सुहाना-अबराम की ये तस्वीर भाई-बहनों के उम्र के अंतर पर क्या कुछ कहती है..

lead image

उनका जो प्यार है वो मातृत्व से भरा है, स्नेह और आलिंगन जो सुहाना अबराम को इस तस्वीर में देते नजर आ रही हैं वो दिखाता है कि एक बड़ी बहन कैसे एक छोटे बेबी भाई-बहन का ख्याल रख सकती है।

अभी हाल में अबराम के जन्मदिन पर शाहरुख खान की पत्नी गौरी ने अपने दो बच्चों सुहाना और अबराम की तस्वीर इंस्टाग्राम पर पोस्ट की थी और इसका कैप्शन डाला था: Gemini Gorgeousness. उनके दोनों बच्चे एक राशी के हैं इसलिए उन्होंने ये कैप्शन डाला था।

अगर आप ध्यान से इस तस्वीर को देखेंगे तो पाएंगे कि ये प्यारी सी तस्वीर सिर्फ एक भाई-बहन की तस्वीर नहीं है। उनका जो प्यार है वो मातृत्व से भरा है, स्नेह और आलिंगन जो सुहाना अबराम को इस तस्वीर में देते नजर आ रही हैं वो दिखाता है कि एक बड़ी बहन कैसे एक छोटे बेबी भाई-बहन का ख्याल रख सकती है।

और आप अबराम के एक्सप्रेशन को मिस नहीं कर सकते, वो भी अपनी बड़ी बहन की कंपनी को इंज्वॉय कर रहे हैं।

इस तस्वीर में कई तरह के इमोशन बयां हो रही है जो बताते हैं कि क्यों भाई बहनों के बीच अधिक उम्र का अंतर बच्चे और पैरेंट्स के बीच भी काफी अच्छा होता है। सुहाना 17 साल की हैं और सुहाना और अबराम के बीच 13 साल का अंतर है। अबराम हाल में ही 4 साल के हुए हैं।

ऐसा लगता है कि दोनों भाई बहन इस उम्र के अंतर को बखूबी इंज्वॉय कर रहे हैं। वहीं दूसरी ओर कई बार सुहाना और बड़े भाई आर्यन मम्मी गौरी को ब्रेक देकर अबराम का ख्याल रखते और अपने छोटे भाई के साथ क्वालिटी टाइम बिताते नजर आ चुके हैं।

भाई-बहनों के बीच आइडल उम्र का अंतर

ये उदाहरण भारत की उस अवधारणा को गलत साबित करता है कि बच्चों के बीच अधिक उम्र का अंतर अच्छा नहीं होता है। बल्कि ये दिखाता है कि अधिक उम्र का अंतर होने पर बच्चे एक दूसके से बहुत कुछ सीख सकते हैं और सीखा सकते हैं।

इसलिए अगर आपका भी बच्चा बड़ा है और आप ये सोच रहे हैं कि दूसरे बेबी के लिए अब काफी देर हो चुकी है तो एक बार फिर सोच लीजिए। कई ऐसी मनोवैज्ञानिक बातें हैं जो बताती हैं कि अधिक अंतर होना बिल्कुल भी गलत नहीं है। यहां इसके कुछ कारण हम आपको बता रहे हैं..

 

a clear and effective picture....fine arts collectively. [email protected]

A post shared by Gauri Khan (@gaurikhan) on

1. कम उम्र के अंतर में नजदीकी या अधिक उम्र में दूरी:

सबसे कॉमन कारण जो आपने सुना होगा कि बच्चों में एक दूसरे की कंपनी में बड़े होते हैं तो उनके अपने फायदे हैं। पुराने कपड़े शेयर करना कंफर्ट के हिसाब से बहुत अतिश्योक्ति लगती है। मेरे कहने का मतलब  कि किसको बच्चे सिर्फ इसलिए होते हैं कि वो अपने बड़े भाई बहन के छोटे हुए कपड़े पहन सकें।

