Coconut water के 8 awesome फाएदे

इलेक्ट्रोलाइट, पोटैशियम, विटामिन सी, प्रोटीन, सोडियम और फाइबर से भरे नारियल पानी एक गर्भवती महिला और होने वाली माँ का सबसे अच्छा दोस्त होता है . यह शरीर को ठंडक और ताजगी से भर देता है .

कई महिलाओं में सुबह सुबह नारियल का पानी पीने से पेट में जलन आदि की समस्या खत्म हो जाती है . इसमें मौजूद मिनरल बार बार बदलते ब्लड प्रेशर को भी नियमित कर्ण एमे मदद करता है . और हाँ नारियल पानी में कैलोरी बिक्लुल भी नहीं होता है, इसका मतलब ये की बच्चे और माँ दोनों के शरीर के लिए अत्यंत फएंदेमंद है नारियल पानी .

इसीलिए जरुरी है की नारियल को आप केवल किसी ख़ास अवसर पर फोड़ने वाला फल ही ना समझें , इसमें बहुत ज्यादा गुण हैं

शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढाता है

नारियल पानी का सबसे बड़ा गुण है शरीर के प्रतिरोधक क्षमता हो बढ़ा देता है . नारियल पानी में पोटैशियम , सोडियम और फाइबर जैसे गुण होते हैं जो शरीर में पानी की कमी नहीं होने देता है और शरीर को तारो ताज़ा बनाए रखता है .

dreamstime_s_44603977

इसके लावा नारियल पाने में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट, मिनरल और विटामिन शारीर में बिमारिओं से लड़ने की क्षमता को बढ़ा देता है . नारियल में मौजूद पानी बच्चे और माँ को किसी भी तरह के इन्फेक्शन या बिमारिओं से बचाता है . इससे माँ के स्वास्थ्य पर भी सकारात्मक असर पड़ता है .

संक्रमण से सुरक्षा

नारियल पानी में लोरिक एसिड की मात्रा बहुत ज्यदा होती है . इस एसिड के कारण ही बिमारिओं से लड़ने वाले फैटी एसिड का निर्माण होता है जिसका नाम है मोनोलौरिन . इसमें एंटीबैक्टीरियल और अन्टिफंगल  एंटीवायरल खूबियाँ होती है . इन खूबियों के कारण नारियल पानी गर्भावस्था में पीने के लिए बेहतरीन तरल पदार्थ है . ये शरीर में प्रतिरोधक क्षमता को  बढाता है .

मूत्राशय की नलिओं में होने वाले संक्रमण से बचाव

नारियल पानी को अपने दिनचर्या का हिस्सा बनाने से पेशाब के रास्ते में होने वाले किसी भी तरह की रुकावट कपो खत्म किया जा सकता है . इससे पेशाब करने की नालिओं में किसी भी तरह के संकर्मन से छुटकारा मिल जाता है . इसके पीछे का विज्ञान बड़ा आसान है . नारियल पानी मूत्राशय के नलियों को और ब्लैडर को साफ़ कर देता है . इसीलिए अगर आपको अपने पेशाब से जुडी कोई समस्या है तो आपको एक ग्लास नारियल पानी पीना चाहिए और अगर आपको पसंद है आप दिनभर में 5 ग्लास तक भी पी सकते हैं .

शरीर में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करना और रक्त प्रवाह को बनाए रखना

आश्चर्यजनक रूप से नारियल के पानी की खूबी केवल शरीर को तारो ताजा रखने तक ही सीमित नहीं है . रोज नारियल का पानी पीने से शरीर में शुगर की मात्रा नियंत्रण में रहती है और खून का प्रवाह भी संतुलित रहता है .

dreamstime_s_58694215

विटामिन सी, प्रोटीन, मैग्नीशियम, पोटैशियम आदि की मौजूदगी  इसे एक बेहतरीन एंटीऑक्सीडेंट बनाता है जिससे शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा बिलकुल नियमित रहती है . ये ब्लड प्रेशर को भी कण्ट्रोल करता है जिससे गर्भवती माँ में प्रीक्लाम्प्सिया होने की संभावना होती है . यहं गर्भवती महिला को हाइपरटेंशन और स्ट्रोक होने से भी बचाता है .

