तो क्या yo-yo डाइट पर हैं रानी मुखर्जी..तस्वीर देखकर आप भी यही बोलेंगे

lead image

उन्हें देखकर तो यही लगता है कि उन्होंने वापस अपना वजह बढ़ा लिया है।

जब से रानी मुखर्जी की बेटी अदिरा का जन्म हुआ है वो काफी लो प्रोफाइल रहती हैं। लेकिन अखिरी बार जब हमने उन्हें देखा था तो साफ पता चल रहा था कि उन्होंने अपना वजन कम किया है और हम सभी इंप्रेस हो गए थे।

रानी काफी स्लिम और शेप में नजर आ रही थीं। वो काफी खूबसूरत भी लग रही थीं। उन्होंने कई नई माओं को प्रेरणा भी दी थी कि चीजों को आसानी से लेना चाहिए और पोस्ट प्रेग्नेंसी वजन को समय के साथ कम करना चाहिए ना कि हड़बड़ी दिखानी चाहिए।                     

लेकिन रानी मुखर्जी जब गौरी खान के स्टोर में पहुंची थी तो ऐसा लग रहा था कि उन्होंने वापस अपना वजन बढ़ा लिया है।

रानी मुखर्जी हालांकि शॉर्ट ड्रेस में काफी कॉन्फिडेंट लग रही थीं लेकिन उनके बढ़े वजन को आसानी से नोटिस किया जा सकता था।

कहना गलत नहीं होगा कि शायद रानी मुखर्जी yo-yo डाइट पर हैं जिसे वेट साइकल भी कहते हैं। इसमें वजन कम करना और बढ़ाना एक पैटर्न होता है जिसके अन्तर्गत वज़न घटाने और बढ़ाने की प्रक्रिया को जारी रखा जाता है। 

न्यूट्रनिस्ट अधिक डाइटिंग को गलत मानते हैं और हेल्दी डाइट के साथ व्यायाम कर वजन कम करने को अधिक हेल्दी तरीका मानते हैं।

 

Welcome Rani ... no hair , no make up ,no filters .. .... coffee with Rani #gaurikhandesigns

A post shared by Gauri Khan (@gaurikhan) on

हालांकि हम निश्चित तौर पर नहीं बता सकते हैं कि रानी मुखर्जी असल में बिंज डाइट पर जा चुकी हैं या वजन कम कर रही हैं। जिस तरह वो पहले से अधिक हेल्दी लग रही हैं उसे देखकर इतना तो कहा जा सकता है कि उन्हें अपनी फिटनेस प्रक्रिया पर नजर रखनी चाहिए।

क्या है yo-yo डाइटिंग?

यो-यो डाइटिंग वजन कम हो जाने  के बाद वापस बढ़ जाने की प्रक्रिया को कहते हैं। डाइटिंग के लिए इस शब्द का इज़ाद इसके पैटर्न की वजह से हुआ था जैसे वो ऊपर और फिर नीचे की ओर आता है।

टिपिकल केस में डाइट करने वाला अपना वजन कम करता है और फिर वापस वजन बढ़ जाता है। इसके बाद वो फिर वजन कम करने के लिए डाइट पर जाता है और ये साइकिल चलती रहती है।

क्यों yo-yo डाइट के विरुद्ध जाने की दी जाती है सलाह

जब कोई शख्स वजन कम करने के लिए बहुत ही कम खाता है और शुरूआत में मिली सफलता के बाद ऐसा करने के लिए हर कोई उत्साहित भी होता है, लेकिन शरीर अधिक कठिन प्रक्रिया को अपनाने से मना कर देता है और डाइट करने वाला शख्स का फिर से वजन बढ़ने लगता है।

इस तरह से वजन कम करने से मांशपेशी और फैट दोनों कम होते हैं। इस तरह के डाइट का असर भावनात्मक प्रतिक्रियाओं पर भी पड़ता है जैसे मूड स्विंग, कुंठाग्रस्त होना स्वभाविक है।

वजन कम करने का हेल्दी तरीका 
reducing weight and staying healthy lead 664x332 तो क्या yo yo डाइट पर हैं रानी मुखर्जी..तस्वीर देखकर आप भी यही बोलेंगे

क्रैश डाइट पर जाने की जगह वजन कम करने के प्रोग्राम को अपनाएं। वजन कम करने का सबसे बेहतरीन तरीका हेल्दी डाइट को फॉलो करना है। यहां हम आपको वजन कन करने के कुछ आसान तरीके भी बता रहे हैं।

  • हर खाना हो बेहतरीन और हेल्दी: खुद को भूखे रखने की जगह हर खाने को अर्थपूर्ण बनाएं। अपने डिनर प्लेट को देखें और जाने कि किस खाने से आपके शरीर को क्या फायदा मिलेगा। अपने दिन की शुरूआत प्रोटिन से भरपूर खाने से करें और दोपहर में फल या नट्स खाएं। प्रोसेस्ड खाने या ड्रिंक से दूर रहें।
  • दिन में एक घंटा: कम से कम पूरे दिन में एक घंटा शारीरिक व्यायाम करें और हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाएं, ब्रिस्क वॉक, सीढ़ियों का इस्तेमाल, रस्सी कूदना या ट्रेडमिल को इसमें शामिल करें। जो भी आपको वजन घटाने में मदद करता है उसे अपनाएं।
  • अस्वस्थ्य खाने को करें बाय-बाय: चीनी युक्त पेय पदार्थ, प्रोसेस्ड फुड, फ्राइड चीजों को पूरी तरह भूल जाएं। एक बार आप अच्छे और हेल्दी खाने की आदत डाल लेंगे तो आप खुद फ्रेश खाना और सब्जी खाना चाहेंगे और नुकसान पहुंचाने वाले खानों को खाने से बचेंगे।