प्रेग्नेंसी में क्यों पहनी जाती है मेटरनिटी बेल्ट...जानिए इसके फायदे

lead image

मेटरनिटी बेल्ट का एक बड़ा फायदा ये है कि इससे गर्भवती की सूजी और उभरी हुईं मासपेशियां अपने पुराने आकार में आ जाती हैं। ये काफी लचीली होती है जो गर्भावस्था की दूसरी और तीसरी तिमाही में काफी काम आती है।

जब कोई महिला प्रेग्नेंट होती है तो उसे अपने स्वास्थ्य के साथ-साथ अपने कंफर्ट का भी पूरा ख्याल रखना पड़ता है। गर्भवती महिला के कंफर्ट को ध्यान में रखते हुए ही मैटरनिटी बेल्ट का निर्माण किया गया है।

जिन्हें नहीं पता उनकी जानकारी के लिए बता दें कि कि मेटरनिटी बेल्ट एक तरह का पट्टा होती है जो प्रेग्नेंट महिला पहनती है इससे उनके पेट और कमर को सहारा मिलता है।

मेटरनिटी बेल्ट के कुछ फायदे

मेटरनिटी बेल्ट का एक बड़ा फायदा ये है कि इससे गर्भवती की सूजी और उभरी हुईं मासपेशियां अपने पुराने आकार में आ जाती हैं। ये काफी लचीली होती है जो गर्भावस्था की दूसरी और तीसरी तिमाही में काफी काम आती है।

आजकल गर्भावस्था के समय काफी महिलाएं इसका इस्तेमाल करती हैं और हम आपको इसके कुछ फायदे बताने जा रहे हैं...पढ़िए आप भी...

1.दर्द कम करती है: प्रेग्नेंसी के समय ज्यादातर महिलाओं को पीठ, कमर और जोड़ों में दर्द की समस्या रहती है और मैटरनिटी बेल्ट उनके गर्भ और पीठ को सहारा देती है। इस बेल्ट की वजह से उन्हें इन दर्द से काफी राहत मिलती हैं।

आपको बता दें कि यह दर्द नितंब, स्नायु और पेट के नीचे के हिस्से में ज्यादा होता है जिसका कारण होता है बढ़ता वज़न। इस भार को यह बेल्ट बांट लेती है और गर्भवती को आराम महसूस होता है।

src=https://hindi admin.theindusparent.com/wp content/uploads/sites/10/2017/11/pregnancy Hindi.jpg प्रेग्नेंसी में क्यों पहनी जाती है मेटरनिटी बेल्ट...जानिए इसके फायदे

वहीं अगर दिन भर के काम के दौरान पेट को हल्का दबाव दिया जाता रहे तो यह गर्भाशय को सहारा देता है और चलने-फिरने के समय होने वाली परेशानियों को भी कम करता है। लेकिन आप इस बात का ध्यान रखें कि बेल्ट को ज्यादा कसकर ना बांधा हो।

2. रोज़ाना के कार्यों में मदद: गर्भवती महिला से नियमित रूप से चलने-फिरने से हाई ब्लड प्रेशर, अवसाद और डायबिटीज जैसी बीमारियां दूर रहती हैं। लेकिन लगातार चलने जैसी शारीरिक मेहनत से उन्हें बहुत से दर्द और असहजता से गुज़रना पड़ता है। ऐसे में यह बेल्ट आपकी इन तकलीफों को दूर करने में मदद करती है।

3. हार्निया के मरीजों के लिए फायदेमंद: जिन गर्भवती महिला को हर्निया की समस्या है उनके लिए तो यह बेल्ट काफी आवश्यक है। जिन महिलाओं को हार्निया की समस्या है, गर्भावस्था के दौरान यह बेल्ट उनके लिए बहुत आवश्यक और सहायक है।

4. बॉडी पॉज़िशन सही रखती है: मैटरनिटी बेल्ट गर्भवती की शारीरिक मुद्रा को सही रखती है। इसके इस्तेमाल से पीठ को सहारा मिलता है। इसके अलावा निचली पीठ ज़रूरत से ज्यादा खिंचने से बच जाती है।

5. डिलिवरी के बाद भी फायदे: चूंकि डिलिवरी के बाद मांसपेशियां और स्नायु ढीले पड़ जाते हैं जिन्हें वापस अपने आकार में आने में समय लगता है। इसके अलावा नई माताओं को अपने शिशु की देखभाल भी करनी पड़ती है। और ऐसे में इस बेल्ट को पहनने से उन्हें काफी आराम मिल जाता है।

लेकिन आप इस बात पर ध्यान दें कि आप पूरी तरह से ही मेटरनिटी बेल्ट पर निर्भर ना हो जाएं। ज्यादा ज़रूरत हो तभी इस बेल्ट का आप इस्तेमाल करें क्योंकि बाद में आपको इसे छोड़ने पर परेशानी हो सकती है। इस बेल्ट को पहनने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह ज़रूर लें।