मीरा राजपूत घर पर रहकर बेबी को संभालना चाहती हैं..क्यों?

मीरा राजपूत ने ये भी बिल्कुल साफ लहजे में कहा कि उनका इरादा फिलहाल कामकाजी महिला बनने का नहीं है

मीरा राजपूत काफी ट्रेडशिनल हैं ये तो हम तभी समझ गए थे जब उन्होंने अरेंज मैरिज को चुना। मीरा ने हमेशा कहा है कि वो घर में रहना पसंद करती हैं और होममेकर बनने में कोई समस्या नहीं है।

हाल में इंटरनेशनल वुमेंस पर एक इवेंट में मीरा राजपूत से यही सवाल किया गया और उन्होंने फिर से कहा कि वो शादी और परिवार में विश्वास करती हैं।

मीरा राजपूत ने कहा कि उनकी प्रेग्नेंसी काफी मुश्किलों भरी थी इसलिए वो ज्यादा से ज्यादा समय अपनी बेटी के साथ गुजारना चाहती हैं।

“मुझे ये करना पसंद है। मैं काफी मुश्किलों भरी प्रेग्नेंसी से गुजरी थी। मेरा मतलब है कि पांच महीने उस मुश्किल समय से गुजरी और बेटी को इस दुनिया में लेकर आई। इसलिए मैं ज्यादा से ज्यादा समय , हर पल उसके साथ रहना चाहती हूं और मैं ऐसा करती हूं। मेरी कुछ जिम्मेदारियां हैं और मुझे लगता है कि मैं जिस उम्र की हूं मेरे पास एनर्जी है।मेरा खुद का भविष्य है और मैं अपनी जिम्मेदारियों को खत्म करने के बाद अपने करियर पर ध्यान दे सकती हूं। “ उन्होंने ये बातें उस इवेंट में कहीं।

 

A post shared by Shahid Kapoor (@shahidkapoor) on

मीरा राजपूत ने ये भी बिल्कुल साफ लहजे में कहा कि उनका इरादा फिलहाल कामकाजी महिला बनने का नहीं है क्योंकि वो अपने बेबी के पहले एक साल में कुछ भी मिस नहीं करना चाहती हैं।

उन्होंने कहा कि “मैं एक घंटा अपने बेबी के साथ बिता कर काम पर नहीं जाना चाहती। फिर मैंने उसे जन्म क्यों दिया।वो को पप्पी नहीं है। मैं उसके साथ उसकी मां बनकर रहना चाहती हूं। वो कैसे बड़ी हो रही है मैं हर पल उसके साथ रहकर देखना चाहती हूं।

 

मीरा राजपूत एक होममेकर हैं उन्हें इस बात का बिल्कुल भी दुख या पछतावा नहीं है। वो इस लाइफ को पूरी शिद्दत के साथ इंज्वॉय कर रही हैं।

 

मीरा राजपूत ने कहा कि “मैं अपनी बेटी का पालन पोषण कर सकती हूं, और मैं अच्छी पत्नी भी बन सकती हूं। मैं अपने घर को जैसे चाहूं रख सकती हूं इसका मतलब है कि घर के वैल्यू और मूल्य क्या होने चाहिए। मुझे कोई भी कुछ भी करने से नहीं रोक सकता है। मुझे घर में रहना पसंद है। मुझे अपने बच्चे के साथ समय बिताना पसंद है।“

मीरा राजपूत ने एक बहुत जरुरी बात इस दौरान कही जो हर मां के दिमाग में रहता है कि बेबी के आने के बाद ब्रेक लेना चाहिए या नहीं।

 

RepostBy @mira.kapoor: "Moo Moo here and a Moo Moo there"

A post shared by Shahid Kapoor (@shahidkapoor) on

कई माएं होती हैं जो बेबी जन्म के तीन महीने के बाद काम पर लौट जाती हैं। एक मां के तौर पर ब्रेक लेने के बारे में आप सोच सकती हैं। मैंने भी अपनी बेटी के जन्म के बाद ब्रेक लिया था। मैं भी हमेशा उसके साथ रहना चाहती थी। उसका पहला एक साल मिस नहीं करना चाहती थी। मैं ये हर नई मां को बताना चाहती हूं।

  1. स्वस्थ होने का समय मिलता है – काम से ब्रेक लेने से ये सिर्फ बेबी के लिए नहीं अच्छा है बल्कि आपको भी बेबी को जन्म देने के बाद शरीर को रिकवर करने का समय मिल जाता है। आपका शरीर प्रेग्नेंसी में काफी तरह से बदलता है और उसे आराम की जरुरत होती है।
  2. आपका बेबी सुरक्षित महसूस करता है- हम अपने बेबी के साथ पहले शुरआती समय कैसे बिताते हैं ये आगे जाकर इमोशनल और मानसिक तौर पर मायने रखता। बच्चे भावनात्मक तरीके से काफी मजबूती के साथ बड़े होते हैं जब उनकी मां हमेशा उनके साथ रहती हैं।
  3. आप सभी खास पलों की साक्षी होती हैं – मेरी एक दोस्त ने मुझसे एक बार कहा था कि उसने उस पल को मिस कर दिया जब बेबी पहली बार खुद चला था। वो उस वक्त ऑफिस में थी। मैं अपनी बेबी के पहल एक साल का कुछ भी मिस नहीं करना चाहुंगी जो हर नई मां के लिए बहुत जरुरी भी है।

ये किसी भी मां की निजी पसंद होती है कि वो का पर लौटना मैटरनिटी लीव के बाद लौटना चाहती है । इसके लिए भी काफी हिम्मत की जरूरत होती है।

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें | 

Source: theindusparent