प्राकृतिक तरीकों से कैसे प्रेग्नेंसी के बाद कम करें सेल्युलाइट: शहनाज़ हुसैन के बहुमूल्य टिप्स

lead image

सेल्युलाइट खत्म करने के कई तरीके होते हैं बस आपको किसी के मदद की जरूरत होती है

प्रेग्नेंसी किसी भी महिला की जिंदगी के सबसे खूबसूरत अवस्थाओं में से एक है। लेकिन प्रेग्नेंसी के साथ कई तरह की चुनौतियां और शरीर के साथ बदलाव भी लाती है।

इसमें से एक समस्या है प्रेग्नेंसी के बाद महिलाओं को सेल्युलाइट को कम करना। लेकिन एक खुशखबरी ये भी है कि कुछ घरेलू नुस्खों के माध्यम से आप अपने व्यस्त दिनचर्या के बाद भी इसे आसानी से कम कर सकती हैं।

सेल्युलाइट क्या है?

प्रेग्नेंसी के दौरान हर महिला को सेल्युलाइट की समस्या से गुजरना पड़ता है। सबसे पहले हम आपको बता दें कि फैट और सेल्युलाइट दोनों एक चीज नहीं होती है। लेकिन प्रेग्नेंसी के आखिरी तिमाही में शरीर में अधिक फैट जमा होने के कारण सेल्युलाइट की समस्या होती है।

सेल्युलाइट कोई बीमारी या विकार नहीं है लेकिन इसकी वजह से आपके फिगर में काफी अंतर नजर आ सकता है। सेल्युलाइट असल में गांठ की समस्या जैसी होती है जो ज्यादातर जांघ, हिप्स, कूल्हे, हाथ का उपरी हिस्सा में सेल्युलाइट जमा होते हैं।

प्रेग्नेंसी के दौरान सेल्युलाइट ज्यादातर पेट में होते हैं। सेल्युलाइट के लिए संतरे का छिलका शब्द का भी इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि ये जगह संतरे का छिलका जैसा दिखता है।

कारण...

सेल्युलाइट पानी जमा हो जाने के कारण अधिक होता है। सेल्युलाइट शरीर के वेस्ट रिमूवल नहीं निकल पाने के कारण भी होते हैं। दूसरे शब्दों में शरीर के टॉक्सिक और सेल्युसाइट का संबंध होता है।

पाचन शक्ति में खराबी, कब्ज, लीवर के फंक्शन में समस्या, खराब रक्त संचार, मानसिक तनाव, अधिक थकावट, इंसोमेनिया या खराब लाइफस्टाल की वजह से भी होता है।

सेल्युलाइट खत्म करने के लिए प्राकृतिक तरीके अपनाते हैं

सेल्युलाइट खत्म करने के कई तरीके होते हैं बस आपको किसी के मदद की जरूरत होती है। यहां हम आपको कुछ तरीके बता रहे हैं जिन्हें अपना सकती हैं।

 

  • मसाज

प्रेग्नेंसी में हर महिला आरामदायक मसाज चाहती हैं। अगर आप देखती हैं कि शरीर में अधिक फैट जमा हो गया है तो बेहतर होगा कि मसाज के साथ-साथ फैट शरीर के जिन हिस्सों में अधिक हों उनपर भी काम करें।

ये सलाह दी जाती है कि जहां अधिक सेल्युलाइट हो वहां पहले मांशपेसियों को रिलैक्स छोड़ दें। जितना अधिक हो सके लॉन्ग स्ट्रोकिंग मूवमेंट करें। उन अंगों पर अधिक ध्यान दें जहां अधिक सेल्युलाइट है।

  • नीम, अश्वगंधा और चंदन को बादाम के तेल में मिलाएं।इसमें साथ ही ऑलिव और तिल मिलाएं। इसे सेल्युलाइट कम करने में मदद होगी।
  • नीम त्वचा को साफ करती है और विषैले तत्वों को खत्म करती है तो वहीं अश्वगंधा त्वचा के लिए टॉनिक का काम करती है।
  • चंदन त्वचा को रिलैक्स रखने के साथ-साथ सुरक्षा भी करती है क्योंकि ये पावरफुल एंटिसेप्टिक होती। ये पूरा मिश्रण त्वचा को स्वस्थ्य रखती है।
  • कैरियल ऑयल स्थिरता लाने, स्किन टोन और मांसपेशियों के लिए फायदेमंद होता है।

 

  • स्किन ब्रशिंग

स्किन ब्रशिंग विषैले तत्वों को दूर करने में मदद करता है। चेहरा छोड़कर पूरे शरीर की ब्रशिंग की जानी चाहिए। एक सूखे तौलिया या प्राकृतिक कड़े बालों वाले ब्रश से सफाई करें। पैर से शुरू करते हुए शरीर के ऊपरी हिस्से तक जाएं।

नीचे से ऊपर की ओर जाते हुए हाथों में ब्रश का इस्तेमाल करें। फिर कंधे से होते हुए पीठ की सफाई करें। धीरे धीरे छाती और पेट पर ब्रशिंग करें। आप चाहें तो स्नान करने से पहले या मालिश करने वाले की मदद लें।

  • लाइफस्टाइल बदलें

डॉक्टर की सलाह लें और अपनी डाइट और लाइफस्टाइल में बदलाव लाएं। पौष्टिक आहार, व्यायाम, गहरी सांस ले ताकि शरीर की गंदगी बाहर निकल सके।

 

Written by

Shahnaz Husain

app info
get app banner