डायरेक्टर विक्रम भट्ट ने किया स्वीकार..सुष्मिता सेन के साथ एक्सट्रा मैरिटल अफेयर को लेकर है पछतावा

कई ऐसे कपल हैं जिन्हें नहीं पता होता कि टूट रही शादी को कैसे पुनर्जीवित किया जाए। इसलिए बाद में पछताने से अच्छा है कि कुछ बातें हमेशा याद रखें जो आपकी शादी को मजबूत बनाएगा।

एक्स्ट्रा-मैरिटल अफेयर का जिंदगी और परिवार पर गहरा असर पड़ सकता है, खासकर अगर परिणाम दिल टूटने वाला हो। यही डायरेक्टर विक्रम भट्ट और उनके परिवार के साथ हुआ जब उन्हें एक्ट्रेस और पूर्व विश्व सुंदरी सुष्मिता सेन से प्यार हो गया। 

हालांकि, ये रिलेशनशिप विक्रम भट्ट की जिंदगी का सबसे बड़ा पछतावा बनकर रह गया क्योंकि इस अफेयर की वजह से उनकी बचपन की दोस्त अदिति से शादी टूट गई। विक्रम भट्ट ने इस दौरान आत्महत्या की कोशिश भी की।

एक दैनिक अखबार से बात करते हुए विक्रम भट्ट ने कहा कि "ये सब सुष्मिता की वजह से नहीं हुआ था। मैंने अपनी जिंदगी के साथ जो किया था ये सब उसकी वजह से था। मुझे तलाक मिल गया था, मेरी फिल्म गुलाम रिलीज होने वाली थी। मैं तब सुष्मिता सेन का ब्वॉयफ्रेंड था, अवसाद से ग्रसित था और अपनी बेटी को पागलों की तरह याद करता था...मैंने अपनी जिंदगी खुद बरबाद कर ली थी। मुझे नहीं लगता कि एक रिश्ते की वजह से मेरी जिंदगी का नाश हुआ था। मुझे लगता है कि ये पूरा कलेक्शन है।"

अब विक्रम भट्ट को अपनी पत्नी-बच्चे को सुष्मिता सेन और अमीषा पटेल के साथ एक्स्ट्रा मेरिटल अफेयर की वजह से छोड़ देने का दुख है। हालांकि उन्होंने सीधे कहा उनका इरादा किसी से भी शादी करने का नहीं था।

उन्होंने कहा कि नहीं मैं किसी से भी शादी नहीं  करना चाहता था, ऐसा नहीं था कि किसी तरह की कड़वाहट थी बल्कि पहले भी परिस्थितिवश बहुत कुछ ऐसा हो चुका था।

 

A post shared by Sushmita Sen (@sushmitasen47) on

विक्रम भट्ट ने कहा कि चीजें पहले से बेहतर हो जाती अगर वो कमजोर नहीं पड़ते और पत्नी अदिति से जाकर बात करने की हिम्मत की होती।

विक्रम भट्ट ने कहा कि "मुझे अपनी और बेटी को दुख पहुंचाने का पछतावा है। मुझे ग्लानि होती है कि मेरी वजह से उन्हें इतना दुख हुआ। मैं हमेशा विश्वास करता हूं कि अगर आपके अंदर हिम्मत नहीं है तो आप धूर्त बन जाते हैं। मुझे अदिति को कभी बताने की हिम्मत नहीं हुई कि मैं क्या महसूस करता था। सबकुछ एक साथ हो रहा था और काफी उलझ गया था। मुझे पछतावा है कि उस समय मैं कमजोर पड़ गया। अगर मैं कमजोर नहीं पड़ता तो आज चीजें अलग होती। लेकिन जब मैं पीछे मुड़कर देखता हूं तो लगता है कि समय के साथ आगे बढ़ जाना चाहिए। हर अनुभव कुछ नया सिखाता है।"

 

A post shared by Ameesha Patel (@ameeshapatel9) on

विक्रम भट्ट ने ये निजी खुलासा अपनी नई किताब में की है जिसका नाम ए हैंडफुल ऑफ सनशाइन। भट्ट ने बाद में ये भी कहा कि उन्होंने अपनी पत्नी और बेटी से वापस मेल-मिलाप कर लिया है लेकिन वो फिर से शादी नहीं करना चाहते। विक्रम भट्ट ने कहा कि "मुझे अब शादी में विश्वास नहीं रहा, ये बेकार है और आउटडेटेड भी। ये ऐसा है जैसे घर में लालटेन हो जिसका आप इस्तेमाल नहीं करते। शादी पुरूष और महिला के बीच बैलेंस लाने के लिए किया जाता है, ताकि दोनों एक दूसरे पर निर्भर हो।"

 

Krishna's gift, my Krishna! Nand gher anand bhayo Jai kanihya lal ki! #daughter #krishnabhatt #vikrambhatt

A post shared by Vikram Bhatt (@vikrampbhatt) on

अपनी शादी को पुनर्जीवित करने के तरीके

विक्रम भट्ट अकेले ऐसे नहीं है जिनकी शादी खराब परिस्थितियों की वजह से टूट गई हो। कई ऐसे कपल हैं जिन्हें नहीं पता होता कि टूट रही शादी को कैसे पुनर्जीवित किया जाए। इसलिए बाद में पछताने से अच्छा है कि कुछ बातें हमेशा याद रखें जो आपकी शादी को मजबूत बनाएगा।

  1. माफ करना और भूलना: गलतियों को पकड़कर ना बैठें बल्कि माफ करने और भूलने के सिद्धांत को अपनाएं। इसे बोलना करने से ज्यादा आसान है, लेकिन बेहतर तरीका है कि आप चुप रहें और समय का इंतजार करें। हमेशा याद रखें कि अगर शादी को मजबूत बनाना है तो कुछ बातें इग्नोर करनी पड़ेगी।
  2. नई शुरूआत : पिछली बातों को भूल जाएं और रिलेशनशिप को बिल्कुल नए तरीके से लें। उन चीजों को करें जो आपके पार्टनर के साथ करना पसंद हो। वेकेशन पर जाएं और नई शुरूआत के बारे में प्लान करें।
  3. आशावादी बनें: नकारात्मकता चीजों को और भी बुरा बनाती है। अगर पार्टनर को लेकर पॉजिटिव दृष्टिकोण रखना शादी को और भी मजबूत बनाता है।

Source: theindusparent.com