शिशु के पहले जन्मोत्सव की तैयारी करने से पहले ये ज़रुर पढ़ें...

lead image

ये सिर्फ बच्चे की पहली सालगिरह ही नहीं बल्कि एक ‘माता-पिता’ के तौर पर आपकी भी पहली सालगिरह होती है ।

शिशु के जन्म लेने से लेकर साल भर तक उसे थोड़ा-थोड़ा बढ़ते देखना हर माता-पिता के लिए अनमोल अनुभव  होता है । हम समझ भी नहीं पाते कि कब और कैसे हमारी खुशियों की चाबी उस नन्हे सितारे के हाथ लग जाती है और सुबह से लेकर रात तक हमारा जीवन उनके इर्द-गिर्द ही फलने-फूलने लगता है। शिशु की हर एक बात निराली होती है तभी तो उन्हें भगवान का दर्ज़ा दिया जाता है और हर दिन शिशु के द्वारा मिले नए संकेतों को समझते हुए पैरेंट्स फूले नहीं समाते ।

आपको भी अगर मां होने का सौभाग्य मिला है तो आप मेरी भावनाओं को बख़ूबी महसूस कर सकती हैं । कितना सुखद होता है अपनी संतान के रुप में अपना बचपन देखना, वो मुस्कान, उदासी, उसका पेट के बल लेट जाना, चीजों को पकड़ने की कोशिश, उसका हां या उम्म् बोलना, कई बार मां के बाल खींचना, दांत गड़ाना, खेलना, उनका घुटने के बल घिसकना, और फिर बिना सहारे के खड़ा होना...उनकी हर एक ऐक्टीविटी एक मां के दिल को रोमांचित कर देता है और उल्लास से भर देता है । तभी तो शिशु का पहला जन्मोत्सव हर पैरेंट्स के लिए बेहद ही ख़ास होता है ।

पहले जन्मदिवस का जश्न महज़ एक दिन की खुशियों को संजोने के लिए ही नहीं होता बल्कि साल भर में शिशु के साथ संजोए सुखद मातृत्व के ऐहसास और एक नौसिखिए पिता से बेस्ट डैड बनने के सौहार्द को ज़ाहिर करने का अवसर होता है । ये सिर्फ बच्चे की पहली सालगिरह ही नहीं बल्कि एक ‘माता-पिता’ के तौर पर आपकी भी पहली सालगिरह होती है ।

इस उत्सव में चार चॉंद लगाने के दौरान ध्यान रखने वाली कुछ जरुरी बारीकियों के विषय में जानिए....

पार्टी के टाईम को लेकर सजग रहें-छोटे बच्चे अधिक रात तक नहीं जाग सकते इसलिए आप केक कटिंग शाम होते ही करा लें । अगर शिशु शाम के वक्त क्रैंकी हो जाता है तो आप डे टाईम में भी उसका जन्मदिन सेलिब्रेट कर सकती हैं ।

src=https://hindi admin.theindusparent.com/wp content/uploads/sites/10/2017/11/birthday 2491381 960 720.jpg शिशु के पहले जन्मोत्सव की तैयारी करने से पहले ये ज़रुर पढ़ें...

फोटोग्राफी के लिए बच्चे के प्ले टाईम को चुनें- पहले जन्मदिन पर ली गई तस्वीरें हमेशा के लिए यादगार बन जाती हैं इसलिए जब भी बच्चे का मूड अच्छा हो आप उसकी फोटोग्राफी के लिए तैयार हो जाएं ।

सजावट का काम पहले ही पूरा कर लें-सारा काम समय से पहले पूरा करने से आप हल्का महसूस करेंगी और साथ ही आने वाले मेहमानों के लिए भी आपके पास भरपूर समय बचेगा । अमूमन सजावट के लिए बाहर से कारीगर बुलाना ही सही रहता है ताकि वो प्रोफेशनली आपके घर का मेकओवर कर सकें ।

घर में कैटेरर बुला लें- इससे आप कई व्यंजन बनाने और उसके स्वाद को लेकर चिंतित नहीं रहेंगी साथ ही आपको पार्टी रेडी होने के लिए भरपूर समय भी मिलेगा ।

बर्थडे बेबी के खान-पान को इग्नोर ना करें- पार्टी की तैयारियों के बीच आप शिशु की दिनचर्या को कतई डिस्टर्ब ना करें । उसका पसंदीदा सॉलिड फूड उसे जरुर खिलाएं ताकि पेट भरा रहने पर वो खूब खिलखिला सके ।

दिन में जरुर सुलाएं- दिनचर्या के हिसाब से उसे सुलाना आवश्यक है ताकि वो रिफ्रेश महसूस करे और रात की पार्टी के लिए तैयार हो सके  ।

अनजाने चेहरों के बीच बच्चे को ना छोड़े- शिशु को हर कोई प्यार करना चाहता है लेकिन आज के दिन चूंकि आप शिशु का मूड खराब नहीं करना चाहेंगी इसलिए उसे अनजाने चेहरे के पास छोड़ कर ना जाएं। शिशु जिसके स्पर्श से वाकिफ होते हैं उनके पास ही सुरक्षित महसूस करते हैं .

साथी बच्चों को आमंत्रण दें- आसपास के बच्चे जो आपके शिशु के साथ घुले-मिले हों उन्हें पार्टी में शामिल करना बेशक जरुरी हो जाता है ।

कलरफुल थीम सही रहेगा या कार्टून- पहले जन्मदिन पर पार्टी थीम से बच्चे को कोई खास मतलब नहीं रहता । हालांकि आप लाइट्स, या कलरफुल डेकोरेशन कर के उसे उत्साहित कर सकती हैं । बार्बी गर्ल, मिकी माउस छोटा भीम या फिर डोरेमॉन आदि से संबंधित सजावट आपके अतिथि बच्चों को जरुर पसंद आएगा । वैसे एक ही रंग के पौशाक में हर उम्र के बच्चों के बीच आपके नन्हे सितारे की चमक खिलकर सामने आऐगी  ।

पार्टी के लिए आरामदायक हो ड्रेस- 2 दिन पहले ही कपड़े का चुनाव कर के बच्चे को पहनाकर जांच लें । अगर उसे फैब्रिक से परेशानी हो रही हो या वो रिलैक्स फील ना करें तो अपनी पसंद में बदलाव करें  ।

अगर आप बर्थ डे पार्टी घर से बाहर जाकर मनाने की सोच रही हैं तो इन सब बातों को ध्यान में रखने के साथ साथ आप बेबी का एक बैग जरुर साथ ले जाइए जिसमें उसकी जरुरत का हर एक सामान हो ।