5 इंडियन ब्रेकफास्ट जो आपके बच्चे के लिए बिल्कुल भी नहीं है हेल्दी

5 इंडियन ब्रेकफास्ट जो आपके बच्चे के लिए बिल्कुल भी नहीं है हेल्दी

हम अपने भारतीय पारंपरिक नाश्तों को काफी ज्यादा पसंद करते हैं। लेकिन इनमें से ज्यादातर काफी तेल में बने तले भुने होते हैं।

हम सभी जानते हैं कि सुबह का नाश्ता कितना जरूरी है। सुबह में नाश्ता अच्छे से करने से पूरा दिन आप ऊर्जावान महसूस करते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि ज्यादातर भारतीय ब्रेकफास्ट हेल्दी नहीं होते हैं।

हम अपने भारतीय पारंपरिक नाश्तों को काफी ज्यादा पसंद करते हैं। लेकिन इनमें से ज्यादातर काफी तेल में बने तले भुने होते हैं। आपको ये जानकर भी हैरानी होगी कि इनमें से ज्यादातर ब्रेकफास्ट हम बच्चों को खिलाते हैं।

तो अगर आप ये सोच रहे हैं कि हम किन ब्रेकफास्ट की बात कर रहे हैं तो यहां डालिए एक नजर की इन्हें आप बच्चों को खिलाना छोड़ सकते हैं।  

1. Cereals

cereals-copy

भले आपको विज्ञापन मे ये दिखने में काफी हेल्दी दिखें लेकिन पैक किए सीरियल्स हेल्दी नहीं होते हैं। इसमें चीनी और नमक की मात्रा अधिक होती है और कुछ भी इसमें फ्रेश नहीं होता। इसलिए इसमें जो भी अनाज इस्तेमाल किए जाते हैं उनकी पौष्टिकता खत्म हो जाती है।

भले ये आपको बाहर से दिखने में काफी हेल्दी लगें लेकिन असल में ये हेल्दी नहीं होते। इसलिए बच्चे को सुबह में ताजे फल और दूध पीने दें। उबला हुआ अंडा दें। ये बिल्कुल भी नुकसान नहीं करता और दिन की शुरूआत के लिए परफेक्ट है।

2. पराठा

parantha

आप भी मानेंगे कि ज्यादातर भारतीय पराठा खाना पसंद करते हैं। खासकर अगर ये भरा हुआ पराठा मक्खन के साथ हो। लेकिन सच्चाई ये है कि ये काफी भुना हुआ होता है इसलिए ये हेल्दी नहीं है।

ये अच्छे विकल्प तब हैं अगर आप सब्जियां खाए लेकिन वो ज्यादा तले ना हो वरना ये बहुत वसा युक्त हो जाते हैं। लेकिन इसका ये मतलब नहीं कि आप पराठा खाना छोड़ दें। इसे हेल्दी बनाने के भी कई उपाय हैं।

जैसे मैदे का पराठा ना खाएं (अगर आप करते हैं ) आप आटा, ज्वार, रागी, बाजरे के आटे का पराठा बनाएं। भूने सब्जियों का पराठा नहीं बल्कि उबले सब्जियों के पराठे बनाएं और हल्के तेल में बनाएं। दही  साथ खाएं ये काफी हेल्दी ब्रेकफास्ट होगा। दही से पाचन प्रक्रिया सही होती है और कम तेल में बच्चों पर बुरा असर नहीं पड़ेगा।

3. मेदु वड़ा सांभर

vada-copy

सांभर खाना कोई बुरी बात नहीं है लेकिन अधिक तले मेदु वड़े को जितना जल्दी हो सके खाना छोड़ें। ज्यादातर साउथ के घरों में ये ब्रेकफास्ट बनता है लेकिन जिस दाल के साथ ये बनता है वो फायदेमंद नहीं होता।

तले होने के कारण ये वैसे भी काफी नुकसान पहुंचाता है और मत भूलिए कि इसके साथ बनाए जाने वाली चटनी और सांभप वड़ा के साथ शरीर में अधिक कैलोरी बढ़ाती है। इसलिए बेस्ट है कि वड़ा की जगह इडली खाना शुरू करें।

4. ब्रेड मक्खन टोस्ट

toast-copy

हम सभी को ब्रेड मक्खन और टोस्ट अच्छा लगता है? ये भी बिल्कुल भी सुबह का हेल्दी नाश्ता नहीं होता है। टोस्ट में कार्बोहाइड्रेट अधिक होता है और साथ ही मक्खन भी लेकिन न्युट्रिशन बिल्कुल भी नहीं होता।

अगर आपने गौर किया होगा तो ज्यादातर ब्रेड मक्खन इतना ज्यादा प्रोसेस्ड होता है कि उसे पचा पाना बहुत मुश्किल होता है।

ये दोनों भी काफी अनहेल्दी कॉम्बिनेशन होता है। ताजी सब्जियां पेट के लिए सबसे अच्छी मानी जाती हैं। आप सब्जियों की सैंडविच बना सकती हैं या फिर सब्जियों के साथ पोहा।

5. पूरी सब्जी

puri-sabzi

ज्यादातर घरों में पूरी सब्जी सबसे ज्यादा चाव से खाई जाती है। मम्मियों को खासकर लंच में पूरी सब्जी देना अच्छा लगता है। जब तक आप इसे रोज ना खाएं आपको ये रोज खाना काफी महंगा पड़ जाता है। पूरी भी काफी डीप फ्राई होता है और सब्जियों में भी तेल होता है। आप पूरी सब्जी की जगह चपाती खा सकते हैं। आप पोहा, उपमा भी इसकी जगह से खा सकते हैं।

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें | 

Source: theindusparent

Any views or opinions expressed in this article are personal and belong solely to the author; and do not represent those of theAsianparent or its clients.

Written by

Deepshikha Punj