बच्चे के लिए Walker खरीदने से पहले 5 जरुरी बातें याद रखें।

lead image

माता पिता को बहुत ही छोटे बच्चे को बेबी वॉकर में पैरों पर खड़े होने के लिए नहीं बैठा देना चाहिए

अगर आपको समझ नहीं आ रहा है की एक बेबी वॉकर कैसे खरीदें तो ये रही वो सभी बातें जो आपको ध्यान में रखनी चाहिए।  पिछले कुछ समय से बेबी वॉकर का इस्तेमाल एक बहस का मुद्दा बन गया है। कुछ माता पिता इसे खतरनाक मानते हैं तो कुछ बच्चों को पैरों पर चलवाने के लिए आतुर होने के कारण बेबी वॉकर का इस्तेमाल करते हैं।

बड़ौदा की झुमरी निगम 5 साल की तारा की माँ हैं, वो कहती हैं की मैंने बेबी वॉकर खरीद लिया था ताकि जब मुझे काम हो तब बच्चे को बेबी वॉकर में बैठाकर खुद को थोड़ा शांत कर सकूँ या बेटी भी चलने की अपनी इच्छा पूरी कर ले । लेकिन यह कोई आवश्यक सामान नहीं है।  बेबी वॉकर तब खरीदे जब घर में उसका ध्यान रखने के लिए के लिए कोई ना हो।

हमने दो और माओं से बात की जिन्होंने लगभग ऐसे ही वचार रखें। कुवैत में रहने वाली गृहणी कनिका हांडा जो 3 साल की वाणी की माँ हैं बताती हैं की उन्होंने बेबी वॉकर खरीदा जरूर था लेकिन उसका ज्यादा उपयोग नहीं किया जिससे खतरे की कोई गुंजाइश ही नहीं थी।  हालांकि बेबी वॉकर के वजह से छोटी वाणी सुबह जल्दी ही पैरों पर चलने  तैयार हो जाती थी।

बेबी वॉकर खरीदते समय निनलिखित बातों का ध्यान रखें

दिल्ली में रहने वाली सोनल मेहरा तनेजा एक गृहणी हैं और उनके 1 साल के जुड़वा बच्चे हैं।  सोनल बताती हैं की उन्होंने दो अलग अलग तरह के बेबी वॉकर ख़रीदे।  एक वो जिसमे बच्चे को बैठाया जाता है और एक वो जिसमे बच्चे चलना सीखते हैं।  पहले वाला बेबी वॉकर ज्यादा पसंद आया।

कुछ विशेषज्ञों के मुताबिक़ बेबी वॉकर बच्चों के पैरों की मांशपेशिओं को मजबूत करते हैं जिससे बच्चा अपने शरीर के भार के साथ संतुलन बनाने में आसानी का अनुभव करता है।

स्मृति साहने दिल्ली में एक क्लिक्निकल मनोचिकित्सक है ePsyClinic.com और बताती हैं की ये सही है की बेबी वॉकर से बच्चों के पैरों में मजबूती आती है लेकिन इस तथ्य की अपनी सीमा है।  माता पिता को बहुत ही छोटे बच्चे को बेबी वॉकर में पैरों पर खड़े होने के लिए नहीं बैठा देना चाहिए। इसके अलावा जो बच्चे खुद ही अपने पैरों पर खड़े होने में सफल हैं उनके लिए बेबी वॉकर बिलकुल नहीं लेना चाहिए। बच्चों को कभी भी बिना देखरेख के बेबी वॉकर में नहीं बैठाना चाहिए।

बेबी वॉकर खरीदते समय निनलिखित बातों का ध्यान रखें।डॉ  साहने ने एक बेबी वॉकर खरीदते समय निम्नलिखित बातों पर ध्यान देने की जरूरत बताई है :

