New York पर पति ने पत्नी को Nude घुमाया

New York पर पति ने पत्नी को Nude घुमाया

इंटरनेट पर हर चीज़ जो हम नमक, मसाले के साथ देखते हैं, सुनते हैं , पढ़ते हैं वो सब हमारे दिमाग में रजिस्टर होता है । लेकिन कई बार ऐसी चीजें भी सामने आ जाती हैं जो इतनी रेपुल्सिव होती है की कुछ देर समझने और सोचने के बाद आपको लगता है की दुनिया कहाँ से कहाँ तक आ गयी है ?

इंटरनेट पर आजकल एक वीडियो वायरल हो रही है जिसमे एक महिला न्यूयॉर्क सिटी में नेकेड वाक कर रही है ,जबकि उसका हस्बैंड उसकी फ़िल्म बनाता है । ऑनलाइन सोर्सेज का कहना है की महिला के पति ने महिला को अपनी नेकेड फ़ोटो किसी को भेजते हुए देख लिया था , जिसके बाद उसने महिला को बिना कपड़ो के सड़क पर घूमने को मजबूर किया ।

इस वीडियो में आरोपी हस्बैंड महिला से टॉवल हटाने को कहता है । महिला के ऐसा न करने पर वो खुद टॉवल खिंच कर हटा देता है ।

आरोपी महिला को गाली देते हुए कहता है "मेरे होते हुए तुम जिन 7 लोगों से बात करती थी, अब उन्हें पता चलेगा की तुम किस लायक हो । क्या तुम्हे लगता है की मैं तुम्हारे साथ अब भी रहूंगा जब तुम मेरे पीठ पीछे अपनी नेकेड फ़ोटो सेंड और रिसीव करती हो ?"

वो बार बार टॉवल मांगने की कोशिश करती है लेकिन उसका हस्बैंड उसे टॉवल नही देता है । "तुम यही डिसर्वे करती हो" कहते हुए उसका हस्बैंड महिला का मज़ाक उड़ाता रहता है ।

unnamed

इस वीडियो का मतलब निकालने की कोशिश करें तो आरोपी ये साबित करना चाहता है की महिला को इस तरह से ट्रीट करना साधारण है, खासकर के तब जब वो आपकी पत्नी हो ।

पिछले साल ही दुनियाभर में करीब 1.4 मिलियन महिलाएं डोमेस्टिक एब्यूज का शिकार हुईं, और ये नंबर वो है जो आधिकारिक रूप से जारी किये गए हैं, कई महिलाएं ये एब्यूज की कम्पलेंट भी दर्ज नही करवाती हैं ।

हालाँकि वीडियो की ऑथेंटिसिटी की जांच अब भी साबित होनी बाकी है, और हम सब ये मानते हैं की उस वाइफ की एडल्टरी एक्टिविटी गलत है, वो सही नही है । लेकिन इसके बावजूद किसी को इस तरह से नीचा दिखाना ठीक नही है ।

मोम्मीस आप भी इस वीडियो को देखें, पर हाँ गली गलौज की भाषा का इस्तेमाल हुआ है इस वीडियो में इस बात का ध्यान रखें :.

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें ।
Hindi.indusparent.com द्वारा ऐसी ही और जानकारी और अपडेट्स के लिए हमेंFacebook पर Like करें ।

Any views or opinions expressed in this article are personal and belong solely to the author; and do not represent those of theAsianparent or its clients.