रश्मि देसाई का नंदीश के साथ शादी पर चौंकाने वाला खुलासा..सोच में पड़ जाएंगे आप

रश्मि और नंदीश ने तीन साल की बाद ही तलाक ले लिया। उतरन की एक्ट्रेस रश्मि देसाई ने कभी भी अपनी असफल शादी के बारे में बात नहीं की लेकिन अब उन्होंने आखिरकार इस पर बात की और बताया कि उनकी तीन साल की शादी कैसे थी।

आप में से कई लोग उन्हें पॉपुलर सीरियल उतरन की तपस्या के रूप में जानते हैं  लेकिन रश्मि देसाई सिर्फ बबली टेलीविजन स्टार नहीं हैं। उन्होंने ना सिर्फ खुद को एक कलाकार के रूप में साबित किया है बल्कि ऑफ स्क्रीन भी दिखाया कि वो एक फाइटर हैं। जी हां आपने बिल्कुल सही पढ़ा।

नंदीश संधू से 2012 में शादी के बाद दोनों कई मौकों पर साथ नजर आए और खुशहाल पति-पत्नी ही नजर आए। देखकर ऐसा लगता था मानों उनकी जिंदगी बिल्कुल परफेक्ट हो।

लेकिन असल सच्चाई इससे कोसों दूर थी।

रश्मि और नंदीश ने तीन साल की बाद ही तलाक ले लिया। उतरन की एक्ट्रेस रश्मि देसाई ने कभी भी अपनी असफल शादी के बारे में बात नहीं की लेकिन अब उन्होंने आखिरकार इस पर बात की और बताया कि उनकी तीन साल की शादी कैसे थी।

 

A post shared by Rashami Desai (@imrashamidesai) on

एक दैनिक अखबार से रश्मि देसानी ने कहा कि मुझे कभी खुद को या किसी और रिश्ते के बारे में बताने की जरूरत नहीं महसूस हुई - लेकिन कई तरह की अफवाहें उड़ी, मेरे ऊपर कई तरह के आरोप लगे और नंदीश को पाक साफ बताया गया। मुझे पता है कि ये दो लोगों की जिम्मेदारी होती है और मेरा रिलेशनशिप हमेशा अपमानजनक ही रहा।

फिलहाल रश्मि देसाई दिल से दिल तक में नजर आ रही हैं और उन्होंने कहा कि पूर्व पति का पीआर टीम इस तरह की अफवाहें उड़ा रही है।

मुझे हमेशा घर से निकाला जाता

30 वर्षीय रश्मि देसाई ने कहा कि भारतीय मीडिया इसे और भी बदतर बना रही है, वो सिर्फ एक तरफा कहानी लिख रही है। आप साबित क्या करना चाहते हो? ये गलत है। शादी में तीन साल से समस्याएं थी। मैंने क्यों घर छोड़ा? मैंने कभी इसके बारे में बात नहीं की – लेकिन मुझे हमेशा घर से निकाला जाता था। अगर वो अपना 100% देता तो ये चीजें होती ही नहीं ना।

 

A post shared by Rashami Desai (@imrashamidesai) on

रश्मि देसाई मानती हैं उनकी शादी असफल रही लेकिन इसके बारे में वो विस्तार से बात नहीं करना चाहती हैं।

उन्होंने कहा कि मैं खासतौर पर कुछ भी सामने नहीं लाना चाहती लेकिन जो समझने वाले हैं वो समझ जाएंगे।

रश्मि देसाई ने बाद में ये भी कहा कि उन्हें सबसे ज्यादा शॉकिंग लगा कि उनके बारे में काफी गलत बातें बोली गईं।

उन्होंने ये भी कहा कि मैं सच में उससे प्यार करती थी और मेरा मानना है कि रिश्तों को बनाना पड़ता है और अगर आप ये नहीं कर सकते तो अच्छे मोड़ पर इसे खत्म कर दो..मैं अपने घर में कभी इस तरह की चीजें नहीं देखी। मेरे यहां महिलाओं की हमेशा इज्जत की जाती है लेकिन एक समय के बाद तीन साल तक मेरा सिर्फ अनादर हुआ फिर मैंने सोचा कि तुम अपने रास्ते जाओ मैं अपने। इसके बाद भी काफी कुछ हो रहा था इसलिए मैंने इस बारे में बात करना ही सही समझा।

 

A post shared by Rashami Desai (@imrashamidesai) on

//platform.instagram.com/en_US/embeds.js

बदकिस्मती से रश्मि देसाई पहली टेलीविजन एक्ट्रेस नहीं है जो अपनी बुरी शादी को तोड़कर आगे बढ़ी हैं।

पॉपुलर चेहरे जो हुए घरेलू हिंसा के शिकारे

टेलीविजन एक्टर दलजीत कौर, वैष्णवी धनराज, श्वेता तिवारी भी इस स्थिति से गुजर चुकी हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात है कि वो इस दौर से जरूर गुजरीं लेकिन वो आगे बढ़ीं और कइयों को आशा की नई किरण भी दिखाई खासकर वो जो अपनी शादी को जबरदस्ती निभा रहे हैं।

अत्याचार सिर्फ शारीरिक हो ये जरूरी नहीं, ये मौखिक मनौवैज्ञानिक भी हो सकती है। आपको बस करना ये है कि हिम्मत जुटाएं और अपने पार्टनर के खिलाफ आवाज उठाएं और मदद लें।

अत्याचारी पार्टनर के लक्षण

कई लोग होते हैं जो इसके लक्षण देखते हैं लेकिन परिवार की वजह से इसे नजरअंदाज कर देते हैं। हम यहां आपको अपमानजनक पति के कुछ लक्षण बता रहे हैं।

 

  • गुस्सैल स्वभाव: कई लोग होते हैं जिन्हें एक दो बार गुस्सा आ जाता है लेकिन अगर आपके पार्टनर हमेशा गुस्सा करते हैं और हिसांत्मक रवैया अपनाते हैं तो बिना देरी किए मदद लें। ये भी एक लक्षण है कि आपके पति क्रोध प्रबंधन से पीड़ित हों जो आगे जाकर खतरनाक साबित हो सकता है।
  • स्वभाव में जलन: अगर आपके पार्टनर आपकी सफलता से जलते हैं और आपका बाकियों के साथ दोस्ताना रवैया उन्हें अच्छा नहीं लगता है तो ये कतई अच्छे लक्षण नहीं है और आपको इस रिश्ते में मदद की जरूरत है।
  • आपको कंट्रोल करने की कोशिश: अगर आपके पार्टनर आपकी जिंदगी पर कंट्रोल करना चाहते हैं और इस कदर अपने हिसाब से चलाना चाहते हैं कि आप उनकी अनुमति के बिना सांस भी ना ले सकें तो आप अपमानजनक रिश्ते में हैं। ऐसे पार्टनर चाहते हैं कि हर बात में उनकी अनुमति ली जाए और ऐसा ना करने पर वो शारीरिक या मौखिक उत्पीड़न पर उतर आते हैं।