प्रेग्नेंसी गाइड: पहले से तीसरे सप्ताह तक कैसी होंगी आप और आपका बेबी

आपको हो सकता है पढ़कर थोड़ा आश्चर्य हो लेकिन पहले और दूसरे सप्ताह में आप असल प्रेग्नेंट नहीं होती हैं।सिर्फ आपका भ्रूण वहां होता है लेकिन बहुत छोटा सा बिल्कुल पिनहेड के जितना बड़ा।

कितना बड़ा होगा आपका बेबी?

आपको हो सकता है पढ़कर थोड़ा आश्चर्य हो लेकिन पहले और दूसरे सप्ताह में आप असल प्रेग्नेंट नहीं होती हैं। तीसरे सप्ताह में आप असल में प्रेग्नेंट  नहीं होते हैं। सिर्फ आपका भ्रूण वहां होता है लेकिन बहुत छोटा सा बिल्कुल पिनहेड के जितना बड़ा।

week by week pregnancy guide

  •  पहले 1-2 सप्ताह में आप प्रेग्नेंट नहीं होती बल्कि आपका शरीर ऑव्युलेशन के लिए खुद को तैयार करता है और गर्भाशय अंडाणु के लिए तैयार करता है।
  • तीसरे सप्ताह में असल में प्रेग्नेंसी की शुरूआत होती है। आपके नेषिचित अंडाणु गर्भ की ओर बढ़ने लगते हैं।
  • धीरे धीरे अंडाणु 100 से भी अधिक कोशिकाओं का भ्रूण बन जाता है और इस तरह आपका भ्रूण बनकर तैयार हो जाता है।
  • एक बार आपके गर्भ में भ्रूण आ जाता तो इसे इंप्लैनटेशन कहते हैं।

 
week by week pregnancy guide

प्रेग्नेंसी के लक्षण

  • 1-2 सप्ताह के बाद से आप ऑफिशयली प्रेग्नेंट कहलाती हैं। आपका आखिरी पीरियड्स भी उसी दौरान शुरू होता है। आपके गर्भाशय की लाइन पिछले महीने की अनिषेचित अंडाणु के साथ नष्ट हो जाते हैं और प्रेग्नेंसी की शुरूआत होती है।
  • एक बार जब पीरियड खत्म हो जाता है तो आप गौर करेंगी सर्वाइकल श्लेम भी गाढ़ा, पतला और क्रीमी सा होता है।
  • तीसरे सप्ताह के अंत तक जब आपका भ्रूण गर्भ लाइनिंग में इम्प्लांट हो जाता है तो आप बहुत हल्का सा रक्तस्त्राव भी महसूस करेंगी जिसे इम्प्लांटेशन रक्तस्त्राव भी कहते हैं।
  • आप अपने स्तन में भी थोड़ा सूजन महसूस कर सकती हैं। हो सकता है आप हमेशा के मुकाबले अधिक भारीपन महसूस करें।
  • हमेशा के मुकाबले अधिक थकावट होना।
  • आपके सूंघने की क्षमता अचानक बढ़ जाती है – आप आश्चर्यचकित ना हो अगर आपके पसंदीदा परफ्यूम का सुगंध अच्छा ना लगने लगे।
  • आपके शरीर के तापमान ये हमेशा के मुकाबले ज्यादा रहेगा।
  • कई संवेदनशील प्रेग्नेंसी टेस्ट हो सकता है पॉजिटिव रिजल्ट दिखाए।

प्रेग्नेंसी केयर

  • अगर आपने गर्भधारण करते ही विटामिन लेना शुरू नहीं किया है तो ये सही समय है जब आपको इसकी शुरूआत कर देनी चाहिए।
  • बिल्कुल हेल्दी आहार लें और प्रतिदिन 6-8 ग्लास पानी पिएं। धूम्रपान और शराब की आदत भी छोड़ देना बेहद जरूरी है।
  • अपने बेबी के स्वस्थ्य मस्तिष्क और मेरुदंड के रिए रोज 400 माइक्रोग्राम फॉलिक एसिड लें।
  • आपको कॉफी और कैफिन का सेवन कम कर देनी चाहिए क्योंकि इसका नाकारत्मक असर भी पड़ता है।

आपकी जांच सूची

  • जितनी जल्दी हो सके चिकनपॉक्स और रूबेला टीका ले लें। अगर नहीं तो डॉक्टर आपको पहले ये टीका लेने भी बोल सकते हैं।
  • अगर आप डॉक्टर से अभी तक जांच नहीं करा पाई हैं तो जल्द से जल्द करवा लें। आप गर्भधारण करने से पहले भी डॉक्टर से मिल सकती हैं। इससे लाइफस्टाइल, अनुवांशिक और पर्यावरण संबंधी जोखिम के बारे में आप जानेंगी जिसका आपके स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है।
  • आप इसकी मदद से व्यायाम, डाइट और विटामिन भी लेना शुरू कर सकती हैं।
  • आयुर्वेदिक या एलोपैथिक कोई भी दवा लेने से  पहले डॉक्टर के बारे में अच्छे से जान लें।

 Source: theindusparent.com