50 Activities जो आप अपने बच्चे के साथ मुंबई में कर सकते हैं

50 Activities जो आप अपने बच्चे के साथ मुंबई में कर सकते हैं

Mumbai_skyline88907

अगर आप प्लान कर रहे हैं अपने बच्चे के साथ एक दिन बिताने को तो ज्यादा दूर तक सोचने की जरूरत नहीं है . हम लेकर आयें हैं आपके लिए कुछ आईडिया जिससे आप मुंबई में ही अपने बच्चों के साथ एक खुबसुरत पल बिता सकते हैं .

संजय गांधी नेशनल पार्क

SGNP-Bombay

  • संजय गांधी नेशनल पार्क के प्राकृतिक गोद में आप घूम सकते हैं . यहाँ बोटिंग और टॉय ट्रेन जैसी सुविधायें भी मौजूद हैं जो साला में एक बार ही चलती हैं . सैंक्चुअरी एशिया यहाँ हर साल कार्यक्रम करता है जिसमे कई तरह के मधुमक्खियाँ, चिड़ियाँ , जानवर, कीड़े, पौधे आदि शामिल होते हैं , यहाँ पिकनिक मनाने की बेहतरीन जगह है तुलसी नदी .
  • महिम नेचर पार्क को भी एक्स्प्लोर कर सकते हैं. मुंबई के सबसे बड़े स्लम में छूपे इस जगह में हरियाली इतनी है की ये शहर के फेफड़े की तरह काम करता है . घूमिये , पौधों और पेड़ों से गले लगें, मीठी नदी को देखें . छुपन छुपाई का खेल खेलें , किताब पढ़ें .
  • अगर आप साउथ मुंबई में हैं तो आप बीपीटी कोलाबा के जंगलों में , या होर्निमान सर्किल के गार्डन में, चेम्बूर के डायमंड गार्डन में मुलुंड के कालिदास में जॉनसन एंड जॉनसन गार्डन में, सान्ताक्रुज़ के एअरपोर्ट गार्डन में, या जुहू के कैफ़ी आज़मी पार्क में, राजेश खन्ना गार्डन में, बंदर के पटवर्धन पार्क में , भी घुमने के लिए जा सकते हैं .


डबल डेकर बस में घूमें

bus1-621x414

  • डॉलफिन इन्दा एक्वेरियम देखें . वहां पर बोटिंग के लिए तालाब भी है, टॉय ट्रेन भी हैं और तालाब के बीचो-बीच एक्वेरियम है . इसके अलावा वहां आपको बत्तख, खरगोश, गिलहरी आदि भी देखने को मिलेंगे .
  • डबल डेकर बस में घूमें . शहर में कुछ डबल डेकर बसें आज भी चलती हैं . अपने नजदीकी बस स्टॉप पर जाएँ और डबल डेकर बस का भी अनुभव लें . सीढ़ियों से ऊपर जाएँ और सबसे आगे वाली सीट पर बैठ जाएँ . जब हवा आपको छूकर निकलती है तब मन रोमांचित हो जाता है यकीन मानिए .
  • धोबीघाट जाएँ . हाँ ये थोडा कम साफ़ जगह है लेकिन ये रोमांच से भरा अनुभव होगा .आपके बच्चे की आँखें गोल गोल घुमने लगेंगी जब कई एकड़ में सिर्फ कपडे ही कपडे धुलते और सूखते नज़र आयेंगे .
  • एमटीडीसी द्वारा चलाये जाने वाले ओपन एयर बस में घूमें . मेरे एक दोस्त ने अपने बेटे के लिए एक पूरी बस बुक की और चलती गाड़ी में बच्चे का जन्मदिन मनाया . जून और सितम्बर के महीने में ये बंद हो जाता है.


