स्वर्ण मंदिर हुआ जैविक: ये हैं वो बातें जो आपको जाननी चाहिए !

lead image

अमृतसर के गोल्डन टेम्पल ने एक बार फिर दुनियाभर में उदहारण स्थापित करते हुए आर्गेनिक फार्मिंग के कांसेप्ट को बढ़ावा दिया है । वर्ल्ड फेमस लंगर हॉल में अब दर्शन के लिए आनेवाले श्रद्धालुओं को आर्गेनिक फ़ूड परोसा जाएगा ।गोल्डन टेम्पल को इसके सामूहिक तत्वों के लिए जाना जाता है जहाँ करीब 1 लाख सेवक वहां आने वाले श्रद्धालुओं के लिए भोजन की व्यवस्था करते हैं ।

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति ने हिंदुस्तान टाइम्स से बात करते हुए बताया की उन्हें ये कदम उठाते हुए ये उम्मीद है की इससे बाकी गुरुद्वारों को प्रेरणा मिलेगी और वो भी इसे फॉलो करने की कोशिश करेंगे । शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति के एडिशनल सेक्रेटरी दलजीत बेदी ने हिन्दुस्तान टाइम्स को बताया, "जनवरी में हमने आर्गेनिक गाज़र, पलक, बंदगोभी परोसना शुरू कर दिया था । इसके मकसद यही है की लोगों को रसायन मुक्त भोजन दिया जाए"

src=http://hindi admin.theindusparent.com/wp content/uploads/sites/10/2016/04/golden temple inside 1.jpg स्वर्ण मंदिर  हुआ जैविक: ये हैं वो बातें जो आपको जाननी चाहिए !

"अभी अनाज और सब्जियों की सप्लाई उतनी अच्छी नहीं है लेकिन ये धीरे धीरे ठीक हो जाएगी अभी हमें 3-4 दिन में सिर्फ 10 क्विंटल ही मिल रही है ।"

रिपोर्ट के मुताबिक आर्गेनिक फ़ूड अत्तारी के पास गुरुद्वारा गुरुसर सत्लानी साहिब के पास 7 एकड़ के ज़मीन पर उगाया जा रहा है जहाँ पहली बीज 18 महीने पहले बोई गयी थी। समिति आर्गेनिक गेंहू, फल आदि भी उगाने के प्रयास में लगी हुई है ।इसके लिए पंजाब एग्रो इंडस्ट्रीज कारपोरेशन लिमिटेड से भी बात की जा रही है ।

आर्गेनिक फ़ूड के फाएदे :

src=http://hindi admin.theindusparent.com/wp content/uploads/sites/10/2016/04/golden temple 3 1.jpg स्वर्ण मंदिर  हुआ जैविक: ये हैं वो बातें जो आपको जाननी चाहिए !

हालाँकि इस मुद्दे पर हमेशा से बहस होती रही है लेकिन ये कुछ फाएदे हैं जिन्हें जानने के बाद आप भी आर्गेनिक फ़ूड खाना शुरू कर देंगे।

  • आर्गेनिक फ़ूड बिना किसी पेस्टिसाइड या रसायन के उगाये जाते हैं । साधारण पैदावार के मुकाबले आर्गेनिक फ़ूड में पेस्टिसाइड आदि की मात्रा न के बराबर होती है ।
  • आर्गेनिक फ़ूड खाने का मतलब है सभी तरह के मिलावट, आर्टिफीसियल रंग, फ़ूड डाई आदि से सीधे तौर पर बचाव जो की बच्चों के लिए बहुत फैदेमंद होती हैं ।
  • कई स्टडी ये भी बताते हैं की आर्गेनिक फ़ूड में एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा बहुत बेहतरीन होती है क्योंकि इसमें कोई बाहरी रसायन होता नहीं है । ये आपके शरीर को टॉक्सिक मेटल आदि से  भी दूर रखता है ।एंटीऑक्सीडेंट वो चीज़ है जो फ्री रेडिकल से लडती है और कैंसर जैसी जानलेवा बीमारियों से हमें बचाती है
  • आर्गेनिक फार्मिंग में प्राकृतिक खाद का इस्तेमाल किया जाता है जो रासयुनिक खाद से बहतु ज्यादा सुरक्षित होते हैं ।
  • आर्गेनिक फार्मिंग से मिट्टी, जल, हवा  में किसी तरह का कोई प्रदुषण नहीं होता है ।

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें  

Hindi.indusparent.com द्वारा ऐसी ही और जानकारी और अपडेट्स के लिए  हमें  Facebook पर  Like करें