7 वजह जिनसे आप unknowingly अपने बच्चे की health को हानि पंहुचा रहे हैं !

हम अपनी तरफ से अपने बच्चों की हेल्थ का ख्याल रखने में को कसर नहीं छोड़ते। लेकिन फिर भी जाने -अनजाने हम कुछ ऐसे काम कर बैठते हैं जिनसे हम अपने हाथों से उन्हें बीमारी के खतरे की और ले जाते हैं। आइये जनते हैं ऐसी ही कुछ खतरों के बारें में ..

shutterstock_42402088

क्या आप जाने-अनजाने अपने बच्चे के हेल्थ के साथ रिस्क ले रहे हैं ? एक माता-पिता के रूप में आप हमेशा अपने बच्चे को नुकसान से बचाए रखना चाहते हैं, लेकिन हो सकता है की आप अनजाने में कई ऐसे काम कर रहे हों जो आपके बच्चे के हेल्थ को रिस्क में डाल रहा हो ?

केवल अपने डेली रूटीन में ही कुछ बदलाव लाकर आप अपने बच्चे की हेल्थ को सुरक्षित रख सकते हैं और उसे छुपे हुए खतरों से बचा सकते हैं ।

jelly-417788_1280

फ्रिज और फ़ूड पोइजनिंग                                                                                                                                                                           

अगर आपके और आपके बच्चे का पेट पहले खराब हुआ हो तो हो सकता है की आपने इसे हॉकर सेंटर में खाए चावल का नतीजा मान लिया हो । लेकिन क्या आपको पता है की आपके फ्रिज़ का खाना कितना सुरक्षित है या नहीं ? ये जांचना भी जरुरी है ।

कभी भी कोई  मेटल की चीज फ्रिज़ में न रखें

अगर आप कैन से दूध निकाल कर पीते हैं या कोई भी सामान रखते हैं तो इस बात का जरुर ध्यान रखें की कैन को फ्रिज में न रखें क्योंकि उसका मेटल खाने में ट्रान्सफर हो सकता है

अपने फ्रिज को साफ़ रखें

अपने फ्रिज को हर हफ्ते दो हफ्ते में साफ़ जरुर करें ।

बेकार हो चुके खाने को फेंक दें

किसी भी चीज़ को खाने से पहले उसकी एक्सपायरी डेट जांच लें । अगर किसी खाने के सामान का एक्सपायरी डेट निकल चुका है तो उसे फेंक दें ।

हेल्थ रिस्क : फ़ूड पोइजनिंग


animal-931570_640-1

डेंगू का खतरा

 

आपने डेंगू से बचाव से जुड़े कई ऐड अखबार और टीवी में जरुर देखे होंगे, और आपने सोचा होगा की आपको तो ये हो ही नहीं सकता । याद रखें की पिछले साल 6 सितम्बर तक डेंगू से जुड़े करीब 19,704 मामले दर्ज किये गये और करीब 41 मौत भी इसी बिमारी के वजह से हुई ।

डेंगू के दौरान दरअसल खून की कमी होने लगती है जिससे शरीर के दूसरे पार्ट्स पर भी असर पड़ता है । डेंगू एक वायरस की वजह से होता है जो एडीज मच्छर फैलाते हैं ।

 

अगर आप डेंगू से बचना चाहते हैं तो आपको अपने घर के चारो तरफ इन बातों का ध्यान रखना चाहिए :

  • सभी बर्तनों से पानी निकाल के उन्हें सुखा लें
  • फ्लावर वाज़ आदि से भी जमे हुए पानी को निकाल के साफ़ पानी डाल दें
  • पानी की टंकी को पूरी तरह से साफ़ करें
  • अगर घर से बाहर जाएँ तो टॉयलेट सीट को ढक दें
  • छतों और नालिओं में पानी इकट्ठा न होने दें

हेल्थ रिस्क : डेंगू, मृत्यु


children-403582_1280

एडल्ट कंटेंट का बुरा असर

 

बच्चों की फिजिकल सिक्यूरिटी के साथ-साथ उनके इमोशनल सिक्यूरिटी की जिम्मेदारी भी आपकी ही है । आपका बच्चा किस संगत में है और क्या देखता है इस बात की पूरी जानकारी रखें ।

अध्यन बताते हैं की,अपनी उम्र के मुताबिक़ कंटेंट न देखने से बच्चे के दिमाग पर बहुत गहरा असर पड़ सकता है। इन प्रभावों में डर, गिल्ट, इनसिक्योरिटी की भावना भी शामिल है ।

 

अगर आप अपने बच्चे के लिए सजग हैं तो इन बातों का खास ध्यान रखें :

  • टीवी शो और फिल्म को एक बार परख लें की वो आपके बच्चे के देखने लायक है, या नहीं है ।
  • बच्चे को टीवी या इन्टरनेट का इस्तेमाल वहीँ करने दें जहाँ आप उसपर नज़र बनाए रख सकें ।
  • अपने मोबाइल में चाइल्ड सेफ्टी के फीचर शुरू कर दीजिये ।
  • बच्चे को इन्टरनेट सेफ्टी के बारे में बताएं ।
  • अपने इन्टरनेट कनेक्शन की प्राइवेसी सेटिंग की दुबारा जांच कर लें ।

हेल्थ रिस्क: बच्चों के बर्ताव में भारी बदलाव, गुस्सा आना , असंवेदनशील हो जाना, खतरनाक स्टंट करने की कोशिश


french-fries-843303_1280-1

खाने में नुट्रिशन की कमी

 

