बच्चे के लिए Breast Milk के बाद Coconut Milk सबसे बेहतरीन चीज़ है ।

lead image

अमेरिका के न्यूट्रिशनिस्ट डॉ जोस ऐक्से के मुताबिक माँ के दूध से बेहतर कोई चीज़ नहीं है लेकिन अगर कभी किसी कारणवश माँ दूध पिलाने में समर्थ न हो तो नारियल का दूध दूसरा सबसे बेहतरीन आप्शन है ।

क्यों है ये दूसरा सबसे बेहतरीन आप्शन ?
माँ के दूध में लैक्टोस होता है जो एक तरह का शुगर है और आपमें से कई लोग ये मानने के लिए तैयार नहीं होंगे । हालांकि नारियल के दूध में लैक्टोस नही होता है इसीलिए इसे पचा पाना बहुत आसान होता है ।नारियल के दूध के कई फायदे हैं जो इसे माँ के दूध के बाद दूसरा सबसे बढ़िया आप्शन बना देते हैं ।

नारियल के दूध के लाभ :
इसे 'मिरेकल लिक्विड' भी कहा जाता है क्योंकि ये शरीर में प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है । ये नारियल के पकने पर उसले अंदर मौजूद पानी होता है । इस नारियल पानी के कई फायदे होते हैं :

CoconutMilkNutrition

शरीर में पचने में आसान : इसमें पोषक तत्व तो होते ही हैं लेकिन उससे भी अच्छी  बात ये हैं की ये सभी पोषक तत्व शारीर में बड़ी आसानी से घुल जाते हैं और इसीलिए इसका फाएदा बहुत जल्दी ही देखने को मिलता है .

रक्तचाप और कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम करता है : नारियल का दूध दिल से जुड़े स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के साथ साथ शरीर में रक्त के प्रवाह को भी स्वस्थ और सही बनाए रखता है .

फैट कम करता है और मांसपेशियों को मजबूत बनाता है :नारियल के दूध में हेल्थी फैट होने के साथ साथ इसमें फैटी एसिड भी होते हैं जो शरीर को उर्जा प्रदान करते हैं .

शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढाता है :नारियल के दूध  का सबसे बड़ा गुण है शरीर के प्रतिरोधक क्षमता हो बढ़ा देता है . इसमें पोटैशियम , सोडियम और फाइबर जैसे गुण होते हैं जो शरीर में पानी की कमी नहीं होने देता है और शरीर को तारो ताज़ा बनाए रखता है .
इसके लावा नारियल मौजूद एंटीऑक्सीडेंट, मिनरल और विटामिन शारीर में बिमारिओं से लड़ने की क्षमता को बढ़ा देता है . नारियल में मौजूद पानी बच्चे और माँ को किसी भी तरह के इन्फेक्शन या बिमारिओं से बचाता है . इससे माँ के स्वास्थ्य पर भी सकारात्मक असर पड़ता है

संक्रमण से सुरक्षा :नारियल के दूध में लोरिक एसिड की मात्रा बहुत ज्यदा होती है . इस एसिड के कारण ही बिमारिओं से लड़ने वाले फैटी एसिड का निर्माण होता है जिसका नाम है मोनोलौरिन . इसमें एंटीबैक्टीरियल और अन्टिफंगल  एंटीवायरल खूबियाँ होती है .

मूत्राशय की नलिओं में होने वाले संक्रमण से बचाव : नारियल के दूध को अपने दिनचर्या का हिस्सा बनाने से पेशाब के रास्ते में होने वाले किसी भी तरह की रुकावट कपो खत्म किया जा सकता है . इससे पेशाब करने की नालिओं में किसी भी तरह के संकर्मन से छुटकारा मिल जाता है . इसके पीछे का विज्ञान बड़ा आसान है . नारियल का दूध मूत्राशय के नलियों को और ब्लैडर को साफ़ कर देता है .

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें  

Hindi.indusparent.com द्वारा ऐसी ही और जानकारी और अपडेट्स के लिए  हमें  Facebook पर  Like करें