क्या होता है TIFFA स्कैन और क्यों प्रेग्नेंसी में है ये जरुरी..जानिए खास बातें

TIFFA स्कैन असल में भ्रूण में किसी तरह की विसंगति के बारे में बताता जिसे अनीमोली स्कैन भी कहा जाता है।

प्रेग्नेंसी एक बहुत ही खूबसूरत सफर होता है। ये ऐसा समय होता है जब पूरा परिवार आने वाली खुशी का इंतजार करता है। लेकिन साथ ही ये ऐसा भी समय होता है जब परिवार के सदस्य बेबी से जुड़े हर जांच को लेकर काफी सीरियस रहते हैं।

प्रेग्नेंसी के दौरान कई महत्वपूर्ण टेस्ट में से एक TIFFA स्कैन भी होता है। TIFFA स्कैन असल में भ्रूण की विसंगतियों के बारे में बताता है जिसे अनीमोली स्कैन भी कहते हैं।

क्यों जरुरी है TIFFA स्कैन

TIFFA स्कैन प्रेग्नेंसी के दौरान किया जाता है। ये बहुत ही महत्वपूर्ण होता है क्योंकि इससे गर्भाशय में विकास कर रहे भ्रूण से जुड़ी हर पैदाइशी असामनताओं के बारे में पता चल सकता है।

  • ये भ्रूण के अंदर और बाह्य एनाटोमी की जांच करता है। इससे छोटे से छोटे क्रोमोजोमल विसंगती या अनुवांशिक सिन्ड्रोम के बारे में पता चलता है।
  • अगर प्रेग्नेंट महिला कम रिस्क जोन में पाई जाती है तो भी डॉक्टर इस टेस्ट की सलाह जरुर देते हैं।
  • जिनके यहां कोई स्वास्थ्य से जुड़ी पारिवारिक समस्या है या किसी दवा से इंफेक्शन हो तो उन्हें अधिक रिस्क होता है और इसलिए ये स्कैन किया जाता है।
  • हालांकि ये स्कैन हर प्रेग्नेंट महिला के लिए कहा जाता है।

 

कब किया जाता है TIFFA स्कैन?

ये ज्यादातर 18-23 सप्ताह के बीच किया जाता है और भ्रूण की पैदाइशी समस्याओं का पता अल्ट्रासाउंड से किया जाता है।

इसमें बेहद विस्तार से स्कैन किया जाता है और ताकि बारिकी से भ्रूण की जांच की जा सके। ये 3डी स्कैन या 4 डी स्कैन भी हो सकता है। इसे पूरा शुद्धता के साथ किया जाता है।  

खर्च

इस स्कैन का खर्च जगह के साथ आप कैसी सुविधाएं चुनते हो इस पर भी निर्भर करता है। हालांकि औसतन भारत में TIFFA स्कैन का खर्च 2500-3500 तक आता है।

आपको क्या करना है?

अगर रेडियोलॉजिस्ट इसे परफॉर्म कर रहे हैं और अगर वो कुछ पाते हैं तो वो आपको रिपोर्ट करेंगे और आपको डॉक्टर से मिलने भी कहेंगे।

भ्रूण मेडिसीन विशेषज्ञ बारीकी से जांच कर आपको इसके बारे में बताएंगे। अगर जरुरत पड़ी तो वो आपको काउंसलिंग के लिए बोल सकते हैं।

जरुरी बातें जो आपको पता होनी चाहिए

  • बच्चे की स्वास्थ्य की जानकारी के बारे में जो भी करना पड़े कम है क्योंकि आपके गर्भ में पल रहे बच्चे का स्वास्थ्य अच्छा होना बहुत जरुरी है। यहां हम आपको TIFFA स्कैन के बारे में कुछ जरुरी जानकारी दे रहे हैं।
  • इससे आपको पता चलेगा कि आपके बेबी का सभी अंग नॉर्मल तरीके से विकास कर रहे हैं।
  • ये भ्रूण के हलचल और विकास को बारीकी से चेक करेंगे।
  • अगर आपके बेबी में कोई जन्मदोष है तो उसके बारे में आपको पता चलेगा।
  • इससे amniotic fluid के स्तर का पता चलेगा।
  • बेबी में अगर कोई क्रोमोजोमल विसंगति है तो उसका भी पता चलेगा।
  • इससे गर्भनाल की स्थिति का भी पता चलेगा।