भारतीय मूल की बच्ची ने सिर्फ अपनी बात साबित कर दिखने के लिए, मेनसा IQ टेस्ट में 162/162 स्कोर हासिल कर दिखाया !

मुंबई में जन्मी कश्मी वाही (11), ने वो हासिल कर लिया है जो कल्पना से भी पर है अकल्पनीय हासिल की है। वह हाल ही में कश्मी ने मेनसा IQ test में 162/162 के शीर्ष संभव स्कोर हासिल कर लिया।

इस स्कोर के साथ, ब्रिटेन स्थित वाही अब देश के प्रतिभाशाली व्यक्तियों के शीर्ष प्रतिशत के बीच में एक जगह सुरक्षित कर लिया है। अब वह वैज्ञानिकों स्टीफन हॉकिंग और अल्बर्ट आइंस्टीन की लीग में है।

इंडिया टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, वही ने अपने आई पैड पर इंटरनेट ब्राउज़िंग करते हुए हासिल थर्ड मेनसा परीक्षण पर फिसल गयी । यह एक अंतरराष्ट्रीय मूल्यांकन परीक्षा है जो कठिनाई के अपने उच्च स्तर के लिए जाना जाता है जिसमें 150 सवाल होते हैं , जो पाठ के ज़रिये भुधिमत्ता को परखता है ।
जाहिरा तौर पर, वाही, अपने माता-पिता, विकास और पूजा वाही करने के लिए एक बात साबित करना चाहता था, जोकि ब्रिटेन में बसे आई टी प्रोफेशनल्स हैं । सुचना के अनुसार , वही ने ऐसा इसलिए किया ताकि उसके उसके माता पिता बार बार उस पर ज़्यादा समय तक बैठ कर सिर्फ पढाई करने का दबाव न बनाएं ।
हालांकि, वाही की कहानी प्रेरणादायक है, लेकिन साथ ही ये बात को भी दर्शाती है की अभी भी कई भारतीय माता-पिता आज भी अपने बच्चों के कैरियर के विकल्पों के बारे में चिंतित हैं।

अगर आप भी अपने बच्चे की शैक्षणिक प्रदर्शन के बारे में चिंता करने वाले उन माता-पिता में से एक हैं तो हम आपको ये आर्टिकल ज़रूर पढ़ना चाहिए जिससे आप आपने बच्चों की मनोरंजक तरीको से पढ़ने और समझने में सहायता कर सकते हैं ।
(image courtesy : इंडिया टाइम्स)

क्या आप  भी अपने  बच्चों के लिए सही कैरियर के बारे में फैसला करने के बारे में क्या सोचते हैं ?  तो इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार  नीचे दिए कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें  ।

HindiIndusparent.com  द्वारा ऐसी ही और जानकारी और अपडेट्स  के लिए  हमें  Facebook पर  Like करें