success story : पूर्व miss world Diana Hayden 8 साल के frozen egg से माँ बनीं !

success story : पूर्व miss world Diana Hayden 8 साल के frozen egg से माँ बनीं !

पूर्व मिस यूनिवर्स डायना हेडेन हाल ही में इंडिया में एग फ्रीक्सिंग प्रोसेस की पोस्टर गर्ल बन गयी हैं । ये हैं वो सारी बातें जो आपको एग फ्रीजिंग प्रोसेस के बारे में पता होनी चाहिए ।

डायना हेडेन ने जब बेटी आर्य हेडेन को जन्म दिया, तो ये किसी मेडिकल सक्सेस स्टोरी से कम नहीं था । आर्या हेडेन, 42 वर्षीय डायना के 8 साल पहले के फ्रोज़न एग से जन्मी थीं ।

ये सक्सेस स्टोरी कई महिलाओं के लिए आइडियल साबित हो सकती हैं, जिनपर सही उम्र निकल जाने का प्रेशर बना रहता है । एक लीडिंग मीडिया डेली से बात करते हुए हेडेन ने बताया ‘एक वर्किंग वुमन को समय निकल जाने की चिंता नहीं करनी चाहिए’, वो अभी फिलहाल सांताक्रुज, मुंबई के सूर्या मदर एंड चाइल्ड हॉस्पिटल में एडमिट हैं ।

 

डायना हेडेन अपने हस्बैंड कलिन डिक और बेटी आर्य हेडेन के साथ

डायना हेडेन अपने हस्बैंड कलिन डिक और बेटी आर्य हेडेन के साथ

 

उन्होंने बताया की उन्होंने 2 कारणों से एग फ्रीज़ करने के बारे में सोचा । पहला तो अपने करियर को बनाये रखने के लिए और दुसरा प्यार करने, शादी करने और परिवार शुरू करने की तैयारी करने के लिए ।

हेडेन ने 2005 में एग फ्रिज़ किया जब वो 32 साल की थीं । इसके अलावा उन्होंने अक्टूबर 2007 और मार्च 2008 में भी करीब 16 एग्स को डॉ. नंदिता पल्शेतकर की देख-रेख में फ्रीज़ किया ।

हालांकि उन्होंने ये भी बताया की एग फ्रीजिंग उनका एक बैक अप प्लान था क्योंकि कॉलिन डिक से उनकी शादी के बाद उन्हें पता लगा की उनमे एंडोमेट्रिओसिस नाम की प्रॉब्लम है, जिस वजह से हो सकता था की वो कभी माँ नहीं बन पातीं । दोनों ने हेडेन के एग्स के क्वालिटी की जांच की और उसके बाद दोनों प्रेगनेंसी के लिए आगे बढ़ें । इसके बाद से हेडेन उन महिलाओं की कतार में शामिल हो गयी हैं जो अपने लाइफस्टाइल के कारण इस तकनीक का इस्तेमाल करना चाहतीं हैं ।

 

एग फ्रीक्सिंग प्रोसेस के बारे में और जानने के लिए आगे पढ़ें 

भारत में एग फ्रीजिंग और ट्रांसफर करने का काम कैसे किया जाता है ?

 

दिल्ली की मदर लैप आई.वी.एफ़ सेंटर में मेडिकल डायरेक्टर और आई.वी.एफ़ स्पेशलिस्ट डॉ शोभा गुप्ता ने इंडसपैरेंट से बात करते हुए इसके फायदों के बारे में बताया । ‘मान लीजिये एक कपल को आई.वी.एफ़ के जरिये एक बेबी होता है, और वो अपने एग्स को भविष्य में इस्तेमाल होने के लिए फ्रीज़ कराना चाहते हैं । जब वो अगली बार फ्रोज़न एम्ब्र्यो ट्रांसफर के लिये आएंगी तबतक उनके ओवरी और एग्स की उम्र हो चुकी होगी और उनकी फर्टिलिटी पहले से बहुत कम हो गयी होगी । लेकिन उनका फ्रोज़न एम्ब्र्यो पहले की ही तरह हेल्दी रहता है ।’

वो आगे बताती हैं की ये तरीका उन कपल के लिए बहुत अच्छा है जो नैचुरली बच्चे को जन्म देने में सक्षम नहीं हैं ।

 

dreamstime_s_5002417

इस प्रोसेस की कीमत

जहां तक कीमत की बात है एक एम्ब्रोय को फ्रीज करने के लिए 10000 से लेकर 15000 तक की लागत आती है । इसके अलावा फ्रोजन एम्ब्रोय ट्रांसफर की कीमत करीब 15000 से 20000 के बीच होती है ।

डॉ . गुप्ता बताती हैं की 40 की उम्र के बाद एग्स उतने फर्टाइल नहीं होते हैं इसीलिए तब उन्हें फ्रीज करने से भी माँ बनने की कोई गारंटी नहीं होती है । हालांकि अगर वो अपने 30 साल तक के उम्र में एग फ्रीजिंग कराती हैं तो दस साल बाद भी वो माँ बन सकती हैं ।

 

 

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें  

HindiIndusaparent.com  द्वारा ऐसी ही और जानकारी और अपडेट्स  के लिए  हमें  Facebook पर  Like करें

 

Any views or opinions expressed in this article are personal and belong solely to the author; and do not represent those of theAsianparent or its clients.

Written by

Deepshikha Punj