सिर्फ ऐश्वर्या नहीं हमेशा रखती है आराध्या को गोद मे ...ये स्टार भी कर रहीं है कुछ ऐसा

lead image

लेकिन ऐश्वर्या राय सिर्फ अकेली मम्मी नहीं है जो अपनी बेबी को अपने साथ लिए नजर आती हैं

ये तो आप भी मानेंगे कि ऐश्वर्या राय बिना आराध्या के कहीं नहीं जाती और जब भी अपनी बेटी के साथ बाहर निकलती हैं वो आराध्या को गोद मे ले लेती हैं या पूरी तरह से ध्यान रखती हैं कि वो उनके बिल्कुल पास रहे। शायद ही हमने कभी देखा हो कि वो दोनों में एक फीट की भी दूरी रही हो।

लेकिन सिर्फ हम ही नहीं जिसने इस बात पर ध्यान दिया। हाल में उनसे पूछा भी गया कि वो क्यों आराध्या को गोद में ले लेती हैं। ऐश्वर्या राय ने इसका बेहद इमोशनल जवाब दिया था।

क्यों आराध्या को गोद में लिए दिखती हैं ऐश्वर्या!

ऐश्वर्या राय ने कहा कि अधिकतर समय उसका अच्छा मूड रहता है। लेकिन कभी कभी जैसे कान्स 2016 से वापस लौटने के दौरान “हमलोग चलते हुए आगे बढ़ रहे थे और काफी अच्छे मूड में भी थे जबकि उसकी तस्वीरें ली जा रही थीं। वो हंस रही थी और मजेदार बातें कर रही थी लेकिन जैसे जैसे लोग नजदीक आते गए मुझे उसे गोद में लेना पड़ा क्योंकि वो ये सब हैंडल करने के लिए बहुत ही छोटी है। भीड़ के बीच से मुझे निकलना था और ये मेरी बेटी की सुरक्षा के लिहाज से उठाया गया कदम था”। ऐश्वर्या राय ने ये बातें एक लीडिंग डेली से बातचीत के दौरान कही।

 

ऐश्वर्या ने कहा कि “आराध्या लाइमलाइट में जन्म से ही रही है और वो इसकी आदी हो चुकी है लेकिन जब वो लोगों को (फोटोग्राफर) को आते देखी वो उन्हें किसी तरह रोकना चाहती थी इसलिए जमीन पर लेट गई। इसलिए मैनें उसे गोद में उठा लिया। मैं चाहती थी कि आराध्या और बाकी सब भी सुरक्षित रहें।“

लेकिन ऐश्वर्या राय सिर्फ अकेली मम्मी नहीं है जो अपनी बेबी को अपने साथ लिए नजर आती हैं। नई मॉम मीरा राजपूत भी हमेशा अपनी बेटी के साथ नजर आती रहे हैं।  

मीरा चाहे अकेले हो या अपने पति शाहिद कपूर के साथ, वो हमेशा से अपनी बेबी को बहुत ही अच्छे से गोद में लिए रहती हैं। हालांकि वो चाहे तो मदद ले सकती हैं। अभी कल की ही बात है शाहिद कपूर और मीरा राजपूत दोनों ही एयरपोर्ट पर अपने बेबी मीशा के साथ स्पॉट किये गए। मीरा राजपूत और शाहिद कपूर दोनों का ही ध्यान सिर्फ मीशा पर था।

 

A post shared by Shahid'sTurkishFan (@pyarshasha) on

ये असल में कोई बड़ी बात नहीं है अगर आप किसी भी कामकाजी मां से पूछें। लेकिन मीरा की बात अलग है। वो एक स्टार की पत्नी है जिनके पास हर तरह की सुविधा उपलब्ध है कि वो चाहे तो बेबी सीटर रख सकती हैं। लेकिन ये कपल खुद ही अपनी बेटी की देखरेख करना चाहते हैं।

 

शुरूआती महीनों में शाहिद कपूर काफी प्रोटेक्टिव पिता थे। अब मीशा 6 महीने की हो गई हैं और मीरा मीशा को खुद ही संभालती हैं।  

3 कारण क्यों पहले बच्चे को गोद लेने से कतराना नहीं चाहिए

  • वो आपका बच्चा है : एक बात तो पूरी तरह साफ है कि आप पैरेंट्स हैं तो आपको पता होना चाहिए कि कब बच्चे को खेलने दें और कब उसे पकड़े रखना है। अगर आपको लगता है कि फ्री रखना सही नहीं है तो जब तक गोद में या अपने पास रख सकते हैं।
  • ये सुरक्षा के लिए है: अगर आप भीड़भाड़ वाली जगह में हैं तो बच्चे को गोद में रखें। अगर वो एक से दो साल के बीच के हैं तो कैरियर में रख सकते हैं। अगर वो 2 साल से अधिक के हैं तो गोद में लें या हाथ पकड़े रहें। ये तो आप भी मानेंगे कि शहर की जनसंख्या बढ़ती जा रही हो लेकिन इस वजह से आप बच्चे को घर में कैद नहीं रख सकते।
  • तनाव भरे सफर से बचने के लिए:  अगर आपको बच्चों के साथ घुमने की आदत है तो गोद में लेना या ना लेना बहस का मुद्दा नहीं है। लेकिन अगर आप बेबी को लेकर घुमने के आदी नहीं हैं तो तो बच्चों को नजरों से दूर नहीं करें क्योंकि ये पता होना जरूरी है कि वो कहां क्या कर रहे हैं।

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें | 

Source: theindusparent