दोपहर में अक्सा बीच घुमने जाएँ

Aksa_Beach_afternoon

  • आसपास की किसी बेकरी से बात करके उनके किचन को अन्दर से देखें . ब्रेड, बिस्कुट, बन आदि कैसे बनते और पैक किये जाते हैं वो देखें .मई एक बार अपने बच्चे के साथ महिम बेकरी गया वहां से हमने एक पाव खरीदा और उसमे छेड़ कर दिया . उसमे से अब तक भाप निकल रही थी . नानखताईसिस के ट्रे आदि हमारे दिमाग में अब भी ताज़ा हैं .
  • हैण्ड कार्ट बुक करें . जी हाँ अगर आप पैशनेट हैं तो आप अपने बच्चे को मेर्री राइड पर भी ले जा सकते हैं . लेकिन क्योंकि आपको खुद कार्ट को धक्का देना होता है इसीलिए वजन का ध्यान रखें .
  • बीच पर जाएँ . मुंबई में ये एक सबसे ख़ास बात है इसीलिए इसका जितना ज्यादा हो सके फायदा उठाएं . अपनी रुकने की जगह के हिसाब से आप चौपाटी बीच, शिवाजी पार्क , जुहू, वेर्सोवा, अक्सा, माध, मार्वे उत्तान, गोराई आदि बीच पर भी घुमने जा सकते हैं . बीच पर गंदगी की शिकायत ना ही करें तो बेहतर है . वहां नारियल का पानी पियें , कुल्फी खाएं चना जोर गलं वाला मसालेदार भूंजा खाएं . बच्चे को दिखायें की वो पेपर कोन कैसे बनाता है .


गिल्बर्ट हिल

07_full

  • बच्चे को मुंबई एक अलग पर्सपेक्टिव से दिखाने की कोशिश करें .मालाबार हिल, बप्तिस्ता हिल, सायन फोर्ट हिल आदि कुछ ऐसे जगहें हैं जहाँ से आप मुंबई को एक अलग नज़रिए से देख सकते हैं . अँधेरी का गिल्बर्ट हिल भी देखने लायक एक कमाल की जगह है . इनमे से किसी पर भी जाना कठिन नहीं है .
  • किसी बस या ऑटो से अरे मिल्क कॉलोनी देखें . बचपन में यही वो जगह थी जहाँ हम पिकनिक मनाने जाया करते थे. इसे मिनी कश्मीर भी कहा जाता है और हाँ आपको यहाँ नौकाविहार करने का भी मौका मिलेगा .उसके बाद आप अरे गार्डन के रेस्टोरेंट में भी जाकर खाना खा सकते हैं.
  • मुझे पता है थोड़ा अजीब है पर नेहरु प्लैनेटेरियम एक ऐसी जगह है जहाँ हर बच्चा अपनी सपनों में दिखने वाली गैलेक्सी को देखने की कोशिश जरुर करता है .


गेटवे ऑफ़ इंडिया पर फेरी राइड

The_boatsGateway_of_IndiamumbaiTN559

  • फेरी राइड लें . मानसून खत्म होने का इंतज़ार करें और वेर्सोवा से माध आइलैंड तक के लिए फेर्री के मज़े लें .मछलियों को देखना और उन्हें पकड़ने की कोशिश करें .
  • पृथ्वी थिएटर में बच्चों को नाटक करता देखें .3 साल के ऊपर के बच्चों का नाटक वहां रोज चलता है . वहां सब कुछ रियल होता है. उनके कपडे, अभिनय मेक अप सब कुछ . मैं और मेरे बेटे ने वन्स अपॉन अ टाइगर वहां देखी थी उसने तो स्टेज पर एक शेर बने बच्चे को छुआ भी .
  • बलार्ड एस्टेट में मोनेटरी म्यूजियम देखें . सिक्कों के बारे में बच्चों को यहाँ काफी कुछ सीखने को मिलेगा.


प्रिंस ऑफ़ वेल्स में एक दिन

prince-of-wales-1

  • आजाद मैदान या ओवल मैदान या शिवाजी पार्क में क्रिकेट का आनंद उठाएं .मै क्रिकेट का कोई बड़ा फैन नहीं हूँ लेकिन लाइव मैच देखने का अलग ही मज़ा है .
  • प्रिंस वाले म्यूजियम में प्रकिर्तिक इतिहास का सेक्शन देखें . ये सभी असली जानवर भले ही नहीं हैं लेकिन चिड़ियाघर से ज्यादा जानवर आपको यहाँ देखने को मिल जाएंगे .
  • वोर्ली सी फेस से सी लिंक देखें . बांद्रा फोर्ट के दुसरे तरफ से इसका नज़ारा बड़ा खुबसुरत होता है . फोर्ट में एक हॉल भी है जहाँ संगीत आदि बजाये जाते हैं . जब मेरा बीटा ५ महीने का था तो मैं उसे रघु दीक्षित के शो में ले गया था .मरीन ड्राइव के दक्षिणी छोर से चौपाटी तक घूमें . बीच में रुककर आप भुट्टा या नारियल का पानी ले सकते हैं . दीवार पर बैठकर लहरों को टकराते हुए देख सकते हैं चौपाटी बीच के दूसरी तरफ आप आम , क्रीम, स्ट्रॉबेरीज के भी मज़े ले सकते हैं .


