टीवी एक्ट्रेस संजीदा शेख पर भाभी ने लगाया घरेलू हिंसा का आरोप..जी हां..बिल्कुल सच

lead image

संजीदा शेख की भाभी ने कहा है कि “वो अक्सर मेरे पिता से पैसों की मांग करते हैं और मुझे पीटते थे। मेरे पति शराबी हैं”

 

टेलीविजन की सबसे खूबसूरत एक्ट्रेसेस में से एक संजीदा शेख जो इन दिनों स्टार प्लस के सीरियल लव का इंतजार में नजर आ रही हैं और फिलहाल कानूनी मामले में फंस गई हैं।

दरअसल संजीदा शेख की भाभी जकेराबानू जाकिर हुसैन की शादी उनके भाई अब्दुल रहीम शेख़ से हुई थी। उन्होंने संजीदा शेख़ और पूरे परिवार पर घरेलू हिंसा का केस किया है।

वो अक्सर पैसो की मांग करते थे और पीटते थे

src=https://www.theindusparent.com/wp content/uploads/2017/09/sanjeeda copy.jpg टीवी एक्ट्रेस संजीदा शेख पर भाभी ने लगाया घरेलू हिंसा का आरोप..जी हां..बिल्कुल सच

जकेराबानू ने संजीदा शेख़ और उनके परिवार पर आरोप लगाया है कि ससुराल वाले पैसों की मांग करते थे और शारीरिक प्रताड़ना भी देते थे।

एक दैनिक अखबार से बातचीत में जकेराबानू ने कहा कि ससुराल वाले मेरे पिता से पैसों की मांग करते थे और मुझे पीटते थे। मेरे पति शराबी और ड्रग्स के आदि हैं। वो मैच फिक्सिंग में भी लिप्त   हैं।

रिपोर्ट्स की माने तो जकेराबानू जब अपने पिता से फोन बात कर रही थीं तब संजीदा के साथ अनस और उनकी सास ने जकेराबानू के साथ मारपीट की।

उन्होंने ये भी कहा कि ससुराल वाले नहीं चाहते थे कि वो मुंबई में उनके साथ रहें इसलिए वो मुंबई छोड़ अपने घर अहमदाबाद आ गईं और मारपीट की वजह से दो दिनों तक अस्पताल में भी रहीं।

संजीदा ने भाभी पर झूठ बोलने का लगाया आरोप

हालांकि संजीदा शेख़ और उनके परिवार ने भी अहमदाबाद हाई कोर्ट में केस किया है। रिपोर्ट की माने तो जकेराबानू का अपना पिता से प्यार भरा संबंध नहीं था इसलिए वो अपने पति के साथ भी प्यारा रिश्ता नहीं कायम रख पाईं।

मारपीट के बारे में शेख़ परिवार के वकील का कहना है कि जिस दिन जकेराबानू अहमदाबाद गई थीं उस दिन उन्होंने अपने पति को बताया भी था कि वो अच्छा महसूस नहीं कर रही हैं।उस समय संजीदा शेख़ शूटिंग के सिलसिले में बाहर थीं। इसे जकेराबानू शारीरिक प्रताड़ना कह रही हैं।

“FIR का कोई आधार नहीं..ससुराल वालों को परेशान करना मकसद

ऐसा लगता है कि संजीदा शेख के वकील फैसला अपने हक में लेने में कामयाब रहे। संजीदा शेख के वकील ने कहा कि न्यायालय ने मेरे क्लाइंट के पक्ष में एक आदेश पारित किया है और कहा है कि जांच एजेंसी को उसके खिलाफ किसी भी तरह के दबाववादी वाले कदम नहीं लेना चाहिए। दूसरे शब्दों में, अदालत ने यह स्वीकार कर लिया कि एफआईआर आधारहीन है और मेरे क्लाइंट को परेशान करने के लिए दायर की गई है।

 

@shaikh.anas.587 happyyyyyyy bdayyyyyyyy mere bhaiiiiiiiiii❤️????????❤️❤️

A post shared by Sanjeeda Shaikh (@iamsanjeeda) on

संजीदा शेख़ के परिवार वालों के लिए ये खबर किसी झटके से कम नहीं है क्योंकि अक्सर अपने ससुराल वालों की तारीफ करते नजर आती हैं।

मैं अपने ससुराल वालों के लिए बेटी जैसी हूं

अपनी शादी के बाद दिए इंटरव्यू में संजीदा शेख़ ने कहा था कि उनके ससुराल वाले काफी उदार और खुले विचारधारा के हैं और उन्हें अपनी बेटी की तरह मानते हैं।

टीवी एक्टर आमिर अली से शादी करने के बाद संजीदा शेख़ ने कहा था कि “मुझे पता है कि लोग अक्सर कहते हैं कि शादी के बाद चीजें बदल जाती हैं क्योंकि आप दूसरे घर में शिफ्ट कर जाते हो। हालांकि मैं ससुराल वालों के लिए बहू नहीं अपनी बेटी जैसी हूं इसलिए मेरे लिए कुछ भी नहीं बदला है। यहां तक कि मैं जो चाहूं पहन सकती हूं।मैं कई सालों से अपने ससुराल वालों को जानती हूं।“

 

A post shared by Sanjeeda Shaikh (@iamsanjeeda) on

हालांकि पहला ऑर्डर एक्टर के पक्ष में आया है लेकिन देखने वाली बात ये है कि जकेराबानू और उनके परिवार वाले आपस में शांति स्थापित कर पाएंगे या नहीं।

किसी भी हाल में हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि घरेलू हिंसा एक गंभीर जुर्म है और इसे हल्के में नहीं लेना चाहिए। हर महिला को अपने अधिकारों की जानकारी होनी चाहिए।

प्रताड़ना के खिलाफ उठाएं आवाज

एक महिला जिसे ससुराल वालों द्वारा या पति द्वारा प्रताड़ित किया जाता है उन्हें भी मालूम होना चाहिए कि उनके कुछ अधिकार हैं।

  • अगर आपको प्रताड़ित किया जा रहा है तो आपके पास ससुराल में परिवार साझा करे का अधिकार है।आप कोर्ट में बोल सकती हैं कि उसी घर में आपको निजी स्थान दिया जाए।
  • आपके पास अधिकार है कि आप पुलिस और कोर्ट में प्रताड़ित किए जाने पर पति और ससुराल वालों के खिलाफ एक्शन लेने की मांग करें।
  • आपके पास अधिकार है कि आपके हक में कई ऑर्डर मिल सकते हैं जैसे बच्चों की कस्टडी, आर्थिक मदद, सुरक्षा, घर इसलिए कभी भी जरूरी कदम उठाने से पहले ना सोचें और अपनी आवाज बुलंद करें।