रामबाण...डिलिवरी के बाद त्वचा में लाएं कसाव... जानिए 5 प्राकृतिक तरीके

आपको प्रेग्नेंसी के बाद ढीली पड़ी त्वचा को टाइट करने के लिए कही कहीं बाहर जाने की जरुरत नहीं है। आप इसे बड़े आराम से इन सिंपल तरीकों से कर सकती हैं।

प्रेग्नेंसी अपने साथ खुशियां और अनुभव लेकर आती है फिर चाहे वो शारीरिक तौर पर या मनोवैज्ञानिक तौर पर हो। इसके अलावा आप खुद ट्रांसफॉर्मेशन भी महसूस करती हैं।

इनमें से एक बदलाव आपके पेट में भी आता है।

9 महीनों तक बहुत ही क्यूट दिखने वाला बेबी बंप जल्द ही डिलिवरी के बाद एक पाउच जैसा दिखने लगता है और ये जल्दी कम भी नहीं होता। हालांकि ये आपके शरीर पर है कि आप कैसे इससे जल्दी राहत पा सकते हैं।

यहां जाने कि डिलिवरी के बाद अपनी त्वचा में कसाव कैसे लाएं।

स्तनपान

ब्रेस्टफीडिंग के कई फायदे होते हैं और  एक फायदा ये भी है कि ये प्रेग्नेंसी के बाद आपकी त्वचा में कसाव ला सकता है।

जब आपका बेबी दूध पीता है तो इससे ऑक्सिटॉसिन रिलीज होता है और गर्भाशय में सिकुड़न आती है। इससे आपको जल्दी वजन कम करने में मदद मिलती है। इससे आपका ढीली पड़ी त्वचा भी टाइट होती है।

ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं

आपने कई बार दिन में कम से कम 10 ग्लास पानी पीने के फायदे के बारे में पढ़ा और सुना होगा। इनमें से एक फायदा ये भी है कि ये त्वचा को टाइट करता है।

पानी असल में आपके लिए दवा का काम करता है जो ना सिर्फ आपको हाइड्रेट रखता है बल्कि इसकी वजह से आप यंग और फ्रेश भी दिखते हैं। अधिक पानी पीने की वजह से आपके झुर्रियां भी देर से आती है।

नियमिय व्यायाम

इसमें कोई शक नही है कि नियमित व्यायाम से आपके शरीर में कसाव आता है और इसके साथ ही आप फिट और मजबूत रहती हैं। यही बात नई माओं पर भी लागू होती है।

डिलिवरी के बाद कम से कम 6 सप्ताह के आराम के बाद आप हल्का व्यायाम जैसे योगा, चलना, तैराकी, अगर हो पाए तो साइकलिंग भी कर सकती हैं। इससे ढीली पड़ी त्वचा में कसाव आता है। इस बात का ध्यान रखें कि आपका व्यायाम कम से कम सप्ताह में तीन बार हो।

प्रतिदिन प्रोटीन का सेवन करें

प्रोटीन का सेवन जैसे अंडा, मछली, हरी पत्तेदार सब्जियां आदि त्वचा में कोलैदन को बढ़ाते हैं जिससे त्वचा में कसाव आता है।

ये भी याद रखें कि आपकी त्वचा में कसाव आपके खाने और व्यायाम पर भी निर्भर करता है।

मसाज करें

लगभग हर महिला डिलिवरी के बाद मसाज लेती है लेकिन इसके साथ ये भी महत्वपूर्ण है कि कभी-कभी त्वचा को एक्सफोलिएट भी करें।

एक्सफोलिएट करने से खून का संचार अच्छा होता है औऱ शरीर में खून का बहाव अच्छे से होता है।