेंशन से बाहर निकाले। जितने ज्यादा दोस्त या रिश्तेदार हो उतना अच्छा है उनसे पूछते रहें अगर आपको कुछ गड़बड़ लगे।

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें | 

Source: theindusparent

app info
get app banner