काला घोड़ा फेस्टिवल देखें

3490f702-7f61-4621-b9bc-8cc55aac36bfWallpaper2

  • आप अपनी दोपहर महालक्ष्मी में कुत्तों को खाना खिलाकर गुजार सकते हैं . ये सब बड़े प्यारे होते हैं
  • रीसाइक्लिंग में अपना योगदान दें . कचरा मार्केट भी घूमें . यहाँ आप अपने बच्चे को भी ले जा सकते हैं और कुछ किताबें खरीद सकते हैं . यहाँ कुत्तों को दवाई दी जाती है उनके खाने पिने का प्रबंध भी किया जाता है .
  • बच्चे के साथ किसी फूल या सब्जी मंडी जाएँ . किसी बड़े मंदी में जाएँ जैसे दादर फूल मंडी , क्रावफोर्ड सब्जी मार्केट या नाना चौक पर भाजी गल्ली. आप यहाँ से मछली, सब्जी आदि आराम से खरीद के ले जा सकते हैं .
  • काला घोड़ा के आसपास घूमें . यहाँ रुक कर किसी आर्टिस्ट से अपनी और अपने बच्चे का स्केच बनवाएं . हर साल होने वाले काला घोड़ा फेस्टिवल में बच्चों के लिए अलग से जगह रखी जाती है जहाँ आर्ट, क्राफ्ट एक्टिविटी , चिकनी मिटटी से चीजें बनाना आदि काम होते हैं .


हाजी अली के दरगाह को पास से देखना

6807056833_114db54446_b

  • डेविड सस्सों लाइब्रेरी गार्डन जाएँ . ये केवल मेम्बर के लिए ही है लेकिन वॉचमैन बच्चों को अन्दर जाने से रोकता नहीं है .
  • बीएनएचएस ट्री वाल्क करवाता रहता है . इसमें अपने बच्चे के साथ जाएँ और पेड़ों को गले लगायें ., छाँव में बैठें, उन्हें कहानियाँ सुनाएं, नवम्बर से मार्च के महीनों में वहां आप फ्लेमिंगो भी देख सकते हैं .
  • मैं बहुत धार्मिक नहीं हूँ लेकिन मंदिर दरगाह चर्च आदि भी जाना ही चाहिए . सौंठ बोम्बे में थॉमस कैथेड्रल चर्च , अफ़ग़ान चर्च , मालाबार हिल में बाबुलनाथ मंदिर, हाजी अली दरगाह, जुहू का इस्कोन टेम्पल,. अगर आपके आसपास कोई गुरुद्वारा हो तो लंगर में जरुर खाएं .
  • किसी एशियाटिक लाइब्रेरी में जायें.
  • माटुंगा जैसे स्टेशन पर प्लेटफार्म पर बैठें
  • रेल की सवारी करें . अगर आप सही समय चुन सकें तो ये इतना भी मुश्किल नहीं है .ट्रेन में अपनी ही एक दुनिया होती है . कपड़े, किताबें, कलम, बिंदी, झुमके,मैगज़ीन, आदि ट्रेन में मिलते हैं .


