नैनी का खुलासा: पूरे बच्चन परिवार को रात भर जगाती थी आराध्या... सोने के लिए करती थी परेशान

उन्होंने कहा है आराध्या की आदत कुछ ऐसी थी कि पूरा परिवार रात भार जागता था।

ऐश्वर्या राय बच्चन सिर्फ भारत नहीं दुनिया का जानी मानी सेलिब्रिटी हैं। वो इतनी पॉपुलर हैं कि यूएस की टेलीविजन स्टार ओपरा विन्फ्रे भी उन्हें 'एंजलिना जोली से बड़ा पॉपुलर स्टार मानी थीं।

ऐश्वर्या राय बॉलीवुड की सबसे अमीर एक्ट्रेसेस में से एक हैं और इसमें कोई शक नहीं है वो अपनी जिंदगी में जो भी सुख-सुविधा चाहें आसानी से पा सकती हैं चाहे वो पांच साल की बेटी आराध्या के लिए नैनी ही क्यों ना हो।

और उन्होंने किया भी..

जी हांऐश्वर्या राय भले हमेशा आराध्या के साथ रहती हैं लेकिन वो एक कामकाजी मां हैं और उनकी बेटी अब स्कूल भी जाती है इसलिए जाहिर है उन्हें भी एक मदद की जरूरत है।

रात में जागती थीं आराध्या

ऐसा लगता है कि आराध्या की नैनी भारत की सबसे पॉपुलर स्टारकिड के बारे में काफी कुछ जानती हैं। उन्होंने कहा है आराध्या की आदत कुछ ऐसी थी कि पूरा परिवार रात भार जागता था।

हालांकि अब आराध्या की ये समस्या खत्म हो चुकी है लेकिन वो कुछ समय पहले तक अपने परिवार को रात में सोने नहीं देती थीं।

 

A post shared by AbhiAsh_IndoFc (@abhiash_indofc) on

एक लीडिंग एंटरटेनमेंट पोर्टल के अनुसार आराध्या की आदत इतनी बुरी थी कि इसका असर उनके स्वास्थ्य पर भी पड़ने लगा। वो रात में काफी देर तक जागती थींकभी कभी तो रात के तीन बजे तक और वो चाहती थीं कि उनका परिवार रात में उनके साथ जागा रहे।

आराध्या की फिल्मी आदत

नैनी ने ये भी बताया कि आराध्या का रात में क्या फेवरिट काम होता था और कैसे वो हमेशा यही करना चाहती थीं। उनकी नैनी ने कहा कि आराध्या काफी अच्छी और शिष्ट बच्ची हैं जो जल्दी नहीं रोती हैं। वो रात मैं म्यूजिक सुनना पसंद करती हैं और जब तक थक ना जाएं नहीं सोती हैं।


ऐश्वर्या राय ने आराध्या की सोने की रूटीन बनाने की कोशिश की और शायद इस कारण से आराध्या रात में भी जागने देती थीं। लेकिन अब आराध्या स्कूल जाती हैं और शायद अब आराध्या की ये आदत सुधर चुकी होगी।

हालांकिकई ऐसी मम्मी हैं जो अपने बच्चों के लिए सोने का रूटीन बना सकती हैं। यहां जानिए कैसे आप बच्चों के लिए बना सकती हैं सोने का रूटीन।

कैसे बनाएं बच्चों के सोने का रूटीन

एक साल से अधिक बड़े बच्चे दिन में दो-तीन घंटे के लिए अवश्य सोते हैं। उनकी लगभग 4-5 सालों तक दोपहर में या दिन में सोने की आदत बन जाती है।

  • सोने के लक्षण: अगर आपको लगे कि आपका बेबी जम्हाई ले रहा हैआखें मल रहा है या रो रहा है तो समझ लीजिए कि वो अब सोना चाह रहा है। कई बच्चे चिड़चिड़े या गुस्सा भी हो जाते हैं।
  • बेबी की सोने की आदत पहचानेंजैसे जैसे बच्चे बड़े होते हैं वो कम सोने लगते हैं और धीरे-धीरे रात में सोने की आदत डाल लेते हैं।
  • सोने का समय बढ़ाएंअगर आपका बेबी कम समय के लिए सोता है तो उसे अधिक देर के लिए सुलाने की कोशिश करें। दो-तीन घंटा समय को बढ़ाएं। इसे हर दिन करें और बेबी के सोने का समय खुद बढ़ जाएगा।

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें  

Hindi.indusparent.com द्वारा ऐसी ही और जानकारी और अपडेट्स के लिए  हमें  Facebook पर  Like करें