नई मॉम करीना कपूर को तैमूर के साथ घर और काम संभालने में हो रही परेशानी

lead image

नई मॉम करीना कपूर ने कहा है कि मां बनने के बाद उन्हें कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ रह है जिससे अक्सर सभी माएं गुजरती हैं।

मां बनना काफी खूबसूरत एहसास होता है और अगर आप पॉपुलर हैं तो सबकी निगाहें आप पर होती हैं। जैसा आजकल नई मॉम करीना कपूर के साथ हो रहा है।

8 महीने के बेटे तैमूर के साथ करीना कपूर फिलहाल नई मां बनने के बाद कई नई चीजें सीख रही हैं और अनुभव कर रही हैं।

36 वर्षीय करीना कपूर जल्द ही अपनी बहन करिश्मा और मां बबीता के साथ विज्ञापन में नजर आएंगी। उन्होंने शेयर किया कि काम और निजी जिंदगी को बैलेंस करना काफी मुश्किलों भरा है।

“तैमूर छोटा है इसलिए अधिक मुश्किल होती है”

अपने अंर्तद्वंद को शेयर करते हुए करीना कपूर ने कहा “मैं हमेशा से निजी और प्रोफेशनल जिंदगी के बीच सामंजस्य बैठा लेती हूं लेकिन अब ये मुश्किल है क्योंकि तैमूर काफी छोटा है और मैं बैलेंस बनाने की कोशिश कर रही हूं।“

उन्होंने कहा कि इस नए रोल में खुद को सहज रखना काफी चैलेंजिंग है। ये उनका परिवार है जिनसे हमेशा उन्हें सपोर्ट मिलता आया है। उन्होंने कहा है कि “मुझे हमेशा सैफ और पूरे परिवार का सपोर्ट मिलता आया है।“

उन्होंने साथ ही ये भी शेयर किया कि इन चुनौतियों की वजह से वो और मजबूत हो रही हैं और यही उन्हें आधुनिक महिला बनाता है।

करीना कपूर जल्द ही वीरे दी वेडिंग की शूटिंग शुरू करेंगी। उन्होंने शेयर किया कि “मैं शादीशुदा हूं और इसे लेकर गर्व महसूस करती हूं। मैं आत्मनिर्भर कामकाजी महिला हूं। मैं काम करती हूं और मेरी खुद की पहचान है।“

 

A post shared by FilmyWave ? (@filmywave) on

करीना कपूर आगे भी हमेशा काम करते रहना चाहती हैं। वो लगातार काम करना चाहती हैं क्योंकि उनका मानना है कि इससे तैमूर अपने आसपास काम कर रही पावरफुल महिलाओं को देखेगा तो काफी कुछ सिखेगा।

“तैमूर महिला शक्ति देखते हुए बड़ा हो रहा है”

वोग को दिए इंटरव्यू में करीना कपूर ने कहा कि “ तैमूर कामकाजी मां को देखते हुए बड़ा हो रहा है। मेरी बहन, उसकी मासी भी कामकाजी महिला है। वो मेरी मां, मेरी सास को देख रहा है जो खुद कामकाजी महिलाएं है। वो इस तरह के माहौल में बड़ा हो रहा है जहां वो महिलाओं की इज्जत करेगा।“

उन्होंने तैमूर की नैनी के बारे में भी कई बातें शेयर की।

 

A post shared by KK (@therealkarismakapoor) on

उन्होंने कहा कि “तैमूर के साथ हमेशा एक बहुत ही अच्छी नैनी रहती है जो खुद कामकाजी महिला है। वो कई कामकाजी महिलाओं के बीच बड़ा हो रहा है जबकि वो अभी सिर्फ सात महीने का है।“

बेबो ने ये भी कहा कि “मेरे ख्याल से नई माओं को भी प्यार की जरूरत होती है। उन्हें भी पति के सपोर्ट की जरूरत होती है।आपको काम के साथ सामंजस्य बनाना होगा। आपको हर चीज सीखना होगा।“

करीना कपूर बिल्कुल सही हैं कि कामकाजी महिलाएं अपने बच्चों के लिए सबसे बेहतरीन उदाहरण होती हैं। जानिए क्यों।

तीन तरह से कामकाजी महिलाएं अपने बच्चों की मदद करती हैं

 

  • वो रोल मॉडल होती हैं: कामकाजी महिलाएं अपने बच्चों के लिए रोल मॉडल होती हैं और वो ना सिर्फ समय प्रबंधन, मल्टी टास्किंग में माहिर होती हैं बल्कि काम और घर के बीच भी सामंजस्य स्थापित करना सिखाती हैं। कामकाजी मां होने पर बेटियों को भी करियर के महत्व का एहसास होता है और बेटों को भी अपना रोल बखुबी पता होता है।
  • वो बच्चों को आत्मनिर्भर बनाती हैं: जब बच्चे अपनी मां को काम करते और हर घर-ऑफिस की समस्याओं को सुलझाते देखते हैं तो उन्हें खुद भी खुद पर निर्भर होने के महत्व का पता चलता है। ऐसे बच्चे बड़े होकर आत्मनिर्भर बनते हैं और इसका श्रेय उनकी मां को जाता है।
  • एकेडमी के लिए प्रोत्साहन: स्टडी से पता चलता है कि कामकाजी माएं बच्चों को एकेडमी और करियर के लिए प्रोत्साहित करती हैं। वो अपने समय को अच्छे से मैनेज कर पाती हैं। उन्हें क्वालिटी एज्युकेशन की अधिक जानकारी होती है।

Written by

Deepshikha Punj

app info
get app banner