बेडरुम की 6 बुरी आदतें जो आपकी शादी बरबाद कर सकती है

lead image

क्या आप भी ये गलतियां करते हैं?

शादीशुदा कपल के बीच इंटिमेसी या केमेस्ट्री की कमी होना ही एक बेडरुम की समस्या नहीं है। ज्यादातर सोने जाने से पहले जो समय मिलता है बस वही कपल के लिए प्राइवेट समय होता है।

डॉ मारिका नाओं बेरगर जो थेरेपिस्ट और of Marriage Meetings for Lasting Love: 30 Minutes to the Relationship You’ve Always Wanted की लेखिका हैं उन्होंने हंफिगन पोस्ट में वो साधारण गलतियां बताई जो कपल करते हैं और उन्हें अपने रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए क्या गलतियां नहीं करनी चाहिए।

1. अलग अलग समय पर सोने जाना

अगर आप और आपके पार्टनर का अलग अलग काम का समय है तो ये नहीं हो सकता लेकिन अगर आपका एक ही काम का शेड्युल है तो अलग अलग समय सोने जाना आपके रिश्ते के लिए हानिकारक हो सकता है।

ये किसी रेसिपी से कम नहीं है अगर आप अकेला महसूस कर रहे हैं ( शारीरिक तौर पर भी) डॉ बेरगर के अनुसार किसी भी कपल के लिए सोने जाने से पहले जो रोमांटिक और क्वालिटी टाइम बिताते हैं वो सबसे खास होता है और उसे किसी को गंवाना नहीं चाहिए।

2. शारीरिक संबंध में कमी

फिजिकल इंटिमेसी का मतलब सिर्फ सेक्स नहीं होता।किस करना या एक दुसरे को बस गले लगाना ही रोमांस को बरकरार रखने के लिए काफी होता है।

अपने संबंधो में ईमानदार होना कि आप कब इंटिमेट नहीं होना चाहते या आप क्या चाहते हैं या आप कब इंटिमेट होना चाहते हैं ये भी जानना जरूरी है।इससे आप भावनात्मक तौर पर एक दूसरे से कनेक्ट रह सकेंगे।

3. अपने पार्टनर के शेड्युल का रखें ख्याल

टीवी देखना, गाने सुनना कभी कभी मजेदार होता है लेकिन अगर आपके पार्टनर के सोने का समय है तब नही। लगातार दिन भर काम, बच्चों को संभालना .इन सब के बाद हर कोई बिस्तर पर बिना किसी बाधा के अच्छी नींद चाहता है।सोने जाने के कुछ देर पहले कुछ देर का समय आपको इमोशनली अपने पार्टनर के साथ जोड़ सकता है।थोड़ी देर के लिए ही सही लेकिन बातचीत करें जैसे दिन कैसा गया या कुछ भी काफी कुछ बदल सकती है।

4. स्क्रीन टाइम > पार्टन को टाइम

कभी कभी सोशल मीडिया कबाब में हड्डी साबित होती है लेकिन आप कोशिश करें कि आपके केस में ऐसा ना हो। Parent Down के एक यूजर ने सवाल पूछने के कॉलम में पत्नी का ज्यादा समय स्मार्टफोन पर गुजरने के कारण इसपर नाराजगी जाहिर की कैसे इसकी वजह से शादी में तनाव बढ़ गया। स्मार्टफोन, इंटरनेट जैसी चीजों की वजह से हम कब दूर होते चले जाते हैं पता भी नहीं चलता।

डॉ बेरगर का मानना है कि स्मार्टफोन या टेबलेट लेकर सोने से रिश्ते दो तरह से खराब होते हैं एक तो इमोशनली हम दूर होते जाते हैं और दूसरा कि फोन या टेबलेट से जुड़ाव के कारण आप बार स्क्रीन देखना चाहते हैं जिस वजह से नींद पूरी नहीं होती और आप धीरे धीरे चिड़चिड़े और बेचैन रहते हैं। अगर आपकी नींद पूरी होगी तो आप ज्यादा खुश और अच्छे मूड में होंगे।

5. बेड पर बंद करें खुद पर ध्यान देना

कुछ चीजें बाथरुम के लिए छोड़ देनी चाहिए। जैसे बेड पर बैठ के नाखुन काटना जिसकी वजह से आपके पार्टनर को आप पर गुस्सा भी आ सकता है। बेड टाइम जितना हो सके एक दूसरे को देने की कोशिश करें।

6. गुस्से में बेड पर जाना

कई बार कहा जाता है कि अगर आप गुस्से में है तो सूरज ना डूबने दें मतलब जितना जल्दी हो सके गुस्सा खत्म करें। कभी भी तनाव या झगड़े की बातें हो तो इग्नोर कर दें भले आप थके हो इसी वजह से कर दें। डॉ बेरगर के अनुसार आप हमेशा सोने जाने से पहले सारे मुद्दे सुलझा लें। लाइट बंद करने से पहले अगर आप झगड़े निपटाकर अच्छे मूड में रहेंगे तो आप क्वालिटी टाइम बिता पाएंगे।

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें | 

Source: theindusparent