“मैंने ऑफिस में खुद को 12 दिनों के लिए बंद कर लिया”..डिप्रेशन पर कपिल शर्मा का बयान..बताया अपना दर्द

“मेरा सुनील के साथ कोई झगड़ा हुआ ही नहीं।”

कपिल शर्मा के एटिट्यूड प्रॉब्लम के बारे में काफी कुछ लिखा गया कि कैसे द कपिल शर्मा शो की लोकप्रियता गिरने के पीछे असल कारण खुद कपिल शर्मा ही हैं।

हालांकि इन सब के बीच एक शख्स जो चुप्पी साधे बैठा था वो कोई और नहीं बल्कि खुद कपिल शर्मा थे।

अब आखिरकार भारत के सबसे पॉपुलर कॉमेडियन कपिल शर्मा ने कंट्रोवर्सी के बारे में बात की और कहा कि कैसे वो पिछले दिनों डिप्रेशन से जूझ रहे थे।

 

Maa Bete

A post shared by Kapil Sharma (@kapilsharma) on

डिप्रेशन पर कपिल शर्मा का बयान

SpotboyE. से बातचीत में कपिल शर्मा ने कहा कि हां, मैं यह स्वीकार करना चाहता हूं कि मैं डिप्रेशन से जूझ रहा था। मैंने खुद को ऑफिस में 12 दिनों तक बंद कर लिया था। मैंने शो से ब्रेक लेकर शराब पीना शुरू कर दिया। मेरे कुछ खास दोस्त तो इस स्थिति से वाकिफ हैं और उन्होंने मुझे ऑफिस से बाहर निकाला और मुझे खुश रखने की कोशिश की लेकिन उसका कुछ असर नहीं हुआ।

कपिल शर्मा ने इस बात का भी खुलासा किया कैसे लोगों ने उनके बारे में झूठी अफवाह फैलाई कि उनमें एटिट्यूड प्रॉब्लम है।

 

My first award for film.. most promising debutant #guildawards ??

A post shared by Kapil Sharma (@kapilsharma) on

कपिल शर्मा ने कहा कि लोगों ने कहा कि बॉलीवुड एक्टर्स मुझसे नाराज हैं क्योंकि मैंने उन्हें सेट पर इंतजार कराया। मैं खुद सेट पर लेट इसलिए आता था क्योंकि मुझे anxiety attacks आते थे और मैं नर्वस रहता था। मैं बाद में खुद उन्हें कॉल कर उनसे माफी मांगता था इसलिए कई स्टार्स मेरे शो पर बाद में शूट करने आए।

कपिल शर्मा ने ये भी कहा कि उनके और सुनील ग्रोवर के बीच कोई समस्या नहीं थी और सुनील उनके बहुत ही अच्छे दोस्त हैं। उन्होंने ये भी कहा कि ऑस्ट्रेलिया फ्लाइट की बात भी गलत तरीके से पेश की गई।

 

Me mom n sunil ?

A post shared by Kapil Sharma (@kapilsharma) on

उन्होंने विस्तार से बताया कि मैं उन दिनों बहुत अधिक व्यस्त शेड्यूल के कारण बहुत तनाव में था। एक दिन पहले मेरे फिल्म के एक एक्टर की मौत हो गई। मैं सच में ऑस्ट्रेलिया टूर रद्द करना चाहता था लेकिन टिकट बिक गए थे इसिलए मैं ऐसा नहीं कर सकता था। इतना ही नहीं मेरे क्रू मेंबर की एक लड़की को मेरे बचपन के दोस्त चंदन से समस्या थी। वो रोते हुए मेरे पास आई। मुझे गुस्सा आ गया और चंदन को काफी कुछ बोल बैठा। मेरा सुनील के साथ कोई झगड़ा नहीं हुआ। मैं चंदन पर चिल्ला रहा था और वो बीच में आ गया।

डिप्रेशन से लड़ना

डिप्रेशन के कुछ लक्षण इतने साधारण होते हैं कि आप आसानी से कन्फ्यूज कर सकते हैं जैसे भूख में बदलाव, अधिक दुखी रहना, ध्यान लगाने में मुश्किल, सोने की आदत में बदलाव, एक्टिव ना रहना, अकेलापन आदि अगर 2 सप्ताह से अधिक हों तो ये डिप्रेशन की वजह से हो सकते हैं।

डॉ पल्लवी आनंद जोशी कोलंबिया एशिया हॉस्पिटल की मन: चिकित्सक हैं और उन्हें हमें डिप्रेशन से निपटने के लिए कुछ उपाय बताए। आप भी डालिए एक नजर...

  • व्यायाम: व्यायाम करने से प्रेशर, तनाव और उत्कंठा  से मुकाबला करना आसान हो जाता है। व्यायाम से शरीर में रक्त का संचार बेहतर होता है और इससे तनाव और प्रेशर से मुक्ति मिलती है। साथ ही नियमित रूप से व्यायाम करने से पॉजिटिव हार्मोन बनते हैं और आप अच्छा महसूस करते हैं।
  • स्वस्थ आहार: बैलेंस डाइट जिसमें दो फल और दूध स्वस्थ रहने के लिए बेहद जरूरी है। कुछ केस में जो लोग अवसाद से ग्रसित होते हैं उन्हें अधिक खाने की आदत हो जाती है। खाने में कंट्रोल करने से भी तनाव और प्रेशर कम होता है। जितना अधिक हो सके हरी सब्जियां जैसे पालक और फल खाने में शामिल करें।
  • लक्ष्य निर्धारण करें: जब कोई शख्स डिप्रेशन में होता है तो हो सकता है वो कुछ भी ना करना चाहें।निराशा का एहसास इंसान को भी खतरनाक कदम उठाने के लिए सोचने पर मजबूर कर सकता है। इसलिए ये जरुरी है कि छोटे लक्ष्यों का निर्धारण किया जाए जिससे सेल्फ कॉन्फिडेंस बढ़े।
  • रूटीन फॉलो करें: जब आप खुद को तनाव में महसूस करते हैं तो एक रूटीन बनाएं और फोकस करें कि उस रूटीन को आप हर हाल में फॉलो करें। इससे आपको सकारात्मक रिजल्ट पाने में मदद मिलेगी और आप भी खुश रहेंगे।
  • पर्याप्त मात्रा में नींद लें: नींद हमारी जिंदगी का अह्म हिस्सा है। जब आप डिप्रेशन में या चिंता में होते हैं तो सोना मुश्किल लगता है। इसलिए अपने रोज के रूटीन में बदलाव लाएं और व्यायाम, डांस क्लास, तेजी से चलना या कोई और हॉबी को अपने रोजमर्रा की जिंदगी में शामिल करें। कमरे से ध्यान भटकाने वाली चीजें जैसे कंप्यूटर, टीवी हटा दें।सोने के समय भी फोन को खुद से दूर रखें।