यूरीन इन्फेक्शन से बचने के असरदार घरेलू नुस्खे

lead image

तकरीबन 70 फीसदी महिलाओं में ये समस्या बेहद आम बात है लेकिन इसके कारण कई बार बड़ी कठिनाईयों का सामना करना पड़ सकता है ।

पेशाब के रास्ते में जलन या बार-बार पेशाब करने की इच्छा, रुक-रुक कर यूरीन आना या पेशाब के दौरान ब्लड आना और कमर य पीठ दर्द होना, हल्का बुखार होना, यूरीन से दुर्गंध आना आदि ये सब यूरीन इंफेक्शन के लक्षण हैं । तकरीबन 70 फीसदी महिलाओं में ये समस्या बेहद आम बात है लेकिन इसके कारण कई बार बड़ी कठिनाईयों का सामना करना पड़ सकता है ।

हमारे ब्लाडर में बैक्टीरिया की संख्या अत्यधिक बढ़ जाना संक्रमण को आमंत्रित करता है । इस संक्रमण से किडनी, युरेथ्रा और यूरीनरी ब्लाडर प्रभावित होते हैं ।ये समस्या तब ज्यादा देखने को मिलती है जब हम ट्रेवल कर के लौटते हैं । अलग-अलग जगहों पर टॉयलेट का इस्तेमाल करने से पेशाब में संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है ।

कई बार हमारी आदतों और गंदगी के कारण भी ये संक्रमण होने की संभावना बढ़ जाती है जैसे:

  • पेशाब देर तक रोक कर रखना
  • एक पैड लंबे समय तक यूज़ करना
  • इंटिमेट हाईज़ीन को लेकर गंभीर ना होना
  • गंदे टॉयलेट के इस्तेमाल से होता है संक्रमण

सामान्य रुप से ईकोलाई के कारण होने वाले यूटीआई यानि यूरीनरी ट्रेक्ट इंफेक्शन से हर महिलाओं को खतरा रहता है लेकिन गर्भावस्था के दौरान आपको इस तरह के संक्रमण से सचेत रहना चाहिए और बताए गए लक्षणों को गौर करने पर आपको तुरंत अपनी गायनो से सलाह लेनी चाहिए चुंकि प्रेंगनेंसी के दौरान संक्रमण की समस्याएं खतरनाक संकेत देती है इसलिए आपको साफ-सफाई को लेकर भी संवेदनशील रहना चाहिए ।

हालांकि इस संक्रमण से बचाव के लिए कई तरह के घरेलू उपचार हैं जिसे आज़मा कर आप यूरीन से संबंधित बीमारी से निज़ात पा सकती हैं ।

toilet 1587602 960 720 यूरीन इन्फेक्शन से बचने के असरदार घरेलू नुस्खे

तो ये हैं आप के लिए इंफेक्शन से बचने के 5 घरेलू नुस्खे....

  1. आवलें का रस निकाल कर उसमें शहद मिला दें एक खुराक के लिए 50 ग्राम रस में 30 ग्राम शहद की मात्रा रख सकती हैं अब इस मिश्रण का सेवन दिन में तीन बार करना होगा । पूरे सप्ताह इसके सेवन से धीरे-धीरे पेशाब में जलन की समस्या नहीं रहेगी ।
  2. रात में करीब 15 ग्राम धनिया को भिगो दें सुबह इसे पानी से छान कर मिश्री मिलाकर पीस लें  इस घोल का सेवन करने से यूरीन खुल कर आएगा ।
  3. इस तरह धनिया और आंवले का चूर्ण भी साथ मिलाकर खाने से राहत मिलती है ।
  4. गुड़ के साथ धनिया कूट लें इस पाउडर को नारियल पानी के साथ पीने से इंफेक्शन से राहत मिलेगी ।
  5. आधा लीटर पानी में करीब 50 ग्राम प्याज डालकर उबालें, जब पानी आधा बचे तो छान कर ठंढ़ा करने के बाद पी लें । इसतरह आप राहत महसूस करेंगी।