5 बातें जो हर पत्नी अपने पति से सुनना चाहती है

मेरे लिए बड़ी बड़ी नहीं छोटी बातें मायने रखती हैं जो वो मुझे बोले और मेरा बस दिन बन जाए, दिन क्या महीना बन जाए। यहां कुछ और भी ऐसी ही बातें हैं।

मुझे नहीं पता कि पति मंगल ग्रह से आते हैं या पत्नियां शुक्र से। लेकिन मुझे ये पता है कि दोनों एक दूसरे से काफी अलग होते हैं, जो पति को पसंद आता पत्नियों को नहीं। मुझे इतना पता है कि अगर मैं हल्के पीले रंग को पसंद कर रही हूं तो मेरे पति पहले गहरे हरे रंग के लिए अपना मन बना चुके होंगे। क्या इसका ये मतलब है कि आप दोनों बेमेल हैं?नहीं इसका मतलब है कि दो अलग अलग पसंद के लोग हैं।

अब हम अलग अलग पसंद के साथ तो पूरी जिंदगी रह सकते हैं लेकिन फिर भी कई चीजें हैं जो हम चाहते हैं कि पति ध्यान में रखें। और ये बातें अलग अलग सोच से जुड़ी नहीं है। ये बहुत ही साधारण, बिना किसी को नुकसान पहुंचाए और सस्ती (या मुफ्त)  चीजें हैं जो काश वो याद रखें और करें। मेरे लिए बड़ी बड़ी नहीं छोटी बातें मायने रखती हैं जो वो मुझे बोले और मेरा बस दिन बन जाए, दिन क्या महीना बन जाए। यहां कुछ और भी ऐसी ही बातें हैं।

1. मुझे जब चाहो कॉल करो: ज्यादातर समय मैं कॉल नहीं करती कि तुम घर कब आकर खाना बनाओगे। तुम तो ये सब करते भी नहीं। मैं ज्यादातर अपनी बेटी और डॉगी और कामकाज में उलझी रहती हूं जो कभी मेरा पीछा नहीं छोड़ते। मुझे सिर्फ चाहिए कि तुम मेरी बातें सुनो जो दिन भर अपनी बेटी, डॉगी और साफ सफाई में व्यस्त रहती है।

तो मुझे ये बोलने के बजाय कि मैं काम कर रहा हूं, क्या ये बाद में करें? ये बोलना कैसा रहेगा कि कोई बात नहीं, मैं समझ सकता हूं, जब भी मन करे मुझे कॉल करो। मेरा विश्वास करो मैं तुम्हें कभी भी कॉल नहीं करूंगी। मुझे पता है कि तुम काम में व्यस्त हो। लेकिन प्लीज समझो कि मैं भी व्यस्त रहती हूं और अगर मैं कॉल कर रही हूं तो कुछ कारण अवश्य होगा।

 

2. बिना बच्चों के वेकेशन पर चले, मैं प्लान करूंगा: ये बात कई मायनों में बहुत ही अच्छी है। सबसे पहले तुमने समझा तो कि हमें एक ब्रेक की जरूरत है। तुमने बिना बच्चों के इतने कठिन प्लान के बारे में सोचा और खुद ही प्लान करके तो तुम टॉप हो गए। ये सही मायनो में शब्दों का जादुई तालमेल है। ये हमारी 10 साल की शादी के लिए भी बहुत ही अच्छा रहेगा।

3. बाहर नाइट आउट के लिए दोस्तों के साथ जाओ..मैं बच्चे और डॉगी  की केयर करूंगा:  मैं भी दोस्तों से मिलना, कॉफी पर जाना, नाइट आउट को मिस करती हूं।लेकिन ये मेरे ऑप्शन में कभी नहीं होता है। क्या तुमने कभी खुद जिम्मेदारी ली कि मैं टेंशन फ्री होकर जा सकूं और बच्चो की चिंता ना करूं। 

4. तुम्हारा दिन व्यस्त रहता है..क्या मैं कुछ मदद करूं:  ये सच्चाई है कि तुम्हें पता है कि मैं दिन भर कितना व्यस्त रहती हूं और पूरा दिन घिरनी की तरह घूमते रहती हूं। क्या तुम कभी काम काज में मदद करने की सोचते हो? *Choked*! क्योंकि तुम एक पुरूष हो । असल में मेरे हर रोज घर संभालने के संघर्ष के बारे में तुम्हें पता है कि मैं क्या क्या करती हूं।

5. तुम अद्भुत हो! मुझे पता है कि मैं अद्भुत हूं। मुझे पता है कि मैं सुपरवुमन हूं लेकिन जिससे मैंने प्यार किया और शादी की वो अगर ये बात बोले तो एक अलग ही एहसास होता है। ये मायने नहीं रखता कि औरत कितनी कॉन्फिडेंट है लेकिन अपने पति से मिलने वाले कॉम्पिलिमेंट की बात ही कुछ और होती है।

बहुत ही सिंपल है कि मैं ये सब चाहती हूं..हैं ना? क्यों ना आप भी एक समझदार पति कि तरह इन बातों में विश्वास करें और अपनी पत्नी को बोलें। आपकी आत्मसंतुष्ट पत्नी है जो पूरी जिंदगी आपके साथ है।

अगर आपके पास कोई सवाल या रेसिपी है तो कमेंट सेक्शन में जरूर शेयर करें।

Source: theindusparent