त्योहार हो या शादी..अधिक मीठा खाने के बाद डिटॉक्स के लिए अपनाए ये तरीके..रुजुता दिवेकर के टिप्स

lead image

आप इन्हें आज ही आजमाएं..

त्योहार का मौसम चल रहा है और बस अब शादियों का सीजन भी शुरू होने ही वाला है।उदाहरण के लिए अभी दीवाली बीते ज्यादा दिन नहीं हुए हैं। हम सभी ने बड़े चाव से मिठाई खाई लेकिन अब कुछ दिनों बाद आप सभी को अपने वजन की चिंता हो रही होगी।

हो सकता है आप भी इस स्थिति का शिकार हों इसलिए फिटनेट और डाइट विशेषज्ञ रुजुता दिवेकर ने कुछ ऐसे टिप्स दिए हैं जिसे आप अपने पाचन तंत्र को ठीक करने के लिए इस्तेमाल कर सकती हैं। 

फेसबुक पोस्ट में रुजुता दिवेकर ने टॉप तीन खानों के बारे में बात की जो डिटॉक्स के लिए बेस्ट हैं वो भी जब आप किसी खास मौके पर अधिक खा लेते हैं। यहां जानिए उन तीन खास खाद्य पदार्थों  के बारे में। 

1. गन्ना

अधिक खाने के बाद सूजन या पेट फूलने जैसी समस्या में सबसे महत्वपूर्ण खाद्य पदार्थ गन्ना है जो इसे कम कर देता है। 

रुजुता का कहना है कि गन्ना हमारे देश का सबसे परंपरागत डिटॉक्स है जो जॉन्डिस में भी काफी लाभदायक होता है और इसकी खासियत होती है कि ये आपको बिल्कुल फ्रेश एहसास कराता है। 

उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट में कहा कि "इसे चबाएं या इसका फ्रेश जूस निकाल लें। तुलसी पूजा जिसे दीवाली का अंत माना जाता है उसमें भी गन्ना प्रसाद के रूप में गन्ना इसलिए चढ़ाया जाता है क्योंकि ये आपको पूरी तरह डिटॉक्स करता है। इसमें ग्लाइकोलिक एसिड भरपूर मात्रा में पाई जाती है जो कॉस्मेटिक में इस्तेमाल किया जाता है ताकि आपके चेहरे पर कोलाजेन टिशू आ जाएं और इसका मतलब है मुंहासों से मुक्ति मिलना।

कैसे करें इस्तेमालइसे चबाएं या एक ग्लास बिल्कुल फ्रेश जूस पीएं। 

 

2. नारियल पानी

जब बात शरीर के इलेक्ट्रोलाइट को सही रखने की हो तो नारियल पानी इसमें जादुई असर करता है और ब्वॉटिंग भी कम होती है। 

रुजुता दिवेकर के अनुसार "नारियल पानी तुरंत इलेक्ट्रोलाइट को बैलेंस करता है और पेट की सूजन को भी कम करता है। जाहिर सी बात है कि जब आप रात में पार्टी में अधिक खा लेते हैं तो सुबह में आपको सबसे पहले रिकवरी के बारे में सेचना चाहिए। नारियल पानी में मौजूद फैटी एसिड आपका स्टेमिना बढ़ाते हैं और इसकी वजह से आप अपना वर्कआउट अगले दिन के लिए नहीं टालना चाहेंगे।

कैसे करें इस्तेमालसुबह में एक ग्लास नारियल का पानी पीएं और इसका मलाई खाना ना भूलें। 

3. गुलकंद

रुजुता के अनुसार "गुलाब की पंखुड़ियोंचीनी और कुछ जड़ी-बुटियों को मिलाकर बनाया गया गुलकंद आपको एसिडिटी से राहत दे सकता है।

उन्होंने ये भी कहा कि "अधिक खानानींद में कमी आपकी आंत की बलगम को बरबाद करने के लिए शक्तिशाली कॉम्बिनेशन है। लेकिन स्वादिष्ट गुलकंद इसे कंट्रोल करते हैं।

कैसे करें सेवनइसे दूध में मिलाएं या सीधे खाएं। इससे आपका आंत जल्दी रिकवर करेगा। इसके अलावा एक चम्मच गुड़ और घी लंच के बाद और रात के खाने के बादे खाने से ना सिर्फ आंतें साफ होती है बल्कि साइनस भी दूर होता है।