बच्चे को ब्रश करना किस उम्र से सिखाना चाहिए

आमतौर पर 2 से 5 साल की उम्र तक बच्चे के सारे दांत आते हैं। लेकिन जब बच्चे ठोस अनाज खाने लगते हैं तब उनके दातों की सफाई को गंभीरता से लेना जरुरी हो जाता है ।

शिशु के संपूर्ण देखभाल के लिए उसके मुंह की साफ-सफाई का भी विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए। आमतौर पर 6 माह की आयु से दांत निकलने की प्रक्रिया शुरु हो जाती है लेकिन इस वक्त ब्रश कराने से शिशु के मसूढ़े को नुकसान हो सकता है।  

इसलिए कम से कम बच्चे के साल भर होने तक इंतज़ार करना सही होता है । इस उम्र में मसूढ़े के मज़बूत होने के साथ अगर बच्चे के मुंह में नीचे-ऊपर कई दांत आ गए हों तो आप ब्रश से उसका परिचय करवा सकती हैं ।

हलांकि डेढ़ साल की आयु में आप आसानी से बच्चे को नियमित रुप से दो बार ब्रश करने की आदत लगा सकती हैं ।

आपका शिशु छोटा हो तो भी आप उसके मसूढ़े और जीभ की साफ-सफाई हर रोज़ करें । इससे शिशु फ्रेश महसूस करेगा और उसे खाने की इच्छा होगी । शिशु की ठुड्ढ़ी को दबाकर उसका मुंह खुलवाएं और फिर नर्म सूती कपड़े को गुनगुने पानी से भिगो कर उसी से जीभ की सफाई करें ।

इस प्रक्रिया में देखना ये होगा कि कहीं शिशु के मुंह में ज्यादा रगड़ ना पड़ जाए और आपको हाईजीन का भी ख्याल रखना चाहिए । अधिकांश बच्चों को ये तरीका पसंद नहीं आता और वो रोना शुरु कर देते हैं।

खास कर जो छोटे शिशु चंचल और तेज होते हैं एक बार उन्हें भनक लग जाए कि आप उसकी मुंह में अपनी ऊंगली डालने की फिराक में हैं फिर तो वो मुंह खोलना ही नहीं चाहते और आपकी ऊंगली में दांत भी गड़ा सकते हैं ।

बच्चे को ब्रश करवाना कैसे शुरु करें

आमतौर पर 2 से 5 साल की उम्र तक बच्चे के सारे दांत आते हैं। लेकिन जब बच्चे ठोस अनाज खाने लगते हैं तब उनके दातों की सफाई को गंभीरता से लेना जरुरी हो जाता है ।

इस तरह आप 1 से डेढ़ साल की उम्र के बीच बच्चे को ब्रश करना सिखा सकती हैं । जब भी बच्चा आपको या परिवार के अन्य सदस्य को ब्रश करता देखेगा उसमें भी इसको लेकर जिज्ञासा होगी और फिर जब बच्चे को आप छोटा सा रंगीन टूथब्रश देंगी तब वो खुद ही इसे मुंह में रखने की कोशिश करने लगेगा ।

  • बच्चे के लिए नर्म ब्रश का चुनाव करें   
  • फ्लोराईड मुक्त टूथ पेस्ट का चयन करें            
  • ज़ोर से  रगड़ कर साफ करने की बजाए हल्के हाथों से ब्रश को घुमाएं
  • शुरुआत में बच्चे को रोज़ एक निश्चित स्थान पर बिठा कर ब्रश करवाएं इससे वो सुबह जगते ही ब्रशिंग के लिए खुद को रेडी कर लेगा
  • किसी भी दिन ब्रश करवाने के पहले कुछ भी ना खिलाएं इससे उसमें साफ-सफाई को लेकर  सजगता रहेगी ।
  • रात को दूध पीने के बाद भी ब्रश जरुर करवाएं इससे दातों में सड़न की समस्या नहीं होगी।
  • मिठास के कारण बच्चों को टूथपेस्ट खाना पसंद होता है लेकिन ये स्वास्थ के लिए नुकसान दायक है इसलिए ब्रश के बाद मुंह ठीक तरह धुलवाएं  ।

जैसे-जैसे बच्चा बड़ा होगा आप उसे खुद से ब्रश करना सिखा सकती हैं।