स्टेपमॉम प्रिया सचदेव ने करिश्मा कपूर के बच्चों के साथ पापा संजय कपूर की तस्वीरें की शेयर!

lead image

करिश्मा कपूर के बच्चे अपने पापा के साथ अक्सर घूमते फिरते नजर आते हैं। शायद करिश्मा कपूर अपनी खास दोस्त मलाइका अरोड़ा को फॉलो कर रही हैं और सुनिश्चित करते हैं कि तलाक का भावनात्मक असर बच्चों पर ना पड़ें।

तलाक लेने वाले ज्यादातर कपल्स की कोशिश होती है कि अलगाव का असर उनके बच्चों पर ना पड़े।करिश्मा कपूर के बच्चों के केस में भी यही बात लागू होती है जो अक्सर अपने पापा के साथ आजकल समय बिताते नजर आते हैं।

अपनी खास दोस्त मलाइका अरोड़ा के कदमों को फॉलो करते हुए करिश्मा कपूर भी इस बात का खास ख्याल रखती हैं कि उनका और उनके पूर्व पति का तलाक का भावनात्मक असर बच्चों पर ना पड़े। इसलिए करिश्मा कपूर अपने पति संजय कपूर के साथ साथ अक्सर नजर आती हैं ताकि उनके बच्चे सुरक्षित महसूस करें और पिता का प्यार पा सकें।

पिता संजय कपूर के साथ समय बिता रहे करिश्मा कपूर के बच्चे


करिश्मा कपूर के तलाक लेने की प्रक्रिया काफी जटिल थी, चीजें फाइनल होने के बाद थोड़ी बदल गई थी। रिपोर्ट्स के अनुसार दोनों बच्चे समायरा और कियान अपने पापा संजय कपूर के साथ अधिक से समय बिता रहे हैं।
संजय कपूर ने हाल में ही एक्स-मॉडल प्रिया सचदेव से शादी की और इस कुछ दिनों पहले ही संजय कपूर के बच्चे दिल्ली में थे इसलिए प्रिया ने इस मौके का फायदा उठाते हुए बच्चों की पापा संजय कपूर के साथ कुछ तस्वीरें शेयर की।

आप भी देखिए प्रिया सचदेव द्वारा इंस्टाग्राम पर शेयर की गई तस्वीरें:

सबसे ज्यादा ध्यान देने वाली बात ये है कि दोनों बच्चे समायरा और कियान बड़े हो गए हैं। समायरा जहां एक ओर बिल्कुल यंग लेडी लगती हैं तो वहीं कियान सूट में बहुत ही अच्छे लगते हैं।

 

A post shared by BOLLYHOLICS (@bollyholics__) on

ये देखना काफी अच्छा है कि संजय कपूर और करिश्मा कपूर बतौर परिवार की तरह रहने की कोशिश कर रहे हैं। हाल में ये एक्स-कपल साथ में अपने बेटे कियान के साथ लंच करते भी नजर आए थे।

 

A post shared by BOLLYHOLICS (@bollyholics__) on

तलाक के बाद सह-पैरेंटिग के तीन नियम

को-पैरेंटिंग काफी चुनौतीपूर्ण भी हो सकती है, हालांकि इन नियमों को फॉलो कर आप आसानी से को-पैरेंटिंग कर सकते हैं।  

  1. अच्छे से प्लान करें: अच्छे से प्लान करने के लिए संचार का होना बहुत ही महत्वपूर्ण है। इससे आपको ये फैसला लेने में मदद मिलेगी कि आप तलाक के बाद एक परिवार की तरह कैसे समय बिताएंगे।
  2. एक दूसरे का आदर करें:  अपने बीच की खटास का असर कभी भी बच्चों पर ना पड़ने  दें।अपने पार्टनर की इज्जत करें और एक दूसरे के सद्भावना भरा माहौल बनाए रखें और विनम्रता के साथ पेश आएं।
  3. अपने एक्स से सीधे बात करें:   अपने बच्चों को अपने और पार्टनर के बीच संदेशवाहक ना बनने दें। हमेशा अपने एक्स से खुद ही बात करें। इससे नकारात्मकता नहीं आएगी।