Gossip Time…सबसे बुरा और गंदा व्यवहार जो मेरी सास ने मेरे साथ किया

Gossip Time…सबसे बुरा और गंदा व्यवहार जो मेरी सास ने मेरे साथ किया

आज तीन महिलाएं अपने साथ हुए तीन बेहद डरावने और भयावह व्यवहार को हमारे साथ शेयर कर रही हैं और इसका श्रेय उनकी सास को जाता है।

इस बात को आप भी स्वीकार करेंगे कि सास-बहू का रिश्ता असहज वाइब्स से भरा हुआ होता है। लेकिन कुछ बहुओं की माने तो उनकी सास ने ये दिखाने में कोई कसर नहीं छोड़ा कि वो वाकई नरक से आई हुईं monsters-in-law हैं।

आज तीन महिलाएं अपने साथ हुए तीन बेहद डरावने और भयावह व्यवहार को हमारे साथ शेयर कर रही हैं और इसका श्रेय उनकी सास को जाता है।

इनमें से कुछ हो सकता है कि आपको मनोरंजक लगे लेकिन बाकी घटनाएं यही साबित करते हैं कि महिलाएं वाकई सबसे बुरी दुश्मन साबित हो सकती हैं।

1. सरप्राइज पार्टी जिससे मैं सरप्राइज नहीं हुई

जब मैं अपने पहले बच्चे की मां बनने वाली थी तब यह पहले ही तय हो गया था कि मैं बेबी के जन्म के बाद कुछ सप्ताह के लिए अपनी मां के यहां जाऊंगी।चूंकि डिलीवरी वाले दिन मेरे ससुराल वाले मेरे साथ अस्पताल में थे इसलिए बेबी के वेलकम के लिए मेरे पैरेंट्स हवन और पूजा करवा रहे थे जो मेरे घर की परंपरा भी है।

 
Gossip Time…सबसे बुरा और गंदा व्यवहार जो मेरी सास ने मेरे साथ किया

डिलीवरी के अगले दिन मैं अपने पैरेंट्स के यहां जाने के लिए पति और बेबी के साथ निकलने वाली थी कि मेरी सासू मां ने एक घोषणा की।

उन्होंने कहा कि उनकी पड़ोस की दोस्त ने बेबी के लिए वेलकम पार्टी रखी है और वो हमारा इंतजार कर रही हैं। मैं शॉक्ड थी क्योंकि तब तक काफी देर हो चुकी थी और मेरे पैरेंट्स मेरा और बेबी का दिल थामे इंतजार कर रहे थे।

चूंकि उन्होंने जोर दिया कि यह बहुत कठोर कदम हो जाएगा कि हमारे लिए दिए जा रही पार्टी में हम शरीक नहीं होंगे। लेकिन मुझे नहीं लगता कि मैं कभी ये भूल पाऊंगी।

अंजलिका एम. पुणे

2. मेरे बच्चे का नाम चुरा लिया

मैं और मेरे पति बहुत ही अच्छी प्लानिंग करते हैं इसलिए जब मैं प्रेग्नेंट थी तब हम दोनों ने एक बेटे का और एक बेटी का नाम सोच रखा था। हम अपने चुने हुए नाम को लेकर काफी एक्साइटेड थे और अक्सर अपने होने वाले बच्चे के बारे में नाम लेकर बातें करते थे।

हमारी बातें कुछ ऐसी होती थी जैसे – ‘क्या लिटिल साहिल सो रहा है’ या ‘क्या मिशिका टमी के अंदर भूखी है’, चूंकि हमें पता नहीं था कि ये बेटी थी या बेटा इसलिए हम बारी-बारी से दोनों के नाम लिया करते थे। लेकिन फिर अचानक कुछ ऐसा हुआ जो मैं सोच भी नहीं सकती थी।

मेरे पति की बहन भी ठीक उसी समय प्रेग्नेंट थीं और उनकी डिलीवरी मुझसे एक महीने पहले होने वाली थी। इसके बाद मुझे पता चला कि उन्होंने अपने बेटे का नाम साहिल रखा है। जब मैंने अपने पति से पूछा कि ये संयोग कैसे हो सकता है तो उन्होंने बताया कि उन्होंने बच्चों का नाम अपनी मां को बताया था और उन्हें नाम काफी पसंद आया था।

यहां तक कि उन्हें भी विश्वास नहीं हो पा रहा था कि वो अपने बेटी के बच्चे का वही नाम रखेंगी और वो भी बिना हमें बताए। हालांकि मुझे बेटी हुई और हमने अपना सोचा हुआ नाम ही रखा फिर भी मुझे काफी गुस्सा आया था।

सोनिका एस, दिल्ली

3. मेरी मां से कहा कि उन्होंने मेरा पालन-पोषण अच्छे से नहीं किया है

कई बार जिंदगी में आप सोच भी नहीं पाते कि आपके साथ कैसी बातें हो सकती है। मेरी शादी के तब कुछ महीने हुए थे और मेरी सास अक्सर फोन लगाकर मेरी मां से शिकायत करती थी कि उन्होंने मेरा लालन-पालन अच्छे से नहीं किया है।

मुझे पता था कि उन्हें मुझसे समस्या थी। वो अक्सर मुझसे कलह करती थी कि दाल में ज्यादा घी थी या रात के बचे खाने का मैंने ठीक से उपयोग नहीं किया गया। लेकिन मैंने कभी ये नहीं सोचा था कि वो इन सब में मेरी मां को शामिल करेंगी और उन्हें ज़लील करने का एक मौका नहीं छोड़ेंगी।

एक दिन किचन में हम दोनों में किसी बात को लेकर बहस हुई, उन्होंने किचन से सीधे निकलकर मेरी मां को कॉल किया और कहा कि मैं परिवार के लिए कलंक के समान हूं और मेरी जबान बहुत धारदार है।

उन्होंने मेरी मां को ये भी कहा कि अगर उन्होंने मेरा पालन पोषण ठीक से किया होता तो मुझे पता होता कि बड़ों की इज्जत कैसे करते हैं। बेचारी मेरी मां बस इतना कहती थी कि : “उसे बेटी समझकर माफ कर दीजिए।”

निधी जी, मुंबई

Written by

theIndusparent