जब सोनम कपूर को सुनना पड़ता था ताना “इतनी लंबी,इतनी काली..शादी कौन करेगा”

lead image

कई लोग सोच सकते हैं कि सोनम कपूर तो चांदी का चम्मच लेकर पैदा हुई हैं, लेकिन सच्चाई ये है कि वो भी बॉडी शेमिंग और ताने से नहीं बच पाईं।

जब सोनम कपूर को सुनना पड़ता था ताना “इतनी लंबी,इतनी काली..शादी कौन करेगा”
कई लोग सोच सकते हैं कि सोनम कपूर तो चांदी का चम्मच लेकर पैदा हुई हैं। उन्हें जिंदगी में हर तरह की सुख सुविधा दी गई। लेकिन सच्चाई ये है कि वो भी बॉडी शेमिंग और ताने से नहीं बच पाईं। हमलोग में से कई कॉलेज या पूरी इससे जिंदगी दो-चार होते हैं।

Buzzfeed India के लिए लिखे गए एक लेख में सोनम कपूर ने सेलिब्रिटी की खूबसूरती से जुड़ी कई मिथकों को तोड़ा। किसी भी टीनएजर की तरह सोनम कपूर को भी अपने टीनएज के दिनों में आत्मविश्वास की कमी थी। उन्हें भी अपने शरीर में कई कमियां नजर आती थी।

 

A photo posted by sonamkapoor (@sonamkapoor) on

उन्होंने लिखा कि “किसी भी दूसरी लड़कियों की तरह मैं भी कई रातें अपने कमरे के आईने के सामने ये सोचते हुए गुजारी हूं कि क्यों मेरा शरीर जैसा होना चाहिए नहीं है?मेरी कमर ऐसी क्यों है? मैं गोरी क्यो नहीं हूं? मेरी आंखों के नीचे काले घेरे क्यों हैं? अपनी उम्र के लड़कों से अधिक लंबी क्यों हूं मैं? क्या मेरे स्ट्रेच मार्क्स कभी जा पाएंगे? इसके साथ उन्होंने ये भी कहा कि उन्हें रिश्तेदारों से ताने सुनना पड़ते थे। एक बार उनके एक रिश्तेदार ने उन्हें कहा था कि “इतनी लंबी, इतनी काली शादी कौन करेगा?

सुपरस्टार बनना नहीं आसान

सोनम कपूर को करियर में ब्रेक संजय लीला भंसाली ने सांवरिया से दिया। तब भी उन्हें यही चिंता होती थी कि वो स्क्रीन पर कैसी दिखेंगी।
उन्होंने कहा कि कि “मुझे हमेशा चिंता होती थी कि अगर मुझे बैकलेस चोली पहनने बोला जाएगा और मैं फ्लैट फिगर में दिखूंगी तो कोई भी थियेटर की लाइन में लगकर मेरी फिल्म की टिकट नहीं खरीदेगा।“ उन्होंने माना कि फिट बॉडी पाने के लिए उन्होंने कई गलत तरीके अपनाए।

जिम और योगा कर पसीना जरूर बहाया लेकिन कुछ हफ्तों बाद उन्हें समझ आया कि उन्होंने खाना खाना लगभग छोड़ ही दिया है, जिसका असर उनकी बॉडी पर पड़ा।

 

Just a reminder to all my pretty ladies out there ! Be whoever you want to be & always do whatever makes you happy!

A photo posted by sonamkapoor (@sonamkapoor) on

उन्हें सुपरस्टार बनने के बाद भी खुद से नफरत थी।उन्होंने कहा कि “खुद से प्यार करने के बदले मुझे खुद से नफरत करने के नए नए कारण मिल जाते थे।“

उन्होंने लिखा कि “अपने शरीर को मैं अपना नहीं पा रही थी और मैं एक एक्ट्रेस की तरह खुद को ढालना चाह रही थी। लेकिन मुझे नफलत करने के नए नए कारण मिल जाते थे। आर्टिकल में मेरी बाहों और थाइज को लाल गोला कर दिखाया जाता था। शोभा डे ने लिखा था कि सोनम कपूर ‘सेक्स अपील में इसे काट मत देना।‘ तब मेरी कुछ फिल्में आई थी।लोग उन्हें फ्लैट चेस्टेड कहते थे और उनके सी-कप पर नेशनल टीवी शो कॉफी विद करण में भी चर्चा की गई थी।

क्या जरूरत है बदलने की

“खूबसूरती के कई नियम होते हैं जिनसे पार पाना बहुत मुश्किल होता है। अनुष्का शर्मा को अधिक पतली होने की वजह से आलोचना का शिकार होना पड़ा था, सोनाक्षी सिन्हा को बढ़े हुए वजन तो कैटरीना कैफ को फिट रहने की वजह से। जबकि ये वो हैं जो हमेशा से खूबसूरत लगी हैं।“ सोनम कपूर ने ये बातें बज़फीड में कहीं।
सोनम कपूर कहती हैं कि इसका एक हल निकाला जा सकता है जो कोई नहीं बल्कि महिलाएं ही कर सकती हैं। उन्होंने कहा कि इन दिनों उनके दोस्त नम्रता सोनी और बहन रेहा हमेशा उनके साथ रहीं और बॉडी शेमिंग से निकालने में मदद की।

उन्होंने लिखा है कि “हमारे कल्चर में सबसे बड़ी समस्या है कि महिलाओं की खूबसूरती की व्याख्या काफी कठोरता के साथ की गई है। मैं लगभग एक दशक से इंडस्ट्री में हूं और मैं बचे खुचे स्वाभिमान के साथ बड़ी मुश्किल से आई थी। लेकिन शुक्र है कि इतने दिनों में मुझे जिन औरतों का साथ मिला उन्होंने मेरा कॉन्फिडेंस बढ़ाया। अब मेरा स्वाभिमान और आत्मविश्वास काफी अच्छी स्थिति में है। “

सोनम कपूर का जबरदस्त मैसेज महिलाओं को एक दूसरे की मदद करने के लिए है कि जरूरत के समय हम एक दूसरे का सहारा बनें। इसी तरह से हम अपने समाज और इस कठोर सिस्टम को बदल सकते हैं।

उन्होंने इसे खत्म करते हुए कहा कि “सोचिए कि आपके दिन की शुरूआत अगर एक खूबसूरत कॉम्पलिमेंट के साथ हो तो कितना बेहतर होगा। सोचिए किसी को ये देना कितना आसान है।जब भी मौका मिले जरूर कीजिए।“

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें | 

Source: theindusparent