  • बेबी वॉकर ऐसा चुनें जिसमे बच्चे को कुशलता से खड़े होने को मिले। अगर आप कोई ऐसा बेबी वॉकर खरीदते हैं जो बहुत ही भारी है या ज़मीन से बहुत घर्षण करता है तो इससे बच्चे के साथ दुर्घटना होने की संभावना बढ़ जाती है।  इस वजह से हो सकता है की बचा आगे से बेबी वॉकर से डरने लगे और दूरी बना ले।
  • बेबी वॉकर ऐसा चुनें जिसका आधार चौड़ा हो ताकि बच्चे को गिरने से बचाया जा सके। इसके अलावा इस तरह से बच्चे उन जगहों पर भी जाने से बचे रहेंगे जहाँ उन्हें नहीं जाना चाहिए।
  • अतिरिक्त सुरक्षा सुविधाओं को ध्यान में रखें जैसे लॉक सिस्टम , सीट बेल्ट जिससे आपके बच्चे की गतिविधि आसान और आरामदायक बनी रहे।
  • सुनिश्चित करें की बेबी वॉकर जिस पदार्थ से बना है वो बच्चे के लिए खतरनाक नहीं है।
  • बनावटी खराबी को ध्यान में रखें और बेबी वॉकर को अच्छे से जाँच लें।  उसके किनारे कोमल हों, कपडे की सिलाई ठीक हो , कोई ऐसी चीज़ बहार ना निकली हो जिससे बच्चे को नुकसान पहुंचे आदि।

इन महत्वपूर्ण बातों की लिस्ट बनाकर बेबी वॉकर खरीदने से माता पिता और बच्चा तीनों के लिए अनुभव अच्छा रहेगा।  हालाँकि बाजार जाने से पहले उन विशेषज्ञों के दूसरे पहलुओं को भी जान लेना आवश्यक है जो बेबी वॉकर को बच्चे के लिए खतरनाक समझते हैं।

शोध बताते हैं की बेबी वॉकर की दो बातें इसे बच्चे के लिए खतरनाक बनाती हैं।  पहला ये की बेबी वॉकर बच्चों में चलने की गति 1 मीटर प्रति सेकंड तक बढ़ा देती हैं।  दूसरा ये की बच्चा ज़मीन से ऊपर उठा हुआ रहता है जिससे उसे ये एहसास होने में समस्या होती है की वो चल भी रहा है या नहीं।  यहाँ तक की चाइल्ड सेफ्टी यूरोप के एक शोध के मुताबिक बेबी वॉकर दरअसल बच्चे की चल पाने की क्षमता पर असल डालते हैं और उसे घायल करने की परिस्थिति में डाल देते हैं।

डॉ सागरिका पोपली जो कि दिल्ली के भौतिक चिकित्सा और पुनर्वास केंद्र में वरिष्ठ फिजियोथेरेपिस्ट कंसलटेंट हैं बताती हैं की जैसे जैसे बच्चे बड़े होते हैं उनमे चलने की प्रवृत्ति का विकास होता है।  इसके लिए वो अपने बाहों को, पैरों को खरोंचता है , रेंगता है।  एक बेबी वॉकर आपके बच्चे की शारीरिक विकास की क्षमता को रोक सकता है।  वो कहती हैं की एक बेबी वॉकर से बच्चा चलने से ज्यादा उड़ने की कोशिश करता है जिससे उसके पैरों के अंगूठे अप्राकृतिक दशा में मुड़ जाते हैं। ज्यादातर बेबी वॉकर ऐसे बनाये जाते हैं जिसमे बच्चे अपने पैरों को हवा में नहीं देख पाते जिस वजह से उन्हें लगता है की वो अपने पैरों से आगे बढ़ रहे हैं।

सात साल की इंद्रा की माँ रेवती राउ एक मीडिया प्रोफेशनल हैं और बताती हैं की वो कभी बेबी वॉकर इस्तेमाल करने के पक्ष में नहीं रहीं।  " मै नहीं जानती की ये कितना सच है लेकिन मैंने सुना है की बेबी वॉकर बच्चों के पैरों पर अतिरिक्त दबाव बनाता है।  इससे अच्छा है की मै प्रकृति पर ही छोड़ दूँ।

इस मुद्दे पर बेबी वॉकर खरीदने और न खरीदने का फैसला पूरी तरह इसके सकारात्मक और नकारात्मक पहलुओं पर निर्भर करता है।  एक माता पिता होने की हैसियत से ये तय करना आपकी जिम्मेदारी है की आप मार्किट का कितना रिसर्च करते हैं और अपने बच्चे के लिए कौन सा बेबी वॉकर लेते हैं। अगर बच्चा बेबी वॉकर का इस्तेमाल नहीं भी करता है , तब भी भविष्य में आप इसे ऐसे काम की तरह याद करेंगे जिसके लिए बहुत ज्यादा निगरानी की जरूरत होती है।

Hindi।indusparent।com द्वारा ऐसी ही और जानकारी और अपडेट्स के लिए  हमें  Facebook पर  Like करें