तो इसलिए शिल्पा शेट्टी अपने बेटे को टीवी से रखती हैं दूर

तो इसलिए शिल्पा शेट्टी अपने बेटे को टीवी से रखती हैं दूर

शिल्पा शेट्टी का कहना है कि वो वियान को टीवी देखने नहीं देती क्योंकि इसका उसपर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

शिल्पा शेट्टी कितनी अच्छी मां हैं हम सभी जानते हैं और वो अपने बेटे वियान की एक्सट्रा केयर करती हैं जो अभी सिर्फ अभी 4 साल के हैं। किसी दूसरी मां की तरह शिल्पा के भी एक मां के तौर पर अपने कुछ नियम हैं जिसे वो फॉलो करती हैं और उसमें से एक है टीवी ना देखने देना।

शिल्पा शेट्टी का कहना है कि वो वियान को टीवी देखने नहीं देती क्योंकि इसका उसपर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

“मैं काफी प्रोटेक्टिव मां हूं। मैं अपने बेटे को टेलीविजन देखने नहीं देती क्योंकि ये कभी कभी काफी एग्रेसिव हो जाता है। मेरी प्लानिंग है कि मैं मेरा आने वाला शो सुपर डांसर दिखाउंगी।ये टीवी के साथ उसकी पहली मुलाकात होगी।“ शिल्पा ने ये बातें अपने शो के लॉन्चिंग के दौरान कही।

 

 

Lazy Sundays with both my babies..???? my prince Viaan-Raj and my Beagle #Princess.. #familytime #precious #happiness #familyfirst

A photo posted by Shilpa Shetty Kundra (@officialshilpashetty) on

शिल्पा शेट्टी ने यहां एक बहुत ही अच्छी बात कही। उन्होंने कहा कि टीवी का असर बच्चों के व्यवहार पर पड़ता है और उनकी बात करने के तरीकों पर भी।

विज्ञान का भी मानना है कि टीवी से बच्चों का आक्रामाक व्यवहार होता है। स्कूल एक्टिविटि, पढ़ाई से उनका मन हट जाता है।

मनोवैज्ञानिक रिर्सच के आधार पर हिंसा या एक्शन टीवी पर देखने से बच्चों पर तीन तरह से असर पड़ता है

  • बच्चे असंवेदनशील हो जाते हैं और उन्हें दूसरो की तकलीफ समझ में नहीं आती
  • बच्चे अपनी आसपास की दुनिया से ज्यादा डरे नजर आएंगे
  • बच्चों का व्यवहार दूसरों के लिए काफी आक्रामक होने लगता है

रिर्सच में ये भी माना गया है कि जो बच्चे ज्यादा टीवी देखते हैं वो हिंसा देखकर भी उनपर फर्क नहीं पड़ता बजाय उनके जो बच्चे कम टीवी देखते हैं। इसका मतलब है कि वो धीरे धीरे संवेदनहीन हो जाते हैं क्योंकि उन्हें कुछ भी गलत नजर नहीं आता है।

बच्चों को टीवी से दूर रखना मुश्किल काम होता है लेकिन यहां कुछ टिप्स पढ़कर आपकी मदद कर सकते हैं।

  • इस बात का ध्यान रखें कि आपके बच्चे क्या देखते हैं। वो कोई एक्शन या मारधाड़ वाली कार्टून ना देखें इस बात का ख्याल रखें। अगर वो ऐसा देख रहे हैं तो या तो चैनल बदल दें या फिर टीवी बंद कर दें और बच्चों को बताएं कि आप ऐसा क्यों कर रहे ।
  • सबसे बेहतरीन आइडिया है कि बच्चों के साथ बैठकर हमेशा टीवी देखें ताकि आपकी भी नजर कंटेट पर बनी रहे।
  • बच्चों के लिए टीवी देखने का समय शुरूआत से तय कर के रखें।टीवी से दूर रखना बच्चों के लिए जंक फूड से दूर रखने के समान है।
  • टीवी कभी बेडरुम में ना लगाएं जो हमारे देश की ज्यादातर फैमिली में होता है।
  • कुछ चैनल जिनके कंटेट बच्चों के लिहाज से सही नहीं होते उन्हें चाइल्ड लॉक करके रखें।
  • बच्चों को टीवी कभी खाने के दौरान ना देखने दें। इससे ओवरइटिंग की आदत पड़ेगी और बच्चे कभी खाना इंज्वॉय भी नहीं कर पाएंगे।

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें | 

Source: theindusparent

Any views or opinions expressed in this article are personal and belong solely to the author; and do not represent those of theAsianparent or its clients.