मॉम हो जाएं सावधान..लीची खाने से हो सकता है आपके बच्चे को नुकसान

lead image

हाल में हुए रिर्सच में पता चला है कि कुछ विशेष प्रकार की लीची आपके बच्चे के जहर का काम कर सकती है खासकर अगर वो कुपोषित हों।

डॉक्टर्स हमें हमेशा फल और सब्जी खाने की हिदायत देते हैं क्योंकि ये शरीर के लिए सबसे हेल्दी होता है। कई दशकों से चला आ रहा रिर्सच भी यही कहता है।

लेकिन हाल में हुए रिर्सच में पता चला है कि कुछ विशेष प्रकार की लीची आपके बच्चे के जहर का काम कर सकती है खासकर अगर वो कुपोषित हों।

बिहार में दिमाग की बीमारी के कारण कई बच्चों की मौत हुई थी जिसका कारण एशियन लीची बताया गया था जिसे बिहार में उपजाया जाता है। क्रिश्च्यन मेडिकल कॉलेज,वेल्लौर के वायरॉलोजिस्ट की टीम जिसे टी जैकब जॉन लीड कर रहे हैं उन्होंने Methylene cyclopropyl-glycine (MCPG) or hypoglycin G की मात्रा अधपके लीची मे पाई।

लीची हो सकती है जानलेवा

जब कुपोषित बच्चे लीची खाते हैं तो MPCG की वजह से hypoglycaemic encephalopathy होती है जो एक तरह की बीमारी है और ये अगर शरीर में चीनी की मात्रा कम हो तो दिमाग पर असर करती है।

ये अक्सर तब होता है जब कोई उपवास में होगा और शरीर में शक्ति के लिए ग्लिसरीन जमा हो गया हो।

तब शरीर का फैट जम होता है और फैटी एसिड में टूटने लगता है। जब मेटाबॉलिज्म इम्पॉयर होता है तब हाइपोग्लैसिमिया डेवलप होता है।ये बातें माया थोमस ने बताई जो पेडिट्रिक न्युरोलॉजिस्ट क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज में हैं।

बच्चों को फल तभी दें जब उनका पेट भरा हुआ हो। क्या आप आश्वस्त हैं कि बेबी को आप पोषण से भरपूर खाना दे रही हैं। कुछ इस तरह अपने बच्चे के आहार का ख्याल रखें।

घर में हेल्दी खाना

विशेषज्ञों का मानना है कि बच्चों में खानपान से जुड़ी इन आदतों को लाने की कोशिश करें

  • सिर्फ एक खास खाने की जगह पूरी डाइट पर ध्यान दें ताकि हम आने वाले समय के लिए भी उसके हेल्थ के बारे में सोचें। बच्चों को अच्छे से पौष्टिक आहार लेना चाहिए जो ज्यादा से ज्यादा प्राकृतिक हो।
  • हमेशा कोशिश करें कि खाना परिवार के साथ खाएं। रात में कोशिश करें कि पूरा परिवार एक साथ बैठकर भोजन करे। परिवार के साथ बैठकर खाने से भोजन भी अच्छी तरह से होता है। सुबह का नाश्ता भी पूरा परिवार एक साथ बैठकर कर सकता है।
  • कोशिश करें कि खाना हमेशा घर पर ही बनाएं। घर का बना खाना पूरे परिवार के लिए काफी हेल्दी होता है। साथ इससे उदाहरण भी आप बच्चों के सामने रख सकती हैं कि भोजन का क्या महत्व होता है और कैसे इससे परिवार के सदस्य एक दूसरे के करीब आते हैं। हर मूडी टीनएज बच्चे घर का स्वादिष्ट खाना पसंद करते हैं।  
  • कोशिश करें कि बच्चे भी घर का राशन खरीदने में आपके साथ हो और इसे इंज्वॉय करें। वो भी सेलेक्ट करें कि लंच में क्या बनना चाहिए और डिनर में क्या होना चाहिए।
  • जितना हो सके हेल्दी स्नैक्स बनाने की कोशिश करें। अच्छी मात्रा में फल, सब्जियां, दूध, बिल्कुल असली जूस रखें। 
  • बच्चों को कभी एक बार में पूरा खाना खाने ये अधिक खाने के लिए जोर ना दें। थोड़ा थोड़ा करके कुछ देर पर खाना ज्यादा फायदेमंद है। एक बात का और ध्यान रखें कि भोजन को कभी भी अवार्ड या घूस के तौर पर ना इस्तेमाल करें।

अगर आपके पास कोई सवाल या रेसिपी है तो कमेंट सेक्शन में जरूर शेयर करें।

Source: theindusparent

Written by

theIndusparent

app info
get app banner