महालक्ष्मी रेसकोर्स का एरियल व्यू

mumbai_race_course_20130812

  • चर्चगेट या वीटी जैसे स्टेशन पर जाएँ और कुर्सी पर बैठकर डब्बावालों की धक्का मुक्की देखें, ऑफिस के लिए हो रही भाग-दौड़ देखें , जूते आदि साफ़ करने वाले लोग देखें .वड़ापाव और समोसे का लुफ्त उठाएं .
  • पास के ही किसी पोस्ट ऑफिस में जाएँ . हमें पता है की हमारे बच्चों को कभी चिट्ठी लिखन एकी जरूरत तो नहीं पड़ेगी लेकिन वहां के माहौल में कुछ ऐसी बात होती है जो देखनी चाहिए फिर चाहे वो स्टाम्प लगाने की थपथपाहट हो या टिकट लगाने के लिये गोंद का इस्तेमाल आदि
  • महालक्ष्मी रेस कोर्स जाएँ . घोड़ों को आप खिला भी सकते हैं उन्हें थपथपा भी सकते हैं यहाँ तक की आप उनकी ट्रेनिंग भी देख सकते हैं .
  • ब्य्कुल्ला चिड़ियाघर उतनी खराब जगह नहीं है जितना की वो बताते हैं . आप यहाँ भी एक पिकनिक की व्यवस्था कर ही सकते हैं .
  • आसपास किसी पौधे की नर्सरी में जाएँ अपने बच्चे को पौधों की अलग अलग वैरायटी के बारे में बताएं . कुछ पौधों को घर लेकर जाएँ और बच्चों से इसके बारे में बात करें .


गणेश चतुर्थी मनाएं

Ganesh_mimarjanam_2_EDITED

  • हनेश चतुर्थी के पूजा के समय आसपास कहीं से गणेश की मूर्ती लेकर आयें . आप अपने बच्चे को भी साथ ले जा सकते हैं .
  • समुन्द्र के आसपास अपने किसी दोस्त के घर के टेरेस पर चढ़ कर गणेश विसर्जन भी जरुर देखें . दही हांडी का भी खेल बच्चे को जरुर दिखायें .
  • मकर सक्रांति से थोड़ा पहले यहाँ पतंगों की बहार आ जाती है .बच्चे को पतंग बनाना सिखाएं और फिर उसे उड़ाना भी . हालाँकि इन दिनों पतंगों की धारदार धागों से कई पक्षी भी मारे जाते हैं .
  • पास के किसी चर्च में कैरोल सिंगिंग में जायें . आपका कैरोल जानना जरुरी नहीं है क्योंकि वो आपको प्रिंट आउट देते ही हैं .
  • आप पास के ही किसी एक्सपो आदि में भी जा सकते हैं जैसे दस्तकार में पॉटरी, बुनाई , चूड़ियाँ बनाने, बास्केट आदि बनाने की लाइव कार्यशाला चलती है .एक दोपहर अपने बच्चे के साथ यहाँ भी बिताएं .

तारापुरवाला एक्वेरियम देखें

TaraporewalaAquarium_Renovated

  • बच्चे के साथ तारापुरवाला एक्वेरियम देखने जरुर जाएँ . इसे फिश म्यूजियम भी कहा जाता है . इसमें 12 फीट लम्बी ग्लास की टनल है . इसके अलावा यहाँ ऐसी जगह भी है जहाँ बच्चे मछलियों को छू सकते हैं . आप यहाँ पूरा दिन आराम से गुजार सकते हैं .
  • आप ओवालेकर वाड़ी बटरफ्लाई गार्डन भी जा सकते हैं जो की ठाणे में घोद्बुंदर रोड पर स्थित है . ये सुबह सुबह 8 बजे से ही खुल जाता है .
  • निर्वाण पार्क, पोवई में आप अपने बच्चे के साथ एक शांत और स्वास्थ्य रूप से घूम सकते हैं . आप चेरी ब्लॉसम के पौधों के बगीचों के बीच घुमने का आनंद उठा सकते हैं .
  • एक शाम आप महेश्वरी उद्यान में भी गुजार सकते हैं . वहां घूमते हुए आप आइसक्रीम खा सकते हैं कबूतरों को दाना डाल सकते हैं .
  • अगर आप कुछ घुमने के मूड में हैं तो बांद्रा के लेन को ट्राय करें . यहाँ के बंगलों के पास कई तरह के पौधे और फूल होते हैं जिन्हें आप अपने स्क्रैपबुक में भी इस्तेमाल कर सकते हैं .

ये समय है अपने बच्चे के साथ शहर घुमने का . तो चलिए तैयार हो जाइए .

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें  

HindiIndusaparent.com   द्वारा ऐसी ही और जानकारी और अपडेट्स  के लिए  हमें Facebook पर  Like करें   

Any views or opinions expressed in this article are personal and belong solely to the author; and do not represent those of theAsianparent or its clients.