गर्भावस्था में घर पर करें ये चमत्कारी आसन...बेहद आसानी से

प्रेग्नेंसी में भी व्यायाम उतना ही ज़रूरी है जितना कि आपके सामान्य दिनों में

जब एक महिला प्रेग्नेंट होती है तो उसके यह नौ महीने आम दिनों की तुलना में पूरी तरह बदल जाते हैं। पूरी दिनचर्या में काफी बदलाव आता है और अपने हर मिनट का खासा ख्याल रखना होता है।

बहुत से काम ऐसे होते हैं जो आप अगर अपनी सामान्य दिनचर्या में करती हैं और गर्भावस्था के दौरान आपको अपने अपनी पूरी दिनचर्या को बदलना पड़ता है। इस दौरान एक अच्छा खानपानअच्छी नींदसकारात्मक सोच आपको बनाए रखने की काफी ज़रूरत होती है ताकि आपके अंदर पल रही नन्ही सी जान स्वस्थ रह सके और आपकी सेहत भी अच्छी बनी रहे।

बात की जाए व्यायाम की तो व्यायाम करना हर किसी के अच्छे स्वास्थ्य के लिए काफी ज़रूरी है। लेकिन कुछ लोग सोचते हैं कि प्रेग्नेंसी में व्यायाम करना खतरनाक हो सकता है। लेकिन नहीं...ऐसा बिल्कुल नहीं है।

प्रेग्नेंसी में व्यायाम

प्रेग्नेंसी में भी व्यायाम उतना ही ज़रूरी है जितना कि आपके सामान्य दिनों में। इससे एक ओर आप भी स्फूर्तिवान बनीं रहेंगी और इसी के साथ आपका बच्चा भी तंदरुस्त रहेगा। लेकिन कुछ बातें हैं जो आपको अपने इन खास पलों में ध्यान रखनी चाहिए। 

आज हम यह आर्टिकल उन सभी होने वालीं मम्मियों के लिए लेकर आएं हैं जिन्हें नहीं पता कि प्रेग्नेंसी में कैसे और कौन कौन से व्यायाम आप कर सकती हैं। आज हम आपको गर्भावस्था में किए जाने वाले आसान और सुरक्षित व्यायामों से अवगत कराएंगे...

1. आप प्रेग्नेंट हैं और कुछ शारीरिक क्रिया करना चाहती हैं तो आपके लिए सबसे फायदेमंद है आराम से बिना किसी टेंशन के टहलना। वॉक करने से एक तो आप थकान से बचेंगी और इसी के साथ आपके शरीर में रक्त प्रवाह अच्छा रहेगा। 

2. आप अगर व्यायाम करना चाहती हैं तो दीवार के सहारे हल्के हल्के पुशअप्स लगाना काफी लाभदायक रहेगा। इसके लिए सबसे पहले आप दीवार की तरफ मुंह करके खड़ी हो जाएं फिर शरीर को थोड़ा सा दीवार की तरफ झुकाते हुए हाथों को दीवार पर रखकर धीरे धीरे दीवार को धकेलने की कोशिश करें। धकेलते हुए अपनी ठोढी दीवार से लगाने की कोशिश करेंऔर फिर वापिस उसी पॉज़िशन में लौट आएं। ऐसे ही आप पांच से 10इसे करेंलेकिन ध्यान रहे कि आप खुद को ज्यादा थकाएं ना। 

3. प्रेग्नेंसी में आप स्ट्रेचिंग भी कर सकती हैं। इससे मसपेशियां लचीली होती हैं। इसमें आप गर्दन को धीरे धीरे घुमानाकंधों को घुमाने जैसे हल्के हल्के व्यायाम कर सकती हैं। 

4. आप इस दौरान तैराकी भी कर सकती हैं। इससे आपके दिल और फेफड़ों की भी कसरत होती है। 

5. आप टेलर व्यायाम को भी अपनी लिस्ट में शामिल कर सकती हैं।  इसके लिए आप सबसे पहले दोनों पैरों को सामने की ओर फैला लें। फिर पैरों को घुटनों से मोड़ें और दोनों तलवों को आपस में मिला लें।

इसके बाद अपने दोनों हाथों से पैरों की उंगलियां पकड़ें और एड़ी को शरीर के पास लाने की कोशिश करें। शरीर को पूरी तरह सीधा रखने की कोशिश करें और सामान्य गति से सांस लेती रहें। 

दोनों पैरों के घुटनों को एक साथ ऊपर की ओर लाएं फिर नीचे की ओर लाएं। ऐसा करते हुए कोशिश करें कि पैर जमीन को टच ना करें। इसके बाद पैरों को धीरे-धीरे सीधा कर लें और कुछ देर के लिए शरीर को ढीला छोड़ दें। 

आवश्यक सलाह

आपको एक बात सतर्कता तौर पर बताते चलें कि हर गर्भवती महिला के शरीर की अपनी अपनी बनावट होती है तो आप कोशिश करें कि कोई भी व्यायाम शुरू करने से पहले एक बार अपने डॉक्टर की सलाह ले लें।