साबुदाना के साथ करें बेबी के खाने की शुरूआत... जानिए क्यों

lead image

श्री बालाजी एक्शन मेडिकल इंस्टिट्यूट की डॉ प्रिया वर्मा का कहना है कि इसमें भी काफी ज्यादा मात्रा में प्रोटीन, विटामिन K, कैल्शियम, आयरन, पोटैशियम होते हैं जो बच्चों के विकास के लिए काफी जरुरी होते हैं।

सबसे ज्यादा चिंता मम्मियों को तब होती है जब उनका बेबी खाने की शुरूआत करता है। उस समय बेबी का पाचन तंत्र (Digestive System) काफी इमैच्योर होता है ( दांत भी नहीं होते) ऐसे में ये पता करना काफी मुश्किल हो जाता है कि क्या खाना बच्चे के लिए चुने जो बेबी आसानी से खा भी पाए और पचा भी पाए और सबसे बड़ी बात की वो खाना न्यूट्रिशन और विटामिन से भरपूर हो।

सूजी/रवा भी इसका अच्छा विकल्प क्योंकि इसमें विटामिन, कार्बोहाइड्रेट औऱ मिनरल की भरपूर मात्रा होती है। इसके अलावा बेबी के साथ बेबी के लिए साबुदाना भी बेहतर विकल्प आपके लिए हो सकता है क्योंकि ये भी काफी आसानी से बच्चे पचा सकते हैं।

src=https://hindi admin.theindusparent.com/wp content/uploads/sites/10/2017/02/sabu 2 500x332.jpg साबुदाना के साथ करें बेबी के खाने की शुरूआत... जानिए क्यों

श्री बालाजी एक्शन मेडिकल इंस्टिट्यूट की डॉ प्रिया वर्मा का कहना है कि इसमें भी काफी ज्यादा मात्रा में प्रोटीन, विटामिन K, कैल्शियम, आयरन, पोटैशियम होते हैं जो बच्चों के विकास के लिए काफी जरुरी होते हैं। इससे बच्चों की हड्डियों को भी काफी फायदा पहुंचता है। इसलिए ये आपके बेबी के खाने की शुरूआत के लिए काफी अच्छा है।

1. पाचन के लिए सही

बच्चों के लिए सबसे जरूरी है कि ऐसा खाना चुना जाए जो पच आसानी से जाए ना कि बच्चे के पाचन के हिसाब से ये काफी कठोर हो। साबदाना का सबसे बड़ा फायदा है कि ये वैसे भी पाचन के लिए काफी अच्छा माना जाता है। ये खासकर कब्ज, अनपच में फायदा करता है। डॉ वर्मा का कहना है कि साबुदाना आसानी से पच जाता है और कब्ज, गैस,डायरिया जैसी बीमारियों में फायदा करता है। ब्लॉटिंग में भी ये काफी कारगर है जो एक साल तक के बच्चों में आम बात है।

2. कैल्शियम से भरपूर

साबुदाना टैपिओका रुट से बनती है जो जिसमें कैल्शियम, ऑयरन, पोटैशियम और विटामिन K प्रचुर मात्रा में पाई जाती है जो हड्डियों को मजबूत बनाते हैं जो बच्चों के लिए काफी जरुरी होता है।ये उन बच्चों के लिए भी फायदेमंद है जो मम्मी का दूध पीना छोड देते हैं या दूध पीना पसंद नहीं करते।

3. शक्ति का खजाना

टैपिओका में कार्बोहाइडड्रेट भी भरपूर मात्रा में पाई जाती है जो बेबी को चुस्त तंदरुस्त और एनर्जी से भरपूर दिनभर रखती है।

4. वजन बढ़ाने में सहायक

चुंकि साबुदाना टैपिओका रुट से बने होते हैं और इसमें कार्बोहाइड्रेट भी होचे है इसलिए इससे बेबी का वजन भी आसानी से बढ़ता है। बच्चे इसे खाना पसंद भी करते हैं और ये काफी सस्ता भी होता है। जो बच्चे खाने की समस्या से जूझ रहें हैं उनके लिए भी ये बेहतरीन विकल्प है।

5. शरीर ठंढा रखती है

गर्मियों के लिए साबुदाना बहुत ही अच्छा खाना हो सकता है क्योंकि आर्युवेद में भी कहा गया है कि शरीर के तापमान को भी सही बनाए रखती है।

6.मासपेशियों के विकास में सहायक

साबुदाना में प्रोटीन भी पाई जाती है जो मांसपेशियों (Muscles) के विकास औऱ मजबूती के लिए सही होती है। साबुदाना सेल रिपेयर भी करती है जिससे सेल्युलर फंक्शन अच्छे से होते हैं।

7.बेबी का पेट भरा रहेगा और तृप्ति मिलेगा

बच्चों का खाने में न्यूट्रिटेंट होना चाहिए जिससे बच्चों का पेट भरा रहेगा। साबुदना पचने में थोड़ा समय लगता है इसलिए ये बच्चों को पेट भी भरा रहेगा।

कैसे दें साबुदाना

बच्चों को 6 महे हो जाने के बाद आप साबुदाना देना शुरू कर सकती हैं लेकिन इस बात का ख्याल रखें कि एक बार एक ही नया खाना दे और बहुत कम मात्रा में दे।सात-आठ महीनों के बच्चों के लिए 2-3 चम्मच ही काफी है। जिससे आपको पता चलेगा कि बेबी ये पसंद कर रहा है औऱ पचा पा रहा है कि नहीं।

टेस्टी रेसिपी जो आप भी बना सकती हैं

src=https://hindi admin.theindusparent.com/wp content/uploads/sites/10/2017/02/sabu3 nn.jpg साबुदाना के साथ करें बेबी के खाने की शुरूआत... जानिए क्यों

साबुदाना की सबसे अच्छी खासियत है कि आप इसे कई तरीकों से बना सकती हैं। साबुदना बड़ा और साबुदाना खिचड़ी। वड़ा काफी टेस्टी तो होता है लेकिन बेबी को नहीं देना चाहिए क्योंकि ये तला हुआ होता है।हम आपको दो आसान तरीके रेसिपी बता रहे हैं जो आप बना सकती हैं।

  • साबुदना खीर : साबुदाना को अच्छे से धो लें और रात भर के लिए पानी में छोड़ दें। बर्तन में दूध गर्म करें जिसमें आप थोड़ा पानी मिला सकती हैं और साबुदाना को डालें और अच्छे से चलाएं। इसमें आप चाहें तो चीनी भी मिला सकती हैं।
  • साबुदाना खिचड़ी : साबुदाना को रात भीर पानी में छोड़ दें। पैन में थोड़ा सा घी, एक चुटकी हिंग और जीरा डालें। इसमें आप उबले आलू और सब्जियां भी मिला सकती हैं। अब साबुदाना को इसमें मिलाएं और अच्छे से चलाएं।इसमें आप चाहें तो थोड़ा पी भी मिला सकती हैं ताकि बेबी आसानी से खा सके।

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें | 

Source: theindusparent