5 चीजें जो मैं मां बनने के बाद भी करना नहीं छोड़ूंगी...

lead image

ये जरुरी है कि हम खुद के लिए समय निकालें और वो करें जो हमें करना पसंद है

इस बात को आप भी मानेंगी हमारे देश में मांओं पर अच्छा परफॉर्म करने का काफी ज्यादा दवाब होता है और वो त्याग की देवी बनकर रह जाती है। वो अपने बच्चों और परिवार को हर चीज से उपर रखती हैं।

आज के समय में ये गलत है जब महिलाएं भी पुरुषों जितना ही कंधे से कंधा मिलाकर काम करती हैं और अपना सौ प्रतिशत देती हैं। वो भी घर के लिए कमाती हैं। शादी करना और बच्चे होने का मतलब ये नहीं होता कि आपकी जिंदगी बेबी और परिवार के फंक्शन में निकले। हर एक मां औरत पहले होती है और जिंदगी के बाकी किरदार बाद में निभाती है।

ये जरुरी है कि हम खुद के लिए समय निकालें और वो करें जो हमें करना पसंद है। वो काम जिससे हमारी अपनी पहचान है इसलिए मैंने सोचा कि मैं कुछ चीजें कभी करना बंद नहीं करुंगी।

1. अपने शौक नहीं छोड़ूंगी

मुझे डांस करना पसंद है लेकिन दसवीं में मुझे पढ़ाई के प्रेशर के कारण ये छोड़ना पड़ा। अब मैं अपनी जिंदगी में थोड़ा सेटल हो गई हूं और मैंने अपने शौक को फिर से शुरू किया है। पिछले साल से मैंने कत्थक क्लास जा रही हूं और अभी सेकेंड ईयर में हूं। कत्थक के अभ्यास से ना सिर्फ मैं तनाव मुक्त बल्कि अनुशासित और फोकस्ड भी हो रही हूं।

सबसे अच्छी बात ये है कि अब मेरी बेटी भी कत्थक क्लास में मुझे कंपनी देती हैं और उसे भी कत्थक काफी पसंद है। इसे देखकर मेरी खुशी दुगनी हो गई। मेरी तरह अगर आपका भी कोई शौक है तो उसे मरने मत दीजिए। अपने शौक को पूरा करने से आपको आंतरिक खुशी मिलेगी।

2.मैं अपने करियर और सपने नहीं छोडूंगी

एक मां होने का मतलब ये नहीं होता कि आप सबकुछ ताक पर रखकर बेबी को अपना 24*7 दें। महिलाओं को समझना होगा कि एक मां, पत्नी, बेटी, बहु के अलावा भी उनकी पहचान है। मैं काम करती हूं और कुछ समय के लिए अपनी बेटी को डे केयर में छोड़ती हूं ताकि मैं अपने सपने पूरे कर सकूं और ये जितना मुश्किल दिखता है उतना है नहीं आप मेरा विश्वास कीजिए।

src=http://www.theindusparent.com/wp content/uploads/2016/05/Modern Indian Woman 2.jpg 5 चीजें जो मैं मां बनने के बाद भी करना नहीं छोड़ूंगी...

इसके अलावा मेरी बेटी भी अपने उम्र के बच्चों के साथ इंज्वॉय करती है बजाय कि घर में बैठकर टीवी देखे। उसे काफी सारी नई चीजों के बारे में पता चलता है। नए नए लोगों से मिलने के कारण वो कॉन्फिडेंट और सामाजिक भी है। मुझे इस बात का पछतावा नहीं है कि मैं उसे डे केयर में छोड़ती हूं क्योंकि इससे उसे भी फायदा मिल रहा है और मैं भी एक मां होने के साथ साथ अपने अपने करियर पर ध्यान दे रही हूं।

3. मैं अपने दोस्तों से दूर नहीं जाउंगी

कई औरतें शादी और बच्चों के बाद स्कूल कॉलेज के दोस्तों से धीरे धीरे दूर होती जाती हैं। दोस्तों का साथ आपको ना सिर्फ खुश करता है बल्कि दोस्त आपकी कई समस्याओं का हल भी खोज निकालते हैं। उनके साथ अपनी बातें शेयर करने से आप भी तनाव मुक्त महसूस करेंगी।

4. मैं तैयार होना नहीं छोड़ छोडूंगी

मुझे अच्छे अच्छे कपड़े पहनना, तैयार होना पसंद है। सिर्फ इसलिए कि मैं शादी शुदा हूं मां हूं मैं अपना ये शौक नहीं छोड़ सकती। कई लोग कहते हैं कि तुम्हें तैयार होने का और खुद को खुश रखने का समय कैसे मिल जाता है। आप खुद के लिए तैयार होइए और खुद को खुश रखिए। जो भी नया फैशन है उसे अपनाइए। शॉपिंग कीजिए और जो नया स्टाइल है उसे देखिए। ये सब करने से आपको कोई नहीं रोक सकता।

आप अपनी खुशी के लिए तैयार होइए चाहे वो पीटीएम या दोस्तों के साथ पार्टी हो। कौन अच्छे अच्छे कॉम्पिलिमेंट नहीं चाहता..है ना?

5. सेहत से कोई समझौता नहीं

आखिरकार, परिवार की जिम्मेदारी होने के नाते मांओं को अपनी फिटनेस पर पूरा ध्यान देना चाहिए ताकि आप हेल्दी रहें। मैं कोशिश करती हूं कि मैं अपना व्यायाम और हेल्दी डाइट कभी ना छोड़ूं। ये वजन कम या खूबसूरत दिखने के लिए नहीं बल्कि फिटनेस के लिए जरुरी है। याद रखिए कोई और आपका ख्याल तब तक नहीं रख सकता जब तक आप खुद अपना ख्याल नहीं रखेंगी।

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें | 

Source: theindusparent