“मेरा पार्टनर मुझे हर रोज पीटता है लेकिन मुझे पता है कि वो मुझसे प्यार करता है”

पहली बार उसने मेरी हाथों को क्लब के बीच में मरोड़ा था। जैसे ही हम घर पहुंचे वो मुझे लगातार पीटते रहा और बोल रहा था कि मैं wh£$%^ और चरित्रहीन महिला हूं इसलिए मुझे पीटना ही चाहिए।

हम लोगों ने फिल्मों में क्रूर और गुस्सैल पार्टनर को देखा है या कभी कभी हम ऐसी असल जिंदगी में घरेलू हिंसा की घटनाओं को भी देखते हैं। इस तरह के अधिकतर केस में हमारा एक ही सवाल होता है कि ‘”आखिर वो छोड़ क्यों नहीं देती”?

मैंने पहले कई बार ऐसी बातें बोली हैं और समझने में नाकामयाब रही कि कोई भी परिपक्व शख्स कैसे ऐसे रिश्तें में रह सकता है जहां मारपीट, गाली गलौच, भावनात्मक, मानसिक, शारीरिक चोट और प्रताड़ना भी हो।

हाल में एक मेरी जानने वाली शख्स ने खुलकर इस बारे में मुझसे बात की कि वो पिछले कुछ सालों में किस दौर से गुजर रही है। एक दोस्त होने के नाते मैं दुखी हुई लेकिन उसे अभी भी किसी तरह के मदद की जरूरत नहीं है और उसका विश्वास है कि सबकुछ एक दिन ठीक हो जाएगा।

यहां पढ़िए उसने क्या बताया..

मैं उससे पहली बार कुछ कॉमन दोस्तों के द्वारा मिली और सभी साथ में पार्टी करने गए थे। तुरंत ही वो काफी केयरिंग और सतर्कतापूर्ण व्यवहार करने लगा। कोई ऐसा जो किसी भी चीज के बारे में बात कर सकता है। उसके साथ कई मुद्दों पर बात करना और उसकी बुद्धिजीवी बातें मुझे अच्छी लगी। हम शुरूआत से ही एक दूसरे के पास आ गए और लगातार बातें करते रहे जब तक की पार्टी खत्म नहीं हो गई

 

ये पहली बार था जब हम मिले थे इसलिए मैं खुद कॉन्फिडेंट नहीं थी कि मुझे नंबर मांगना चाहिए या नहीं। मैं उससे फिर से मिलना चाहती थी और उसने जैसे ही पूछा कि क्या मुझे घर छोड़ सकता है मैंने हां कर दिया। कार में मैं सिर्फ उसे देखना चाहती थी। घर पहुंचने के थोड़ी देर पहले उसने मुझसे पूछा कि क्या वो मुझे किस कर सकता है।

ऐसा लगा जैसे मेरे पेट में हाथी, जेबरा, कंगारू पूरा चिड़ियाघर समा गया हो।मैंने उसे हां बोला और वो हमारा पहला किस था। मुझे आज भी वो पल अच्छी तरह से याद है। धीरे धीरे हमारी मुलाकातों का सिलसिला बढ़ा और कई दोस्तों को लग रहा था कि हम सीरियस होते जा रहे थे।

उसके पहले भी कई रिलेशनशिप थे और हम दोनों एक दूसरे के पहले के अफेयर के बारे में बातें की थी। उसे लेडीज मैन के नाम से जाना जाता था लेकिन मुझे चिंता नहीं थी। मुझे पता था कि हम एक दूसरे से जुड़े हुए हैं और मैं उससे प्यार करती थी। मुझे दिखता था कि वो भी मुझसे प्यार करता था।

पहली बार जब हाथ मरोड़ कर थप्पड़ मारा..

