क्या आपके बेबी को पर्याप्त Breast Milk मिल रहा है..जानिए कैसे पता कर सकती हैं!

lead image

Theinduspaent ने डॉ गीता कोमर जो कोलंबिया एशिया हॉस्पिटल में महिला रोग विशेषज्ञ हैं उनसे पता करने की कोशिश की

हमारे देश में नई मांए काफी कुछ चीजों को लेकर काफी प्रेशर में होती हैं जैसे ब्रेस्टफीडिंग (स्तनपान), ठीक से ना सो पाना और अपने नवजात से जुड़ी कई चिंताएं।

स्तनपान कराना कभी कभी काफी टेंशन भरा कार्य हो जाता है खासकर आप भी मानेंगी कि नवजात शिशु को दूध पिलाना काफी स्ट्रगल भरा काम होता है । एक प्रश्न जो हर मां को परेशान करता है कि क्या कि पैसे पता लगाया जाए कि बेबी को पर्याप्त मात्रा में ब्रेस्टमील्क मिल रहा है या नहीं।

सही तरीका और ब्रेस्टफीडिंग का क्या पोजिशन होना चाहिए वो हर मां को परेशान करता है और ये कि उसे दूध जितना चाहिए मिल रहा है या नहीं।

जब तक कि आप ब्रेस्टपंप ना इस्तेमाल कर रही हो ये पता लगाना काफी मुश्किल है कि कितना दूध बेबी ने पिया। लेकिन फिर भी कई तरीके हैं जिससे आप पता कर सकती हैं कि बेबी ने दूध पिया या नहीं।

Theinduspaent ने डॉ गीता कोमर जो कोलंबिया एशिया हॉस्पिटल में महिला रोग विशेषज्ञ हैं उनसे पता करने की कोशिश की और उन्होंने हमारे सवालों का जवाब दिया जो अक्सर अपने बच्चे के भूख के बारे में आते रहता है।

कैसा पता लगाया जाए कि बेबी को पर्याप्त ब्रेस्टमिल्क मिल रहा है?

balanced diet

डॉ कोमर के अनुसार “सबसे सही तरीका बेबी को पर्याप्त दूध मिल रहा है कि नहीं ये पता लगाने का उसका वजन जांचते रहना है। याद रखिए कि पहले कुछ दिनों में कुछ वजन कम होना नॉर्मल है। डॉक्टर के लिए सोचने वाली तब होती है जब वजन दस प्रतिशत से अधिक कम हो। ज्यादातर बच्चों का वजन पहले 2 सप्ताह के बाद बढ़ता है और फिर हर सप्ताह 100 से 150 ग्राम बढ़ना चाहिए।“

डॉ कोमर बताती हैं कि कई लक्षण होते हैं जो बताते हैं कि आप अपने बेबी को जितनी जरुरत है उतनी दूध नहीं दे पा रही हैं। जानिए इन्हें।

  1. आपका बेबी अगर दिन भर में कम से कम 8 कपडे गीला कर रहा है या आपको कम से कम 5 बार डायपर बदलने की जरुरत पड़ती है तो ये नॉर्मल है। बेबी का टॉयलेट बहुत ही हल्का पीले रंग का होना चाहिए।
  2. अगर काफी स्ट्रॉन्ग और गहरे रंग का टॉयलेट हो तो आपके बेबी को ब्रेस्ट मिल्क की जरुरत है और डॉक्टर से जरुर दिखाना चाहिए।
  3. आपके बेबी को दिन भर में कम से कम 3 बार नॉर्मल पॉटी जरुर होना चाहिए। अगर बेबी थोड़ा बड़ा हो जाए तो ये कम हो सकता है। अगर पॉटी सॉफ्ट ना हो तो भी डॉक्टर से मिले।
  4. आपके बेबी का स्कीन और मसल्स बताता है कि उसे सही मात्रा में दूध मिल रहा है या नहीं।आप उसे हल्का सा चिकोटी काटें और स्कीन वापस अपनी अवस्था में चला जाए तो ये नॉर्मल है।
  5. अगर आपका ब्रेस्ट दूध पिलाने के बाद काफी सॉफ्ट लगे मतलब बेबी ने पर्याप्त मात्रा में दूध पिया है।

इसके अलावा भी कई लक्षण होते हैं ये जानने के कि बेबी को दूध मिल रहा है या नहीं जैसे बेबी दूध पी रहा है और उसके मुंह के किनारे से दूध गिर रहा हो। डॉ कोमर कहती हैं कि आप हो सकता है इनमें कुछ लक्षण अपने बेबी में पाएं लेकिन इसके लिए ज्यादा चिंता मत कीजिए।

अगर आपका बेबी एक्टिव है दूध पीता है तो फिर चिंता की कोई बात नहीं है क्योंकि ये पता करना थोड़ा कठिन है कि बेबी कितना दूध एक बार में पी रहा है।

डॉ कोमर ने साथ में सलाह भी दीं कि ज्यादातर सीटी हॉस्पिटल में लैक्टेटिंग कंसल्ट होते हैं आपको सही तरीके से ब्रेस्ट फीडिंग कराते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि हो सकता है आपको ब्रेस्ट फीडिंग कराने में थोड़ा सा समय लगे लेकिन इसकी शुरूआत हमेशा किसी पेडिट्रिशियन की कंसल्टेंट में करें।

डॉ कोमर का कहना है कि अगर इनसब में से कोई लक्षण खासकर यूरिन की समस्या या पॉटी की समस्या हो तो डॉक्टर से जितनी जल्दी हो सकें मिले।

  • सुस्त
  • उदास
  • धीरे धीरे रोए
  • मुंह या आंख में सूखापन
  • अगर बेबी के सर पर जो सॉफ्ट एरिया है जो ज्यादा धंसा हुआ हो
  • बुखार
  • गहरे रंग का यूरिन

इस आर्टिकल के बारे में अपने सुझाव और विचार कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करें | 

Source: theindusparent