कई बार ये पता करना मुश्किल हो जाता है, की बच्चे को खाने में पसंद क्या है । और ऐसे में जब वो आपका बनाया खाना नहीं खाता तो आप उसे, आलू के चिप्स आदि देकर शांत कर देते हैं । जंक फ़ूड बिलकुल बंद कर देना तो इतना आसान नहीं है, लेकिन ये सब तभी तक ठीक है जब तक ये आपके खाने-पीने का प्रमुख हिस्सा नहीं हैं । हालांकि, कई स्टडी से पता चला है की सोडा बच्चों के बेहेविअर में बदलाव लाने में सक्षम है , इससे उनमें गुस्से की भावना या डिप्रेशन होने जैसे खराब प्रभाव पड़ते हैं ।

 

बहुत अच्छा होगा अगर आपके बच्चे वैसी चीजें पियें जिनमें सोडा न हो, जैसे:

  • सादा पानी
  • ताजा फलों का जूस
  • शुद्ध नारियल का पानी
  • दूध
  • वेजिटेबल स्मूदी

हेल्थ रिस्क : मोटापा, दांतों का गिरना , मूड और बर्ताव से जुड़ी समस्याएं

 

laundry-272444_1280

भीगे कपड़े घर में ही सुखाना

 

भारत में ज्यादातर घर, फ्लैट में या ऊँची मंजिलों पर होते हैं जहाँ जगह की अक्सर कमी रहती है । ऐसे मेंहो सकता है की आप अपने भीगे कपड़ों को घर में ही सुखाने के लिए डाल देते हों ।

 

अगर घर के खिड़की और दरवाज़े बंद है और वेंटिलेशन का कोई रास्ता नहीं है ऐसे में घर में नमी बढ़ जाती है और घर का वातावरण 'डस्ट माईट' और 'मोल्ड  स्पोर्स' के पनपने के लिए बेहतरीन हो जाता है । इसीलिए घर में कपड़े सुखाने से बचें ।

हेल्थ रिस्क : अस्थमा, एलर्जी आदि

 


heat-834468_1280

खतरनाक अल्ट्रावायलेट रेडिएशन के संपर्क में आना

 

'सेंटर फॉर डिजीज कण्ट्रोल एंड प्रिवेंशन' के मुताबिक कई बार सनबर्न होना आपके बच्चे में स्किन कैंसर को जन्म देने के लिए काफी है ।

इसीलिए उन्हें सूरज के खतरनाक यु.वी यानी अल्ट्रावायलेट रे से बचाएं :

  • दोपहर में बाहर न निकलें : दोपहर के समय घर से बाहर न निकलना ही ठीक रहता है । क्योंकि यही वो समय होता है जब अल्ट्रावायलेट रे सबसे ज्यादा होती है ।
  • छांव में रहें : अगर आप घर के बाहर किसी एक्टिविटी में हिस्सा ले रहे हों तो हमेशा जितना हो सके छांव में खड़े होने की कोशिश करें ।
  • खुद को ढकें : पूरी बाजू वाली शर्ट पहनें, गहरे रंग के कपड़े पहनें ।
  • हैट पहनें : हालांकि गर्मिओं में टोपी पहनने का चलन ज्यादा है, लेकिन इससे बच्चों के कान और गर्दन का बचाव नहीं हो पाता है इसीलिए जितना हो सके हैट पहनें ।
  • धुप का चश्मा पहनें : ये न सिर्फ फैशन के लिए अच्छे होते हैं, बल्कि इनसे आँखों की सुरक्षा होती है ।
  • ज्यादा से ज्यादा सनस्क्रीन लगायें : जब भी आपका बच्चा बाहर जाए, उसे अच्छे से सनस्क्रीन लगा कर ही बाहर भेजें । ध्यान रखें की आपके सनस्क्रीन में कम से कम एस.पी.एफ 15 जरुर हो ।

हेल्थ रिस्क : स्किन कैंसर, मोतिआबिन्द

 


dreamstime_s_40673636

सेकंड हैंड और थर्ड हैंड स्मोकिंग

 

हम आजकल शहरों में रहते हैं, जहाँ दिन रात हम गाड़िओं के धुंएँ के बीच हैं ।

लेकिन अगर आपके घर में कोई धुम्रपान करता है, तो आपके बच्चे खतरे में हैं ।

सिगरेट के धुंएँ में 4000 से ज्यादा केमिकल होते हैं जिसमें से 400 जानलेवा हैं।  और इस बात के पुख्ता सबूत हैं की बच्चे इनसे सबसे जल्दी और आसानी से प्रभावित होते हैं ।

अगर आप सोचते हैं की आपके, उनके सामने धुम्रपान न करने से बच्चे इसके साइड इफ़ेक्ट से बच जाएंगे, तो याद रखिये की थर्ड हैंड स्मोकिंग का मतलब ही यही है की अगर आपका सिगरेट बुझ भी गया है तब भी उसके धुंएँ का असर हवा में रहता है जिसमें आपके बच्चे सांस लेते हैं !

हेल्थ रिस्क : अस्थमा 

drink-341489_1280

क्या आप ऐसे ही किसी और खतरे के बारे में भी जानते हैं जिनसे अपने बच्चों को बचा कर रखना चाहिए ?

 

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें

HindiIndusaparent.com  द्वारा ऐसी ही और जानकारी और अपडेट्स के लिए हमें  Facebook पर Like करें