फिजिशियन के अनुसार एक साथ बड़े होने पर उनके और मां के हेल्थ के लिए खतरा हो सकता है। एक औरत के शरीर को पहली प्रेग्नेंसी के बाद रिकवर करने में काफी समय लग सकता है। कुछ रिर्सच के अनुसार पहली प्रेग्नेंसी के कुछ सालों के अंदर प्रेग्नेंसी के दौरान एनिमिया होने की बहुत संभावना होती है।साथ ही ये भी सच्चाई है कि बेबी के आने से काफी थकावट, नींद ना पूरा होना , अच्छे से आराम ना कर पाने के कारण शरीर दूसरी बार प्रेग्नेंसी के लिए तैयार नहीं रहता है।

2. नया दृष्टिकोण :

कुछ रिर्सच के अनुसार एक बार जब डाइपर ड्यूटी, पॉटी ट्रेनिंग, अच्छे से स्तनपान करा पाने में नाकामयाबी, इन सबको तुरंत देखने के बाद छोटे बेबी का पालन पोषण करने का इरादा आप कर सकती हैं। साथ ही जब आपके बच्चों के बीच कम उम्र का अंतर होता है तो आपको दोनों को समय देना पड़ता है क्योंकि दोनों की डिमांड भी लगभग एक जैसे होते हैं।

एक बड़ा या भाई या बहन इस केस में आपको बचा सकता है। उन माओं से पूछिए जिनके पास ये सुविधा है कि वो अपने बेबी को टीनएजर बच्चे के साथ पार्क भेज सकती है और शांति से राज का खाना बना सकती है।

3. भाई बहन में झगड़ा नहीं सिर्फ प्यार:

बच्चों में अगर कम उम्र का अंतर हो तो उनमें झगड़ा होना बहुत ही कॉमन बात है। उनमें किसी बात को लेकर जलन,प्रतियोगिता हो सकती है। लेकिन पहले से अगर घर में बड़ा बच्चा है तो ज्यादा उम्मीद रहती है कि उनके अंदर भी अपने छोटे भाई बहन के लिए ममता अधिक रहेगी।

बड़े बच्चे परिपक्व होते हैं और वो नए बेबी के आने से डरते नहीं है। उन्हें नए बेबी को अधिक अटेंशन मिलने से समस्या नहीं होती।बल्कि वो पैरेंट्स की जिम्मेदारियों को शेयर भी करते हैं।

4. अधिक क्वालिटी टाइम:

दो बच्चे अलग अलग उम्र के बच्चे होने से आप अधिक क्वालिटी टाइम छोटे बेबी के साथ बिता पाती हैं। आपको अलग से प्लेग्रुप प्लान करने की जरूरत नहीं पड़ती। आपके पास खुद कई कहानियां होती हैं। पार्क लेकर जाना हो ऐसे ही घर में साथ में मस्ती करना सब आसान हो जाता है। यहां तक कि आपके बड़े बच्चे भी पढ़ने या गाने में आपको ज्वाइन कर सकते हैं।

5. करियर के लिहाज से :

कुछ महिलाओं पहले बेबी के बाद वापस आराम से ऑफिस ज्वाइन कर लेती है। लेकिन दूसरे बेबी के आने से पहले वो खुद को अच्छे स्थान पर पहुंचाना चाहती हैं।

करियर में एक लंबा ब्रेक लेने के बाद एक समय पर फिर यही करना अधिक संतोषप्रद जरूरी नहीं की हो। हालांकि बहुत कुछ प्रोफेशन और आप किस लेवल पर आपने पहला ब्रेक लिया था इसपर भी निर्भर करता है।  

6. हेल्थ अलर्ट:

अपने पर्सनल और सामाजिक कारणों को छोड़ दें तो डॉक्टर भी पहले हेल्थ देखने को ध्यान में रखने की सलाह देते हैं। दूसरे बेबी के लिए असल में कितना इंतजार कर सकती हैं या आपका शरीर तैयार है ये डॉक्टर बेहतर बता सकते हैं। पहले की प्रेग्नेंसी के कारण कभी कभी कॉम्पेलिक्शेन भी होते हैं। इसलिए बेहतर यही होगा कि दूसरे बेबी से पहले हमेशा डॉक्टर से मिलें और उनकी राय लें।

अगर आपके पास कोई सवाल या रेसिपी है तो कमेंट सेक्शन में जरूर शेयर करें।

Source: theindusparent