क्यों तलाक के बाद भी अच्छे दोस्त हैं ऋतिक-सुजैन..राकेश रोशन ने किया खुलासा

प्रसिद्ध फिल्ममेकर राकेश रोशन ने अपनी बहू सुजैन खान के बारे में कई नई बातें शेयर की हैं।

ऋतिक रोशन और सुजैन खान अब एक्स-कपल बन चुके हैं लेकिन लोग अब भी चाहते हैं कि दोनों साथ आ जाएं।

उनके आइडियल दोस्ती और बेहद अलग को-पैरेंटिग स्टाइल कइयों के मन में आशा जगा देता है कि वो अलग तरीके से ही लेकिन हमेशा साथ रहेंगे।

दोनों ही अपने अलग होने के बाद भी कुछ भी नहीं छिपाया और दोनों साथ में अपने बच्चों को बड़ा कर रहे हैं। लेकिन ये पहली बार है जब सुजैन के पूर्व ससुर राकेश रोशल ने खुलकर अपनी बहू के बारे में बात की है।

 

Eternal sunshine of the spotless mind... so so so proud of you.. ???❤? #kaabil #sacrecoeur

A post shared by Sussanne Khan (@suzkr) on

उन्होंने सुजैन खान के बारे में खुलकर बातें की हैं।

“मेरे मन में उसके खिलाफ कुछ भी नहीं”

बॉम्बे टाइम्स को दिए इंटरव्यू में राकेश रोशन ने सुजैन खान के साथ अपने रिश्तों पर बात की और ये भी बताया कि वो सुजैन के बारे में क्या सोचते हैं।

उन्होंने शेयर किया कि “सुजैन बहुत ही अच्छी लड़ती है। मेरे मन में उसके खिलाफ कुछ भी नहीं है। उसके और ऋतिक के बीच जो भी हुआ वो उनकी किस्मत थी। आप किस्मत को नहीं बदल सकते। मुझे कहना पड़ेगा कि ऋतिक और सुजैन बतौर पैरेंट्स अपनी जिम्मेदारियों को बखूबी निभा रहे हैं। ऋहान और ऋदान हर रविवार को लंच पूरे परिवार के साथ करते हैं।”

उन्होंने ये भी कहा कि रविवार को साथ में लंच करना अब रोशन परिवार का नियम बन गया है।

 

A post shared by Sussanne Khan (@suzkr) on

“संस्कार मां बार से आते हैं”

राकेश रोशन इस बात से बहुत खुश हैं कि ऋतिक और बहू सुजैन बच्चों को पारिवारिक मूल्य सिखा रहे हैं।

“ये परिवार का नियम बन गया है। संस्कार मां बाप से आते हैं। बच्चे सबकुछ पर ध्यान देते हैं: पैरेंट्स एक दूसरे के साथ कैसे पेश आते हैं, दोनों एक दूसरे की इज्जत करते हैं या नहीं, दोनों बड़ों की इज्जत करते हैं या नहीं आदि।“

जहां तक बात उनके बेटे और बहू की है तो उन्होंने कहा है कि दोनों एक दूसरे की इज्जत करते हैं और वही उनकी दोस्ती का सबसे बड़ा कारण है।

तलाक के बाद ऋतिक-सुजैन का मंत्र

राकेश रोशन ने शेयर किया कि कैसे ऋतिक और सुजैन अभी तक अच्छे दोस्त हैं। “ऋतिक रोशन और सुजैन एक दूसरे की और परिवार की काफी इज्जत करते हैं। इसलिए ये उनके बच्चों में भी है। जैसे बड़ों के पैर छूना उन्होंने पापा से सीखा है तो सुजैन खान भी इसे बढ़ावा देती हैं। ऋतिक कभी किसी को चोट नहीं पहुंचा सकता है और इसलिए उसके आसपास का माहौल पॉजिटिव रहता है।“

 

A post shared by Hrehaan Roshan (@hrehaan_roshan) on

इस बात से हम भी सहमत हैं कि अगर कपल अलग भी हो चुका है तो एक दूसरे की इज्जत करनी चाहिए जिससे बच्चे भी इस बदलाव को स्वीकार कर पाएंगे।

ऐसे बनाएं इस तरह के माहौल

बच्चों से खुलकर करें बात: उन्हें बताएं कि आप अभी भी उनकी उतनी ही केयर करती हैं और उनका स्थान आज भी आपके लिए वही है। उन्हें अपनी बातों को रखने के लिए कहें। उनके साथ खुलकर बात करें और इस बदलाव को अपनाने में मदद भी करें।

उनकी भावनाओं के साथ सहानुभूति रखें: बच्चे पुर्नविवाह को हानि की तरह लेते हैं । वो दुबारा शादी के कॉन्सेप्ट के बारे में हो सकता है नहीं समझे या फिर उसके बारे में बात नहीं कर पाएं। आपके बच्चे क्या महसूस कर रहे हैं समझे। उन्हें सुने और उनकी चिंताओं को दूर करें।

बच्चों को एडजस्ट करने का समय दें : कुछ बच्चे नए रिश्तों में जल्दी घुलमिल जाते हैं और कुछ थोड़े संवेदनशील होते हैं।उन्हें एडजस्ट करने में समय लगता है। बच्चों को नई परिस्थिति में तुरंत ढल जाने का दवाब ना डालें। आप उनसे उम्मीद रखें कि वो विनम्रता और इज्जत के साथ पेश आएं।