बेंगलुरू में पति ने पत्नी के प्राइवेट पार्ट को गर्म आयरन से जलाया..कारण चौंकाने वाला

lead image

इतनी अमानवीय घटना को अंजाम देने के बाद भी उसे अस्पताल अगले दिन पैरेंट्स के आने के बाद ले जाया गया।

हम हर दिन घरेलू हिंसा की कोई ना कोई खबर पढ़ते हैं। ये काफी शॉकिंग है कि महिलाओं को सबसे ज्यादा अपने पति और ससुराल वालों के यहां प्रताड़ित किया जाता है।

भारत के आईटी सिटी बेंगलुरू में भी एक ऐसी ही दिल दहलाने वाली घटना हुई है जहां 32 वर्षीय शख्स (दिलीप कुमार) ने पत्नी के प्राइवेट पार्ट को गर्म आयरन से जलाया और उसे नुकीले हथियार से मारकर चोट पहुंचाई।

क्या है मामला

यह घटना कुछ दिनों पहले 2 बजे लिंगाराजापुरम में हुई। दिलीप 11 बजे के आसपास घर आकर सो गए।

 
abuse बेंगलुरू में पति ने पत्नी के प्राइवेट पार्ट को गर्म आयरन से जलाया..कारण चौंकाने वाला

अचानक 2 बजे उठकर वो अपनी पत्नी को गालियां देने लगा। इसके बाद 26 वर्षीय पत्नी जैसिंटा (अनुरोध पर बदला नाम) को मायके से और भी अधिक जेवर लाने को कहने लगा।

जब महिला ने इस बात को मानने से इंकार कर दिया तो पहले उसे इलेक्ट्रिक रॉड से पीटा गया और फिर उसकी बांह, प्राइवेट पार्ट को कपड़ो के आयरन से जला दिया गया। इतना ही नहीं इसके बाद उसके सिर पर नुकीले चाकू से वार किया गया।

इतना सब होने के बाद महिला वहीं बेहोश हो गई और अगले दिन पैरेंट्स के आने के बाद ही उसे अस्पताल ले जाया गया।

बांसवाड़ी पुलिस इंस्पेक्टर ने कहा कि जिस दिन यह घटना हुई थी ठीक उसी दिन उस महिला के पैरेंट्स आए थे। पैरेंट्स उसे घायल अवस्था में देखकर तुरंत अस्पताल ले गए। महिला ने बताया कि दिलीप उसे काफी लंबे अरसे से प्रताड़ित कर रहा था। उसने ये भी कहा कि वो शिकायत दर्ज कराने इसलिए आई है क्योंकि अब उसे अपनी जिंदगी का डर लगता है।

दिलीप पर IPC की धारा 326 (खतरनाक हथियारों या साधनों से गंभीर चोट पहुंचान) के अंतर्गत मामला दर्ज किया गया है।

शादी में इन 3 बातों को कभी ना करें बर्दाश्त

 

  • किसी भी तरह की प्रताड़ना: मौखिक, शारीरिक, भावनात्मक, वित्तीय, मनोवैज्ञानिक - इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि पति या पत्नी को किस तरह से प्रताड़ित किया जा रहा है। ये हर हाल और हर स्थिति में गलत है।
  • गैर-सहायक पार्टनर: शादी दो लोगों के बीच एक साझेदारी है। प्रत्येक निर्णय, हर खास पल, हर कठिनाइयां और कमियां सबकुछ दोनों पक्षों की जिम्मेदारी होनी चाहिए। यह उनके निजी और प्रोफेशनल दोनों विकल्पों पर भी लागू होती है।
  • धोखा: एक बार धोखा मिलने के बाद वापस उस पर भऱोसा करना नामुमकिन हो जाता है। इस बात की संभावना है कि वो फिर से ऐसा करें। अगर वो ऐसा फिर से नहीं भी करते हैं तो भी उनपर फिर से विश्वास करना मुश्किल हो जाता है।