जानिए नवज़ात शिशु को ‘क्रेडल कैप’ से कैसे दिलाएं निज़ात...

lead image

आपने ये गौर किया ही होगा कि आपके नन्हे शिशु के सिर के अगले एवं बीच वाले भाग में सफेद या पीली परत सी जम जाती है जिसे क्रैडल कैप कहते हैं। जानिए नवज़ात शिशु को ‘क्रेडल कैप’ से कैसे दिलाएं निज़ात...छोटे बच्चे के बालों की देखभाल कैसे करें

हममें से कई मांए गर्भावस्था के दौरान हरी साग-सब्जियां और लोगों द्वारा बताए गए सभी नुस्खे बस इसलिए आज़माती हैं कि उनके शिशु के बाल काले और घने हों पर जैसे-जैसे शिशु बड़ा होने लगता है हमारा ध्यान उनके बालों के विकास और देखभाल की ओर थोड़ा कम जाता है ।

कई नवज़ात शिशुओं के बाल काफी घने और सुंदर होते भी हैं जिसके कारण उनके सर पर हाथ फेरना बड़ा ही आनंदित करता है हालांकि कई शिशुओं के सर पर जन्म के समय बिलकुल भी बाल नहीं होते और उनका मुलायम सा गोल सिर चेहरे जितना ही क्यूट दिखता है खैर, बेबी गर्ल हो या बॉय बच्चों के सुंदर बाल सभी का मन मोह लेते हैं आपको बता दें कि कई शिशुओं के गर्भ में आए बाल उनके 3-4 माह की अवस्था होने या उसके पहले झड़ सकते हैं और धीरे-धीरे नए बाल उगने लगेंगे ये एक सामान्य प्रक्रिया है ।  

जहां तक बड़े हो रहे बच्चे (2-5 साल) के बालों की अलग तरह से देखरेख का सवाल है तो ये ज़रुरी इसलिए है क्योंकि इनके मुलायम बाल प्रदूषण एवं गंदगी की चपेट में आते ही खराब होने लगते हैं ।

newborn baby 1509635 जानिए नवज़ात शिशु को ‘क्रेडल कैप’ से कैसे दिलाएं निज़ात...

बचपन में अच्छी देखभाल करने से भविष्य में आपके बच्चे स्वस्थ बालों वाले होंगे इसलिए जन्म के कुछ हफ्ते बाद से ही आपको शिशु के बालों की साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखना चाहिए ।

आपने ये गौर किया ही होगा कि आपके नन्हे शिशु के सिर के अगले एवं बीच वाले भाग में सफेद या पीली परत सी जम जाती है जिसे क्रैडल कैप कहते हैं ।ये परत वैसे तो शिशु को कोई नुकसान नहीं पहुंचाती है लेकिन आपको गंदी दिखने वाली ये जमी परत कतई पसंद नहीं होगी ।

तो चिंता की बात नहीं है,शिशु के 6-8 माह की आयु के बीच ये परत खुद ही गायब हो जाएगी या फिर आप चाहें तो कई और सुविधाजनक तरीके से शिशु के सिर की त्वचा पर जमी गंदगी को साफ कर सकती हैं ।

जानिए शिशु के क्रेडल कैप से छुटकारा पाने की विधि

दरअसल ये त्वचा के अधिक तैलीय होने के कारण होता है और एक तरह के फंगल इन्फेक्शन का रुप ले लेता है । हलांकि साफ-सफाई द्वारा इससे निज़ात पाया जा सकता है ।

स्नान करवाने से पहले शिशु के सिर में माइल्ड शैंपू से मसाज़ करें कुछ मिनटों के लिए लगा छोड़ कर फूलने दें । धोने के बाद आप देखेंगी की जमी परत के कई टुकड़े बालों के ऊपर आ गए हैं जिसे आप आसानी से कंघी करते हुए निकाल सकती हैं ।

सरसों तेल से मालिश करते हुए भी आप ऐसा कर सकती हैं । शिशु के आगे की खोपड़ी बेहद नाज़ुक और छूने पर नर्म लगती है वहां पर हल्के से कंघी करें ।

कभी भी नाखून से या घिस कर परत को निकालने का प्रयास ना करें ।

मेरे शिशु को क्रेडल कैप की समस्या थी और उसके सिर के अगले हिस्से के बाल भी उड़ रहे थे । शिशु विशेषज्ञ को दिखाने पर पता चला कि इस अवस्था में फंगल इन्फेक्शन होना सामान्य है और इसके लिए एंटी फंगल शैपू भी उपलब्ध होते हैं । हालांकि किसी तरह के कैमिकल के उपयोग के बिना भी घरेलू तरीके से इससे छुटकारा पाया जा सकता है ।

जानिए बच्चों के हेयर की बेहतर देखभाल कैसे करें

  • बहुत ही माइल्ड बेबी शैंपू का उपयोग करें
  • धूल या प्रदूषण में बालों को कवर करने के लिए हैट या कैप लगवाएं
  • खाने में पत्तेदार सब्जियां, जूस एवं जरुरी फल शामिल करवाएं
  • गीले बालों में कंघी ना करें इससे बाल टूटेंगे
  • बालों को सजाने के लिए क्लिप्स अच्छे हों जिसमें बाल उलझ कर टूटे ना ।
  • सरसों तेल या बादाम तेल से रोज़ाना हेड मसाज़ करें ताकि सिर की त्वचा स्वस्थ रहे
  • अत्यधिक शैंपू के इस्तेमाल से बाल बेजान हो सकते हैं इसलिए तेल मालिश के बाद ही बाल धोंएं ।
  • सोने के पहले तेल लगाकर हल्के रबर बैंड से हेयर टाई करें ।