शर्मसार दिल्ली..5 साल की बच्ची ने शिक्षक को दी rape की सूचना...टीचर का रिएक्शन जान चौंक जाएंगे आप

lead image

“मैंने अपनी बेटी को पागलपन के साथ कपड़े धोते देखा"

एक और दिल दहलाने वाला यौन शोषण का मामला सामने आया है। जी हां, दिल्ली के एक स्कूल में पांच साल की बच्ची के साथ चपरासी ने बलात्कार किया। बलात्कारी की शिनाख्त हो चुकी है और उसका नाम विकास बताया जा रहा है। वो दिल्ली के अलग अलग स्कूलों में नौकरी कर चुका है।

इससे अभी भी अधिक चौंकाने वाली बात ये है कि बच्ची तुरंत अपनी टीचर को इस बात की सूचना दी लेकिन टीचर ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। जी हां आपने बिल्कुल सही पढ़ा।

मीडिया से बातचीत में बच्ची की मां ने कहा कि जब उनकी बेटी ने अपनी टीचर से कहा कि विकास ने 'वहां पर' ऊंगली डाली तो टीचर ने कहा कि "मैं उसकी पिटाई करूंगी" और वहां से जाने को कह दिया।

मां को घटना की जानकारी तब मिली जब उन्होंने डरी सहमी बच्ची को खून से सने कपड़े धोते देखा। उन्होंने ये भी नोटिस किया था कि उनकी चंचल बेटी स्कूल से आने के बाद काफी शांत थी।

 
src=https://www.theindusparent.com/wp content/uploads/2017/07/rape lead.jpg शर्मसार दिल्ली..5 साल की बच्ची ने शिक्षक को दी rape की सूचना...टीचर का रिएक्शन जान चौंक जाएंगे आप

हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत में बच्ची की मां ने कहा कि "मैंने अपनी बेटी को कपड़े धोते देखा जो काफी अजीब था इसलिए मैं बाथरूम में गईं। मैं उसके कपड़ो में खून के धब्बे देखे और फ्लोर पर पानी के साथ खून भी था। मैंने चेक किया तो पाया कि उसका रेप हुआ था।"

जब पैरेंट्स बच्ची को हॉस्पिटल में ले गए तो डॉक्टर ने कंफर्म किया कि उसका यौन शोषण हुआ। पीड़िता बच्ची ने पुलिस को बताया कि विकास उसे स्टोर रूम में लेकर गया था जहां उसने इस घटना को अंजाम दिया। 

बच्ची के माता-पिता का कहना है कि फिलहाल उनकी बेटी का लोकनायक अस्पताल में इलाज चल रहा है और वो गहरे सदमे में है।

बच्ची के पिता ने कहा कि "मैं ओवरटाइम कर महीने का 10000 कमाता हूं और 1100 हर अपने बेटी का स्कूल फीस भरता हूं। हमने इस स्कूल को इसलिए चुना क्योंकि इसका हमारे इलाके में अच्छा खासा नाम है।"

उस बच्ची की मां अभी तक सदमे में है और उन्हें विश्वास नहीं हो रहा कि स्कूल कैंपस में ऐसी घटनाएं भी हो सकती है। 

उसकी मां ने बातचीत करते हुए कहा कि "स्कूल बच्चे का दूसरा घर होता है जहां उन्हें सुरक्षित महसूस करना चाहिए लेकिन मेरी बेटी के साथ स्कूल में ऐसा हूआ।"

हम मां से पूरी तरह सहमत हैं कि स्कूल बच्चे का दूसरा घर होता है लेकिन काफी तेजी के साथ स्कूल हमारे देश में बच्चों के लिए असुरक्षित जगह बनते जा रहे हैं।

यहां इस बात का जिक्र करना जरूरी है कि कुछ दिनों पहले ही रेयान इंटरनेशनल स्कूल के 7 वर्षीय छात्र की स्कूल के बाथरूम में हत्या कर दी गई। पिछले महीने मुंबई के एक स्कूल कैंपस में 4 वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ था। 

theindusparent आशा करता है कि भारत सरकार जल्द ही कार्रवाई करते हुए स्कूलों को सुरक्षा बढ़ाने की हिदायत देगी और बच्चे स्कूल में सुरक्षित रहें इसके लिए हरसंभव कदम उठाएगी आखिर वो उनका "दूसरा घर" भी तो है।