जानिए रोज़मर्रा के गैस की समस्या से बचने का सबसे सटीक व रामबाण उपचार

गैस बनना सामान्य बीमारी तो है लेकिन सही समय पर देखरेख ना करने या इसे गंभीरता से ना लेने के कारण ये आपकी सेहत के लिए घातक साबित हो सकता है ।

पेट में गैस बनना आज के समय में बेहद आम समस्या है जो सभी उम्र के महिला,पुरुष यहां तक की बच्चों में भी देखा जाता है । आरामदायक जीवनशैली और संयमित खान-पान के कारण पहले के समय में जहां लोग अधिक स्वस्थ एवं निरोग रहते थे वहीं अब की भागमभाग वाली जीवनशैली एवं असंतुलित आहार की वजह से अधिकांश लोगों को पेट या पाचन तंत्र से संबंधित कोई ना कोई समस्या लगी रहती है ।

गैस बनना सामान्य बीमारी तो है लेकिन सही समय पर देखरेख ना करने या इसे गंभीरता से ना लेने के कारण ये आपकी सेहत के लिए घातक साबित हो सकता है । गैस के कारण हो रही समस्याओं के निदान के लिए तो कई तरह के घरेलू तौर-तरीके होते हैं लेकिन गैस से बचने के लिए आयुर्वेद में रामबाण इलाज उपलब्ध हैं ।

गैस बनने के पीछे सबसे बड़ा कारण है अपच होना । जब आप ज़ल्दीबाजी में भोजन करते हैं तो उसे ठीक तरह से चबा कर नहीं खाते । कई बार तेल-मसाले वाला स्वादिष्ट खाना आप ज़रुरत से अधिक ग्रहण कर लेते हैं जिसके कारण भी कच्ची डकारें, पेट फूल जाने, सीने में जलन आदि की समस्याएं हो जाती हैं ।इसके उलट जब आप लंबे समय कर खाली पेट रहते हैं तो भी गैस की समस्या होती है ।

आपने ये भी गौर किया होगा कि खाने के तुरंत बाद दफ्तर में बैठकर लगातार काम करने के दौरान ऐसिडिटी हो जाती है । जिसके बाद बेचैनी या जी मिचलाने जैसे लक्षण देखने को मिलते हैं । कई बार छाती में ,सिर में, पेट में ,यहां तक की पीठ और कंधे में दर्द भी गैस के लक्षण हो सकते हैं । तो आईए इस लेख में हम आयुर्वेद के रामबाण नुस्खे के विषय में जानने का प्रयास करें ।

गैस की समस्या से हमेशा के लिए निजात पाना हो तो अपनाएं ये आयुर्वेदिक रामबाण उपचार  

  • गौमूत्र है गुणकारी- हिन्दू शास्त्रों में गौ मूत्र को किसी औषधि से कम नहीं माना गया है । पेट से संबंधित कई रोगों को ठीक करने का सबसे सरल उपाय है खाली पेट आधे कप गोमूत्र में थोड़ा पानी मिलाकर नियमित रुप से पीना । बस ध्यान रखने वाली बात ये है कि इस छान कर पीयें और गर्भावस्था वाली गायों के मूत्र का सेवन नहीं करना है । इसके लिए स्वस्थ और निरोग देशी गाय ठीक रहेगी ।  आयुर्वेद में गौ मूत्र का बड़ा उपयोग किया जाता है और ये कई मर्ज़ के लिए आयुर्वेद का रामबाण इलाज है ।  
  • हींग से लाभ- गर्म पानी में हींग की थोड़ी मात्रा मिला कर पीने से ऐसिडिटी से तुरंत राहत मिलती है ।
  • रोज़मर्रा की चाय को छोड़ नींबू वाली चाय पीएं गैस की समस्या से राहत मिलेगी ।

  • पानी में सोंठ के साथ कायफल डालकर ऊबालें जब काढ़ा तैयार हो जाए तो इसे छान कर पीएं ।
  • पुदीने के ताजे पत्ते का रस पीने से पेट की तकलीफों से आराम मिलता है ।
  • दालचीनी के तेल का सेवन मिश्री के साथ करने से गैस की समस्या से आराम मिलता है ।
  • अजवायन भी गैस से छुटकारा दिलाने में कारगर है सुबह-शाम अजवायन का चूर्ण खाऐं ।
  • प्याज के रस में हींग और कालानमक  डालकर पीने से पेट दर्द और गैस की समस्या से आराम मिलता है ।
  • इसके साथ आप गुड़ और मेथी के दाने को ऊबाल कर पीऐं पेट साफ होगा साथ ही गैस से राहत मिलेगी ।