एक तंदरूस्त शरीर के साथ साथ शरीर में फैट की मात्रा को भी नियंत्रित करता है

क्योंकि नारियल के पानी में बिलकुल कैलोरी नहीं होती है  इसीलिए ये शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा को कम करता है . ये सेहत के लिए बहुत ही फाएदेमंद है . कई खिलाड़ी नारियल पानी पीने के बाद खेलते हैं  क्योंकि इसमें शुगर की मात्रा न के बराबर होती है . नारियल के पानी में शरीर में फैट को इकठ्ठा न होने देने के गुण होते हैं . यहाँ शरीर के फैट को एक जगह ना रख के पुरे शरीर में बाँट देता है . गर्भवती महिला को नारियल पानी पीने के लिए इसीलिए कहा जाता है ताकि शरीर में पानी की मात्रा पर नियंत्रण बनाया जा सके .

शरीर में पानी की कमी और थकावट को रोकता है

नारियल के पानी में पाए जाने वाले प्लाज्मा और इलेक्ट्रोलाइट लगभग खून में पाए जाने वाले तत्वों जैसा ही होता है .अब आप पूछेंगे की इससे फाएदा क्या होता है ? नारियल के पानी की यही खूबी इसे शरीर में होने वाली पानी की कमी को पूरा करने के लिए बेहतरीन तरल पदार्थ बनाती है जो डायरिया, कॉलरा आदि बीमारियों के कारण हो सकती है . इसीलिए उर्जा का बेहतरीन श्रोत है नारियल का पानी . अगर आप गर्भावस्था के दौरान भी काम करते रहना चाहती हैं तो जरुरी है की आप अपने साथ नारियल का पानी भरपूर मात्रा में रखें और क्जब भी थकावट महसूस हो तब इसे पियें .

dreamstime_s_34303769-1

हृदय में जलन और कब्ज का इलाज़

एक गर्भवती महिला ज्यादातर पेट से जुडी समस्याओं से पीड़ित होती है जैसे की जलन और कब्ज की समस्या . नारियल का पानी इन दोनों की समस्याओं से निजात दिला सकता है . ये पाचन शक्ति को बढाता है, और कब्ज होने से बचाता है . नारियल पानी ऐसा इसलिए कर पाटा है क्योंकि ये शरीर में पी.एच की मात्रा को नियंत्रित करता है . इससे एसिडिटी कम होती है और शरीर का मेटाबोलिज्म बढ़ता है .

भ्रूण के विकास में मदद करता है

अब तक आपको लग रहा होगा  की नारियल का पानी किसी जादू की तरह है जो हर मर्ज की दवा है . लेकिन रुकिए अभी इसमें और भी कई गुण हैं . ये आपके भ्रूण के विकास में अहम् भूमिका निभाता है . नारियल का पानी माँ को जरूरी मिनरल, और पोषक तत्व प्रदान करता है जिससे बच्चे के विकास में काफी तेजी आती है और बच्चा और माँ दोनों रोग-मुक्त रहते हैं .

dreamstime_s_44243569

 प्राकृतिक मूत्रवर्धक

नारियल पानी के बारे में कम जाना जानेवाल तथ्य ये है की ये एक प्राकृतिक मूत्रवर्धक का काम करता है . इसका मतलब ये है की नारियल पानी शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा को नियंत्रित करने का काम भी करता है  . ये एक गर्भवती महिला के बहुत ही जरुरी होता है . शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा को नियंत्रित करके पेशाब के बहाव को साधारण बनाया जा सकता है जिससे पेशाब की नाली साफ़ और स्वस्थ रहती है

इसलिए नारियल का पानी पेशाब की नाली को न सिर्फ साफ़ रखता है वल्कि समय से पहले होने वाले प्रसव की संभावनाओं को भी कम कर देता है . ये शरीर में किडनी के स्वास्थ्य का भी ख्याल रखता है  और पत्थर आदि जैसी समस्याओं से माँ और बच्चे दोनों को दूर रखता है . तो चलिए एक ग्लास नारियल के पानी से अपने दिन की शुरुवात करिए .

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें  

Hindi.indusparent.com द्वारा ऐसी ही और जानकारी और अपडेट्स के लिए  हमें  Facebook पर  Like करें