हम ऑफिशियली कपल बन चुके थे और पहली बार उसने मेरी हाथों को क्लब के बीच में मरोड़ा था। वहां हम अपने दोस्तों के साथ गए थे। सभी बिल्कुल हाई थे और मैंने उसके बिना डांस किया था और उसे लगा कि मैं किसी को देख रही थी इसलिए उसे गुस्सा आ गया

मैं ऐसा कुछ नहीं कर रही थी लेकिन उसका गुस्सा देखकर मैं चुप हो गई। उस रात मैं उसके साथ गई। मैं पहले से डरी थी और क्या होगा। ड्राइव के दौरान भी उसने मुझपर हाथ उठाया। जैसे ही हम घर पहुंचे वो मुझे लगातार पीटते रहा और बोल रहा था कि मैं wh£$%^ और चरित्रहीन महिला हूं इसलिए मुझे पीटना ही चाहिए। मैं खूब रोई और शॉक्ड थी कि मेरे सपनों का परफेक्ट मैन मेरे साथ ऐसे  व्यवहार कर रहा था।

अगले दिन मैं कई चोटों के साथ उठी तो देखा कि वो अपने घुटनों के बल बैठा है और मुझसे माफी मांग रहा है और रो रहा है। हम लोग बिल्कुल ठीक हो गए।

ये लगातार हो रहा था, लेकिन हमेशा माफी मांगकर प्यार का एहसास कराया

उस समय से मैंने देखा कि ये पैटर्न बन गया था कि जब भी हम बाहर जाते वो उसी रात की बात करता और मुझे चरित्रहीन महिला बोलता था। क्योंकि मैं पहली बार मुलाकात के बाद मैं किस करने के लिए तैयार हो गई थी? मैं पहले किसी और के साथ नहीं सोई थी? जब मैंने कहा कि उसने भी पहले यही किया है तो मुझे और भी थप्पड, लात घूसे पड़े।

और फिर से उसने मुझसे माफी मांगी और रोने लगा और बोला कि मैं अच्छी औरत नहीं हूं और मुझ पर भरोसा नहीं किया जा सकता था इसलिए वो मेरे साथ ऐसा व्यवहार करता था ताकि मारपीट कर वो मुझे अपनी जगह दिखा सके और मैं आगे जाकर कुछ गलत नहीं करूं।

उसने कहा कि मैं पीटाई खाने के लायक हूं क्योंकि मैं चरित्रहीन महिला हूं और ये बात उसे हिंसात्मक बना रही थी....

हम लोग उसके दोस्त की पार्टी में थे और मैं सबसे मिलजुल रही थी और होस्ट की मदद कर रही थी। मैं उसे गले लगाने गई और उसने मेरे चेहरे को पकड़कर कहा कि कैसे मैं वहां बाकी मर्दों से मिल रही थी और उसकी बेइज्जती कर रही थी। उसने मुझे लगभग मारा और मेरे होठ भी कट गए। मुझे सांस में शराब की बदबू आ रही थी और वो मुझे जैसे देख रहा था मैं आज तक नहीं भूल पाई हूं।

मैं उसके साथ 4 सालों से हूं और अब वो मुझसे शादी करना चाहता था। मैं उससे पागलों की तरह प्यार करती हूं और मैं उसके मूड से नहीं डरती। वो जब मुझे नहीं पीटता है और अच्छे मूड में होता है तो इतना प्यार मैंने अपनी जिंदगी में कभी नहीं देखा है।

मैंने अपनी दोस्त को पूरी कहानी बताई और उसने मुझसे सारे कॉन्टैक्ट खत्म करने को कहा। उसने कहा कि वो कभी नहीं बदलेगा। मुझे नहीं पता चला कि कब मैं एक शांत लड़की में बदल गई, लोगों से मिलना और बातें करना भी लगभद बंद कर दिया।

लेकिन मैं उससे बहुत प्यार करती हूं और उसके बिना जिंदगी गुजारने की तो सोच भी नहीं सकती। हम एक दूसरे से बेइंतहा प्यार करते हैं और कई तरह से एक दूसरे से जुड़े हैं। ऐसा लगता है कि कभी मुझे इतना प्यार करने वाला नहीं मिलेगा।

मैं मार-पीट, चिल्लाना ये सब नहीं चाहती। क्या कोई दूसरा तरीका नहीं है कि मैं उसे विश्वास दिला सकूं कि मैं ईमानदार हूं और मेरी जिंदगी में कोई भी नहीं है? क्या आप भी कभी घरेलू हिंसा की शिकार हुई हैं? मैं उसे कपल काउंसलिंग की भी सलाह देती हूं लेकिन वो गुस्सा हो जाता है। मैं उसके साथ रहना चाहती हूं लेकिन सच बताऊं तो मुझे उससे डर भी लगता है।

*पहचान छिपाने की वजह से शख्स का या जगह का नाम नहीं लिखा गया है।

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें | 

Source: theindusparent