गर्भावस्था के दौरान हैं एसिडिटी से परेशान...कुछ ऐसे करें उपचार

जलन की समस्या अधिकतर गर्भवती महिला में देखने को मिलती है। हालांकि यह ज्यादा नुकसानदायक नहीं होता लेकिन इससे परेशानी तो होती ही है। प्रेग्नेंसी में जलन और एसिडिटी शरीर में होने वाले हार्मोनल परिवर्तन के चलते होती है।

गर्भावस्था में हर महिला को अनेक तरह के शारीरिक बदलावों से गुज़रना पड़ता है। कभी मूड स्विंग तो कभी मॉर्निंग सिकनेस। लेकिन कुछ महिलाओं को प्रेग्नेंसी के दौरान एसिडिटी से भी जूझते पाया गया है। यह एक ऐसी अनुभूति है जिसमें गले के निचले हिस्से से में जलन का अहसास होता है।

जलन की समस्या अधिकतर गर्भवती महिला में देखने को मिलती है। हालांकि यह ज्यादा नुकसानदायक नहीं होता लेकिन इससे परेशानी तो होती ही है। प्रेग्नेंसी में जलन और एसिडिटी शरीर में होने वाले हार्मोनल परिवर्तन के चलते होती है।

बताते चलें कि प्रेग्नेंसी में अपरा यानी प्लेसेंटा प्रोजेस्टीरोन हार्मोन बनाती है जो आपके ब्लैडर को आराम पहुंचाता है। यह हार्मोन उस वेल्व को भी शिथिल बनाता है जो फूड पाइप को पेट से अलग करता है, ताकि गैस्ट्रिक एसिड फिर से निकलकर नलिका में पहुंच जाए। इसकी वजह से जलन महसूस होती है।

वहीं इसका एक कारण और भी होता है कि गर्भावस्था में जब शिशु बढ़ रहा होता है तो कई बार आस पास के अंगों में दबाव पड़ने लगता है। इसकी वजह से भी आपको एसिडिटी होती है।

Couleur / Pixabay

अगर आपके साथ भी ऐसा होता है तो हम आपको इससे आराम पाने के टिप्स बताएंगे…

  • अगर आपने मसालेदार और तैलिय खाना नहीं छोड़ा है तो आप फौरन इससे दूरी बना लें। ऐसे खाद्य पदार्थ एसिडिटी पैदा करते हैं। और वैसे भी गर्भावस्था में आप मसालेदार और तैलिय खाना ना ही खाएं तो ज्यादा अच्छा है।
  • इसके अलावा आप ठंडे दूध और दही का इस्तेमाल कर सकती हैं। दही और ठंडा दूध एसिडिटी का रामबाण इलाज माने जाते हैं। इसलिए आप एक ग्लास ठंडा दूध या एक कटोरी दही भी खास सकती हैं जिससे आपको राहत महसूस होगी।
  • आप ध्यान दें कि खुद को खाली पेट ना रखें। थोड़ी मात्रा में ही सही लेकिन बीच बीच में कुछ ना कुछ खाती रहें।  भोजन को अच्छी तरह चबाकर खाएं। एक भोजन से दूसरे भोजन के बीच लंबा अंतराल होने से भी एसिडिटी बनने लगती है।
  • आप अपनी प्रेग्नेंसी के दौरान तनाव न लें। इससे महिला को काफी परेशानियां  होती हैं। ज्यादा तनाव लेने से आपके पेट में सूजन आ ही जाती है क्‍योंकि आप खाने-पीने पर सही ध्‍यान नहीं दे पाते हैं। और इस वजह से आपको एसिडिटी होने लगती है।
  • प्रेग्नेंसी के समया अदरक खाने से भी जलन और एसिडिटी से राहत मिलता है| इसी के साथ ये उलटी और चक्कर से भी आराम देता है जो के अकसर एसिडिटी के कारण होता है।